भारत में कंप्यूटर क्रांति पर निबंध। Computer Revolution in India in Hindi

Admin
0

भारत में कंप्यूटर क्रांति पर निबंध। Computer Revolution in India in Hindi

Computer Revolution in India in Hindi
कंप्यूटर क्रांति हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण रही है जिसकी सहायता से हम अपने उद्देश्यों में सफलता प्राप्त करने की ओर अग्रसर हैं। पश्चिम और पूर्व के कुछ विकसित देशों में कंप्यूटर क्रांति अपनी पूरी ऊंचाई पर है भारत भी इस ओर तेजी से आगे बढ़ रहा है। भारत सरकार ने कंप्यूटर शिक्षा को महत्वपूर्ण स्थान प्रदान किया है और इसको भारत के आधुनिकीकरण और विकास के लिए प्रभावी यंत्र पाया है। 

भारत में पहले कंप्यूटर का निर्माण सन 1966 में टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ फंडामेंटल रिसर्च मुंबई द्वारा किया गया और उसके पश्चात भाभा एटॉमिक रिसर्च सेंटर ने इस श्रंखला में कंप्यूटर का निर्माण किया। भारत इलेक्ट्रॉनिक्स कारपोरेशन की स्थापना और उसके द्वारा व्यापारिक आधार पर कंप्यूटरों के निर्माण में भारत में कंप्यूटर क्रांति को और अधिक गति प्रदान की है। इलेक्ट्रॉनिक्स से भारत को नए और अच्छे भविष्य का निर्माण करने में मदद मिलेगी। कंप्यूटर के प्रयोग से बेरोजगारी की समस्या बढ़ेगी नहीं बल्कि इससे काफी लोगों को रोजगार प्राप्त होगा।

जन सेवाओं में कंप्यूटर क्रान्ति : अंतरराष्ट्रीय हवाई सेवाओं ने तो इसे पहले ही प्राप्त कर लिया है। रेलवे विभाग में कंप्यूटर ने पहले से ही सीटों और शयिकाओं के आरक्षण के कार्य को आसान बना दिया है। रेल और सड़क यातायात नियंत्रित करने में भी कंप्यूटर को उपयोगी पाया गया है। पुलिस और न्याय व्यवस्था के लिए कंप्यूटर के महत्व को अच्छी तरह समझ लिया जाना चाहिए। कंप्यूटर की सहायता से अपराधी का पता लगाना संभव पाया गया है। इसलिए राज्य पुलिस मुख्यालय पर लगे कंप्यूटरों का कनेक्शन नई दिल्ली में स्थित राष्ट्रीय कंप्यूटर केंद्र में किया जाएगा। कंप्यूटर का चिकित्सा के क्षेत्र में प्रयोग बड़ी महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर रहा है। भारत में ई.जी.सी. (इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम) और रक्त विश्लेषण करने के लिए कंप्यूटर का प्रयोग किया जा रहा है। होम्योपैथी ने इसका प्रयोग करना शुरू कर दिया है। सर्जरी में तो इसकी उपयोगिता और भी अधिक है।

शिक्षा में कंप्यूटर क्रान्ति : बैटरी¸ पोस्ट एंड टेलीग्राफ¸ वाणिज्य एवं उद्योग क्षेत्र में कंप्यूटर के प्रयोग से इन विभागों की कार्यप्रणाली और जीवन के अन्य क्षेत्रों में क्रांति आएगी। भारत के ही बहुत से विश्वविद्यालयों एवं विद्यालयों में कंप्यूटर की सहायता से ही शिक्षा कार्य किया जा रहा है। कंप्यूटर विज्ञान की शिक्षा दी जा रही है। भारत में बहुत सी टेक्निकल संस्थाओं ने कंप्यूटर टेक्नोलॉजी में डिप्लोमा¸ डिग्री एवं पोस्ट डिग्री कोर्स प्रारंभ कर दिए हैं और कंप्यूटर इंजीनियरिंग की एक बड़ी सेना भारत में अत्यंत उन्नत तकनीकी मानव शक्ति का महत्वपूर्ण अंग है। 

सरकारी तंत्र में कंप्यूटर : कंप्यूटर का प्रयोग पिछले लोकसभा और विधानसभा चुनावों में शासकीय दल द्वारा किया गया। चुनाव परिणामों का भरोसेमंद विश्लेषण देने में कंप्यूटर ने अच्छी भूमिका निभाई। रेडियो और टीवी ब्रॉडकास्टिंग और रिले कार्यक्रमों का भी कंप्यूटर तकनीकी सहायता से विकास किया जा रहा है। सरकार ने इलेक्ट्रॉनिक्स आयोग के अंतर्गत नई दिल्ली में एक राष्ट्रीय सूचना केंद्र की स्थापना की जिसमें बहुत से आधुनिकतम कंप्यूटर लगे हुए हैं। सभी राज्यों की राजधानियों और लगभग सभी राज्यों के सभी जनपदों में कंप्यूटर उपलब्ध हो गए हैं। 

बैंकों में कंप्यूटर क्रान्ति : बैंकों में भी कंप्यूटर का प्रयोग बड़े स्तर पर अपनाया जा रहा है। सभी राष्ट्रीयकृत बैंकों के मुख्यालयों पर कंप्यूटर फिट कर गए हैं जिससे बैंकों की 45000 से अधिक शाखाओं पर नियंत्रण रखने और उनकी देखरेख करना कंप्यूटर के द्वारा ही संभव हो सका है। भारतीय जीवन बीमा निगम ने अपने क्रियाकलापों का बड़े पैमाने पर कंप्यूटरीकरण किया है। पॉलिसीधारक को इसकी सेवाएं पहले से अधिक सक्षम एवं तीव्र गति की हो गई हैं। यातायात प्रणाली में कंप्यूटर का प्रयोग बहुत ही सुविधाजनक पाया गया है। 

अन्य क्षेत्र : संचार के क्षेत्र में कंप्यूटर टेक्नोलॉजी की उपयोगिता बहुत ही अधिक उपयोगी साबित हुई है। ग्राहक ट्रंक डायलिंग प्रणाली जो कि कंप्यूटर टेक्नोलॉजी पर आधारित है टेलीफोन के द्वारा संचार को बहुत सुविधाजनक बना दिया है। लंबी दूरी के लिए माइक्रोवेव ट्रांसमिशन वास्तव में कंप्यूटर टेक्नोलॉजी पर आधारित है¸ कंप्यूटर टाइपिंग¸ कंप्यूटर पेंटिंग तथा कंप्यूटर फोटो कॉपीइंग ने प्रिंटिंग के काम को आसान बना दिया है। इससे हाथ की पेंटिंग से कंपोजीटरों की नीरसता को समाप्त करने में सहायता मिली है। राजस्व विभाग को भूमि के रिकॉर्ड रखने में कंप्यूटर से बहुत ही सहायता मिली है। अकाउंट वर्क¸ हिसाब लगाना जोड़ घटाना करना आदि कार्य कंप्यूटर के द्वारा सही एवं रुचिकर बना दिए गए हैं। 

उपसंहार : भारत में कंप्यूटर क्रांति पूरे जोर पर है। कंप्यूटर भारत में इतनी तेजी से फैल रहा है कि 1 दिन समस्त जनसंख्या के पास अपने कंप्यूटर होंगे बिल्कुल उसी प्रकार जिस प्रकार TV  सेट लगभग सभी घरों में लगे हुए हैं। परीक्षा संस्थाओं और विश्वविद्यालय के पाठ्यक्रमों का कंप्यूटर अभिन्न अंग हो चला है। कंप्यूटर के लिए प्रेम और इसकी तकनीकी सीखने की उत्सुकता हमारे नौजवानों में जोर पकड़ रही है। प्रत्येक बड़े शहर में कंप्यूटर प्रशिक्षण केंद्र और संस्थान काफी संख्या में कार्य करने लगे हैं तथा लड़के लड़कियां बड़ी संख्या में उनकी ओर आकर्षित हो रहे हैं। हमारे नवयुवकों में तीव्र गति से बढ़ती हुई कंप्यूटर चेतना भारत में कंप्यूटर क्रांति का धोतक है किंतु हमें सचेत होना चाहिए कि कंप्यूटर अन्न नहीं उगाता और ना ही माल तैयार करने के लिए उद्योग के पैसों को ही चलाता है¸ यह नए स्कूल और कॉलेजों की स्थापना भी नहीं करता जिससे कि अधिक से अधिक लोग शिक्षित हो सके। यह अपने आप में ही निरक्षरता को कम नहीं करता किंतु यह निश्चय ही कार्यकुशलता¸ गति और सूक्ष्मता में वृद्धि करता है जिससे अधिक मात्रा में सामान और सेवाओं के उत्पादन और उनके स्तर पर गुणवत्ता सुधारने में सहायता मिली है। इस कार्य में लगे हुए कर्मचारियों में अत्यंत आवश्यक स्मार्टनेस¸ डैश तथा तत्परता करता है। उत्तम सीमा तक कंप्यूटरों का प्रयोग करने वाला कोई भी संगठन अपने ग्राहकों के लिए अधिक सम्मान¸ विश्वसनीयता एवं भरोसा पैदा करता है। जैसे जैसे भारत का औद्योगीकरण होता जा रहा है बड़े और अधिक बड़े स्तर पर कंप्यूटरीकरण का होना भी आवश्यक है। 

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !