Friday, 20 May 2022

Hindi Essay on "Hen", "मुर्गा पर निबंध", "मुर्गी पर 10 वाक्य" for Students

Hindi Essay on "Hen", "मुर्गा पर निबंध", "मुर्गी पर 10 वाक्य" for Students

Hindi Essay on "Hen", "मुर्गा पर निबंध", "मुर्गी पर 10 वाक्य" for Students
Essay on Hen in Hindi : इस लेख में मुर्गी पर हिंदी निबंध लिखा गया है। मुर्गा पर एक छोटा निबंध और मुर्गी पर 10 वाक्य भी लिखकर दिए गए हैं for Class 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7 and 8

    मुर्गी पर 10 वाक्य - 10 Lines on Hen in Hindi Language

    1. मुर्गी एक पालतू पक्षी है, जो लगभग पूरी दुनिया में पाया जाता है।
    2. दुनियाभर में मुर्गी की 100 से अधिक नस्लें पायी जाती हैं। 
    3. मुर्गी का पूरा शरीर छोटे-छोटे रंग-बिरंगे पंखों से ढका होता है।
    4. मुर्गी के दो पंख होते हैं परंतु यह पढ़ने में अधिक सहायता नहीं करते।
    5. मुर्गी के सर पर एक लाल रंग की सुन्दर कलगी होती है। 
    6. मुर्गी सर्वाहारी होती है यह अनाज, दाने और कीड़े आदि खाती है। 
    7. दुनियाभर में अंडे और मांस के लिए मुर्गीपालन किया जाता है। 
    8. मुर्गी का अंडा सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। 
    9. औसत मुर्गे का जीवनकाल लगभग 5 से 10 वर्ष का होता है। 
    10. भारत में पायी जाने वाली कड़कनाथ मुर्गे की नस्ल विश्वप्रसिद्ध है। 

    मुर्गा पर निबंध 100 शब्द For Class 1 and 2

    मुर्गा एक पक्षी है। मुर्गा लाल, काला , सफेद और भूरे रंग का होता है और उसके माथे पर लाल रंग की कलगी होती है। मुर्गा बहुत तेजी से भाग भी सकता है। मुर्गा सुबह बाँग दे कर सब को जगाता है। मुर्गे के बाँग देने के बाद ही सब लोग मानते हैं कि सवेरा हो गया है। मुर्गे को भारतीय समाज में बहुत अधिक महत्व दिया जाता है। भारतीय लोग मुर्गे पालते हैं। मुर्गी से हमें अंडा प्राप्त होता है इसलिए दुनियाभर में मुर्गी पालन किया जाता है। लोग मुर्गे को पकाकर खाना भी पसंद करते हैं। 

    मुर्गी पर निबंध 200 शब्द For Class 3 and 4

    मुर्गियां दुनिया में सबसे आम घरेलू जानवरों में से एक हैं। मुर्गी लाल, सफ़ेद, भूरे और काले रंग की होती हैं। मुर्गी के सर पर एक सुन्दर कलगी होती है। मुर्गी की कलगी छोटी और मुर्गे की बड़ी होती है। मुर्गी का पूरा शरीर छोटे-छोटे परों से से ढाका होता है। मुर्गी के दो पंख भी होते हैं परन्तु ये उसे उड़ने में ख़ास सहायता नहीं करते। मुर्गी एक बार में सिर्फ कुछ फुट ही उड़ पाती है। 

    आधुनिक मुर्गियां लाल जंगली मुर्गी (गैलस गैलस) की वंशज हैं। मुर्गियां को अक्सर गांव में देखा जा सकता है, अधिकतर ग्रामीण लोग मुर्गी पालन का व्यवसाय करते है। मुर्गियों को मुख्य रूप से उनके मांस और अंडे के लिए पाला जाता है। अंडे लोगो के द्वारा प्रोटीन की मात्रा प्राप्त करने के लिए भारी मात्रा में खाए जाते है। 

    मुर्गियां सर्वाहारी होती हैं, जो बीज, कीड़े और यहां तक ​​कि छोटी छिपकलियों को भी खाती हैं। औसत मुर्गे का जीवनकाल लगभग 5 से 10 वर्ष का होता है। मुर्गियां झुंड में रहती हैं, और मिलनसार हैं। मुर्गियां सामाजिक संगठन की एक पदानुक्रमित प्रणाली का भी पालन करती हैं। जहां मुख्य मुर्गी को खाना खाने के साथ-साथ घोंसले के शिकार के स्थानों को चुनने में प्राथमिकता मिलेगी।

    मुर्गी पर निबंध 250 शब्द For Class 5 and 6

    मुर्गियां पृथ्वी पर सबसे आम पक्षी हैं। दुनिया में 19 अरब मुर्गियां हैं। मुर्गियां को अंडे और मांस के लिए दुनियाभर में पाला जाता है। मुर्गियाँ (मादा मुर्गियाँ) अक्सर समूहों में रहती हैं और प्रत्येक मुर्गी अपने चूजों की स्वयं देखभाल करती है। मुर्गियों का आकार अन्य पक्षियों की तुलना में बड़ा होता है, मुर्गी के दो पंख होते हैं लेकिन वो लम्बी उड़ान नहीं भर सकती। 

    एक मुर्गी का जीवनकाल 5 से 10 साल तक होता हैं। मुर्गियां लगभग 70 सेमी (27.6 इंच) लंबी होती हैं और औसतन उनका वजन लगभग 2.6 किलोग्राम (5.7 पाउंड) होता है। नर को मुर्गा कहा जाता है जबकि मादा को मुर्गी कहा जाता है। मुर्गियां , पूंछ की लंबाई 30 सेमी (12 इंच) तक होती है। चिटागोंग नस्ल नस्ल सबसे ऊँची नस्ल मानी जाती है। इसे मलय चिकन के नाम से भी जाना जाता है। इस नस्ल के मुर्गे 2.5 फिट तक लंबे तथा इनका वजन 4.5 – 5 किलोग्राम तक होता है। इनकी गर्दन और पैर बाकी नस्ल की अपेक्षा लंबे होते है।

    दुनिया भर में चिकन की सैकड़ों अलग-अलग नस्लें हैं जैसे कि असेल नस्ल, कड़कनाथ नस्ल, ग्रामप्रिया नस्ल, स्वरनाथ नस्ल और कामरूप नस्ल आदि। इन सभी मुर्गियों की नस्लें विशेषताओं के आधार पर भिन्न होती हैं, जिनमें निम्नलिखित शामिल हैं: उत्पत्ति का स्थान, त्वचा का रंग, कलगी का रंग, आकार, वजन, पैर की उंगलियों की संख्या, और अंडे का रंग आदि। 

    मुर्गियां "पेकिंग ऑर्डर" का पालन करती हैं। इसका मतलब है कि कुछ मुर्गियां दूसरों पर शासन करेंगी और उनके पास सबसे पहले भोजन करने और अपनी पसंद का घोसला चुनने का अधिकार होता है।

    मुर्गा पर निबंध 300 शब्द For Class 7 and 8

    मुर्गी दुनियाभर में पाया जाने वाला एक पालतू पक्षी हैं। मुर्गी के सर पर छोटी सी कलगी होती है, जो लाल रंग की होती हैं। आज के समय में मुर्गी को लोग व्यवसाय के रूप में भी पालते हैं। अधिकतर मुर्गियों को गांव में पाला जाता है। मुर्गी के शरीर का आकार अन्य पक्षियों की तुलना में थोड़ा बड़ा होता है ।

    मुर्गे सुबह होने से पहले हल्की सी रौशनी में ही सुबह होने का एकदम सही अंदाज लगा लेते हैं और अपनी बांग से यह बताते है कि आसमान में सूरज निकलने वाला है। मुर्गियां सर्वाहारी होती हैं, यह मुख्य रूप कीड़े मकोड़ों को ही खाती हैं। मुर्गियों की आवाज मुर्गों की अपेक्षा में बहुत कम होती है। मुर्गे की आवाज से सभी लोग उठ जाते हैं। एक मुर्गी का जीवनकाल 5 से 10 साल तक का होता है। 

    प्राचीन मिस्र में, मुर्गी को "हर दिन जन्म देने वाली चिड़िया" के रूप में जाना जाता था, जिसका अर्थ है कि वे इस तथ्य को जानते थे कि मुर्गियाँ प्रति वर्ष 300 से अधिक अंडे दे सकती हैं। मुर्गियाँ आमतौर पर हर बार एक ही स्थान पर अंडे देने की कोशिश करती हैं।

    कई सारे देशों में प्राचीन काल मुर्गों के बीच कुश्ती का आयोजन किया जाता था। इस कुश्ती को देखकर लोग आनंदित होते थे। आज भी कई जगहों पर मुर्गों की कुश्ती देखने के लिए मिलती हैं। आजकल तो मुर्गियों को दौड़ में भी शामिल किया जाता है। 

    मुर्गी जब अंडे देती है तो उन अंडों पर पंख फैला कर बैठ जाती है मुर्गी के शरीर की गर्माहट के कारण अंडे 20 दिन में चूजे निकल कर बाहर आ जाते हैं। मुर्गी के शरीर की गर्माहट इतनी तेज होती है कि उससे बन जाते हैं। इसको प्राकृतिक क्रिया कहा जाता है।

    मुर्गी बहुत ही अच्छा पालतू पक्षी है, इसको पालना बहुत आसान सा होता है। इसके अलावा लोग बहुत अधिक संख्या में कम पैसे में मुर्गी पालन का व्यवसाय भी कर सकते हैं। अक्सर मुर्गियों को लोग व्यवसाय के साथ-साथ, खेलकूद, मनोरंजन के लिए भी अपने घरों में रखते हैं। बहुत से लोग तो मुर्गियों की दौड़ प्रतियोगिता का भी आयोजन करवाते हैं।

    Related Essays


    SHARE THIS

    Author:

    I am writing to express my concern over the Hindi Language. I have iven my views and thoughts about Hindi Language. Hindivyakran.com contains a large number of hindi litracy articles.

    0 comments: