आतंकवाद पर निबंध। Terrorism Essay in Hindi

Admin
3

आतंकवाद पर निबंध। Terrorism Essay in Hindi

आतंकवाद पर निबंध। Terrorism Essay in Hindi

प्रस्तावना : आतंकवाद वर्तमान समय की एक गंभीर समस्या है। आतंकवादी वह व्यक्ति होता है जो अपना स्वार्थ पाने के लिए लोगों में भय फैलाता है। सामान्यतः दो प्रकार के आतंकवाद होते है। एक तो राजनीतिक आतंकवाद जो अपने राजनीतिक स्वार्थ की पूर्ती के लिए भय फैलाते हैं और दूसरा आपराधिक आतंकवाद जो अपहरण करके रूपए मांगते हैं। 

राजनीतिक आतंकवाद : राजनीतिक आतंकवाद बहुत खतरनाक है। राजनीतिक आतंकी सुसंगठित और प्रशिक्षित होते हैं। यह पुलिस के लिए भी कठिन होता है की इनको समय से गिरफ्तार कर पाए। राजनीतिक आतंकवादी बड़े पैमाने पर हिंसा कर सकते हैं। इनका उद्देश्य जनता और सरकार को भयभीत करना होता है। वे हवाईजहाजों को बंधक बनाते हैं, डकैती करते हैं, बैंक लूटते हैं। वे मासूम लोगों की ह्त्या करते हैं। भय फैलाने के लिए वे बेम विस्फोट करते है और अफवाहें फैलाते हैं। 

आतंकी और आतंकवाद : सामान्यतः आतंकी युवा होते हैं और उनके पीछे जिनका समर्थन होता है वे वृद्ध होते हैं। वे आतंकी क्रियाकलापों को संगठित करते हैं। आतंकी उग्रवादी होते हैं जो अपना कार्य महान उत्साह के साथ करते हैं लेकिन वे लोगों को गलत सलाह देते हैं जो कभी-कभी यह नहीं समझ पाते हैं की वे वास्तव में क्या कर रहे हैं। कभी-कभी विदेशी एजेंसियां देश के भीतर भय फैलाने के लिए आतंकियों की सहायता करती हैं। ऐसे मामलों में, आतंकियों को जटिल हथियारों से प्रशिक्षण दिया जाता है। विदेशी एजेंसियां उन्हें हथियार और धन भी देती हैं। 

भारत और आतंकवाद : भारत लम्बे समय से आतंकवाद का सामना कर रहा है। नागा विद्रोहियों की समस्या भारत में चिंता का विषय है। देश में नक्सल आंदोलन भी चल रहा है। वर्तमान में आतंकवाद पंजाब और अन्य स्थानों तक फ़ैल चुका है।  कुछ बड़ी शक्तियां और पड़ोसी देश हमारे देश में अव्यवस्था फैलाने की कोशिश में लगे रहते हैं। यदि हमारा देश दो भागों में विभक्त हो गया तो वे बहुत प्रसन्न होंगे। कुछ समस्याएँ जम्मू-कश्मीर की हैं जिन्हे शांतिपूर्ण तरीके से हल किया जा सकता है। लेकिन दुर्भाग्यवश हत्याएं जारी हैं। हमें आशा है की राजनीतिक शक्तियां इस समस्या का समाधान निकालेंगी। 

शान्ति के लिए खतरा : फिलिस्तीन की समस्या अभी तक हल नहीं हुई है और यह आतंकवाद और हिंसा को बढ़ा रही है। इंग्लैण्ड में आइरिश आतंकी देश की शान्ति को भांग करने में लगे हैं। संयुक्त राज्य अमेरिका और लैटिन अमेरिकी देशों में आतंकवाद एक बड़ी समस्या है। पाकिस्तान और श्रीलंका भी हिंसा की चपेट में हैं। आतंकवाद अंतर्राष्ट्रीय सहयोग से हल किया जा सकता है। संसार के देशों को अन्य देशों के विरुद्ध आतंकी क्रियाकलापों की अनुमति नहीं देनी चाहिए। आतंकियों का कोई धर्म नहीं होता और मणनवीय मूल्यों में कोई विश्वास भी नहीं होता है। यूं. एन. ओ. ने इस समस्या को हल करने की अनुमति दे दी है। हमें आशा है की भारत और सम्पूर्ण विश्व शीघ्र ही इस भयावह स्वप्न से बाहर आ पाने में सफल होंगे। 

प्रमुख आतंकवादी घटना : 11 सितम्बर 2001 को वर्ल्ड ट्रेड सेंटर जो की अमेरिका के न्यूयॉर्क में स्थित है पर बंधक हवाई जहाजों द्वारा हमला किया गया। इसमें लगभग 7000 लोगों की मृत्यु हुई। वर्तमान में सीरिया और उसके आस-पास के क्षेत्र भी आतंकवाद से ग्रसित हैं। इन इलाकों में गृहयुद्ध जैसी स्थिति व्याप्त है। बमों और मिसाइलों के हमलों में हजारों की संख्या में निर्दोष और मासूम लोग मारे जा रहे हैं। भारज के मुंबई शहर में ताज होटल में हुए आतंकी हमले में भी कई लोग मारे गए। इसके अलावा रोज कहीं न कहीं छोटे-बड़े आतंकी हमले होते ही रहते हैं। आतंकवाद में आज सम्पूर्ण विश्व को युद्ध की कगार पर लाकर खड़ा कर दिया है। 

उपसंहार : आतंकवाद का जिस ढंग से विस्तार हो रहा है यदि उसको समय रहते नहीं रोका गया तो भारत सहित सभी देशों के लिए यह एक विकत समस्या बन जाएगा। दुनिया की सभी देशों को मिलकर ऐसी आपराधिक प्रवृत्ति पर रोक लगाने के प्रयास करने चाहिए। लेकिन दुःख इस बात का है की दुनिया के बड़े देश इस समस्या से मुकाबला करने में भी अपने हितों पर अधिक ध्यान देते हैं। 

Post a Comment

3Comments
Post a Comment

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !