गांव और कस्बा में क्या अंतर हैं?

Admin
0

गांव और कस्बा में क्या अंतर हैं?

Difference Between Town and Village in Hindi : इस लेख में गांव और कस्बा प्रमुख बिंदुओं के अंतर्गत अंतर बताया गया है जिससे हम जान पाएंगे की कस्बा और गांव में क्या अंतर है। 

गांव और कस्बा में अंतर (Difference Between Town and Village in Hindi)

बिंदु गांवकस्बा
आकारगाँव का आकार छोटा होता है।कस्बे का आकार प्रायः गाँव की अपेक्षा बड़ा होता है।
जनसंख्यागाँव में जनसंख्या कम होती है।कस्बे में गाँव की अपेक्षा जनसंख्या अधिक होती है।
व्यवसायगाँव में कृषि की प्रधानता होती है।कस्बे में व्यवसाय, वाणिज्य तथा उद्योगों की प्रधानता होती है। 
प्राथमिक सम्बन्धगाँव में प्राथमिक सम्बन्धों की बहुलता पायी जाती है।कस्बे में प्रायः प्राथमिक सम्बन्धों की बहुलता नहीं पायी जाती है।
सामाजिक एकरूपतासामाजिक गाँवों में सामाजिक एकरूपता स्पष्ट होती है।कस्बों में सामाजिक एकरूपता का अभाव रहता है।
गतिशीलतागाँवों में गतिशीलता का अभाव रहता है।कस्बों में गतिशीलता पायी जाती है।
जीवनगाँव का जीवन सरल एवं सादा होता है।इसके विपरीत कस्बे में  फैशनपरस्त जीवन पाया जाता है। 
परिवारगाँव में संयुक्त परिवारों की प्रधानता होती है।कस्बे में संयुक्त परिवार अपेक्षाकृत कम होते हैं।
धर्मगाँवों में धर्म, प्रथाएँ, रूढ़ियों का  महत्व अधिक होता है।कस्बों में अपेक्षाकृत इनका महत्व कम होता है।

सम्बंधित प्रश्न :

  1. कस्बा किसे कहते हैं ? इसके प्रकार एवं विशेषताओं को बताइए।
  2. भारतीय समाज पर संक्षिप्त नोट लिखें।
  3. गांव का वर्गीकरण कीजिए अथवा गांव के प्रकार बताइये।
  4. कृषक ग्राम क्या है ? कृषक ग्राम की परिभाषा बताइये।
  5. भारतीय ग्रामीण समाज की विशेषताएं लिखिये।
  6. गाँव का अर्थ, परिभाषा, प्रकार एवं विशेषताएं
  7. गांव को एक जीवन विधि क्यों कहा जाता है व्याख्या कीजिए।
  8. नगरीकरण का अर्थ, परिभाषा, विशेषताएं बताइए
  9. नगरों की अवधारणा बताइये तथा भारतीय नगरों का वर्गीकरण कीजिए।

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !