Wednesday, 25 August 2021

पाइपलाइन परिवहन - Pipeline Transport in Hindi

पाइपलाइन परिवहन - Pipeline Transport in Hindi

Pipeline Transport in Hindi: यहाँ पढ़िए पाइपलाइन परिवहन किसे कहते हैं, पाइपलाइन परिवहन की परिभाषा लाभ तथा हानि तथा भारत में पाइपलाइन परिवहन का जाल।

  1. पाइपलाइन परिवहन
  2. भारत में पाइपलाइन परिवहन के जाल
  3. पाइपलाइन परिवहन के लाभ
  4. पाइपलाइन परिवहन की कमियां

पाइपलाइन परिवहन

पाइप लाइनें गैसों एवं तरल पदार्थों जैसे पेट्रोल या प्राकृतिक गैस आदि के लंबी दूरी तक परिवहन हेतु एक आधुनिक परिवहन प्रणाली है। आधुनिक समय में पाइप लाइन को विभिन्न उद्देश्यों के लिए प्रयोग किया जाता है। घरों और व्यावसायिक क्षेत्रों में पानी पाइप लाइनों के जरिए पहुँचाया जाता है। विश्व के अनेक भागों में रसोई गैस अथवा एल.पी.जी. की आपूर्ति पाइपलाइनों द्वारा की जाती है। पाइपलाइनों का प्रयोग तरलीवृफत कोयले के परिवहन वेफ लिए भी किया जाता है। 

सड़क और रेल मार्गों के मुकाबले पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस पहुँचाने का यह अच्छा, सुविधजनक और किफायती तरीका है। भारत में पाइपलाइन एक नया परिवहन है। पाइपलाइनों का प्रयोग कच्चे तेल, पेट्रोल उत्पाद, प्राकृतिक गैस को उर्वरक कारखानों व ताप विद्युत गृहों तक पहुॅचाने में किया जा रहा है। पाइपलाइन बिछाने में लागत अधिक लेकिन इसको चलाने की लागत न्यूनतम होती है। लेकिन इसमें लाने-ले जाने वाली वस्तुओं की मात्रा काफी ज्यादा होनी चाहिए। 

पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय वेफ प्रशासन के अधीन स्थापित आयल इंडिया लिमिटेड कच्चे तेल एवं प्रावृफतिक गैस के अन्वेषण, उत्पादन और परिवहन में संलग्न है। इसे 1959 में एक कंपनी के रूप में निगमित किया गया था। एशिया की पहली 1157 .मी लंबी देशपारीय पाइपलाइन असम के नहरकरिटया तेल क्षेत्र से बरौनी के तेल शोधन कारखाने तकद्ध का निर्माण आई.ओ.एल. ने किया था। इसे 1966 में और आगे कानपुर तक विस्तारित किया गया। 

भारत में पाइपलाइन परिवहन के जाल

भारत में पाइपलाइन परिवहन के तीन प्रमुख जाल हैं

  1. असम के तेल क्षेत्रों से गुवाहाटी,बरौनी व इलाहाबाद के रास्ते कानपुर (उत्तर प्रदेश) तक।
  2. गुजरात में सलाया से वीरमगॉव,मथुरा दिल्ली व सोनीपत के रास्ते पंजाब में जालंधर तक।
  3. गुजरात में हजीरा को उत्तर प्रदेश में जगदीशपुर से मिलाती है। यह मध्य प्रदेश के विजयपुर के रास्ते होकर जाती हैे।

पाइपलाइन परिवहन के लाभ

  • पाइप लाइनें ऊबड़-खाबड़ भूप्रदेशों के अतिरिक्त समुद्र तथा महासागरों के भीतर भी बिछायी जा सकती हैं।
  • यद्यपि पाइप लाइन बिछाने में लागत अधिक आती है, तथापि साधनों की अपेक्षा इनकी संचालन एवं रख-रखाव की लागत भी कम होती है।
  • पाइपलाइनों में ऊर्जा की खपत कम होती है, जिससे पर्यावरण को हानि नहीं पहुंचती।
  • पाइपलाइन परिवहन से तरल पदार्थों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर बहुत कम समय में ले जाया जा सकता है।
  • पाइपलाइन परिवहन में किसी प्रकार भी बाधा का सामना नहीं करना पड़ता
  • पाइप लाइनों के निर्माण द्वारा औद्योगिक क्षेत्र आपस में अच्छी तरह से जुड़े हुए हैं। सड़क एवं रेल यातायात में पैदा होने वाली बाधाएं पाइप लाइन परिवहन को प्रभावित नहीं कर सकतीं।

पाइपलाइन परिवहन की कमियां

  • विकासशील देशों में पाइप लाइन नेटवर्क का निर्माण करना अनावश्यक रूप से खर्चीला होता है।
  • पाइप लाइनों को एक बार बिछाने के बाद उनकी क्षमता में वृद्धि नहीं की जा सकती।
  • पाइप लाइनों को प्रायः सुरक्षा सम्बंधी खतरों का सामना करना पड़ता है।
  • पाइपलाइन के टूट जाने पर भूमि के भूमि प्रदूषित होने का खतरा बना रहता है।  
  • लीकेज की स्थिति में पाइपलाइनों की मरम्मत कर पाना काफी कठिन होता है। लीकेज का पता लगाने में भी काफी मुश्किलें सामने आती हैं।


SHARE THIS

Author:

I am writing to express my concern over the Hindi Language. I have iven my views and thoughts about Hindi Language. Hindivyakran.com contains a large number of hindi litracy articles.

0 comments: