Wednesday, 11 May 2022

इंटरनेट पर निबंध - Essay on Internet in Hindi for Class 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 and 12

इंटरनेट पर निबंध - Essay on Internet in Hindi for Class 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 and 12

इंटरनेट पर निबंध - Essay on Internet in Hindi for Class 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 and 12

    इंटरनेट पर निबंध 100 शब्द

    इंटरनेट एक वैश्विक प्रणाली है जो दुनिया भर के कंप्यूटरों को जोड़ती है। इंटरनेट आधुनिक विज्ञान का अद्भुत आविष्कार है। इंटरनेट को हिंदी में अंतर्जाल कहते हैं। इंटरनेट की सहायता से पल भर में दुनिया के किसी भी कोने से जानकारी हासिल की जा सकती है। इसीलिए इंटरनेट को नेटवर्कों का नेटवर्क कहते है। इसके माध्यम से हम लोग आसानी से किसी एक जगह रखे कम्प्यूटर को किसी भी एक या एक से अधिक कम्प्यूटर से जोड़कर जानकारी का आदान प्रदान कर सकते है। इंटरनेट की मदद से हम कुछ ही सेकेंडों में बड़ा या छोटा संदेश, अथवा किसी प्रकार की जानकारी किसी भी कम्प्यूटर या डिजीटल डिवाइस(यंत्र) जैसे टैबलेट, मोबाईल, पीसी पर भेज सकते है। ये जानकारीयों का बड़ा संग्रह है जिसमें लाखों वेबसाइट है जैसे-घरेलू, व्यापारिक, शैक्षिक, सरकारी आदि। 

    इंटरनेट पर निबंध 150 शब्द

    इंटरनेट एक ऐसा शब्द है जिससे हम सभी भलीभांति परिचित हैं। इंटरनेट एक ऐसा विशाल नेटवर्क है जो दुनिया भर के कंप्यूटरों को जोड़ता है। इंटरनेट के माध्यम से लोग कहीं से भी जानकारी को साझा कर सकते हैं। इंटरनेट चलने की लिए बस एक इंटरनेट का कनेक्शन और एक कंप्यूटर, मोबाइल या लैपटॉप की आवश्यकता होती है। 

    इंटरनेट सूचना और संचार प्रोद्यौगिकी का महत्वपूर्ण साधन है। इंटरनेट का हिंदी नाम अंतरजाल है। आधुनिक दुनिया से सभी महत्वपूर्ण उपकरण इंटरनेट से जुड़े होते हैं जैसे मोबाइल, टैबलेट, स्मार्टवॉच और स्मार्टबोर्ड आदि।इंटरनेट एक ऐसी अत्याधुनिक प्रधोगिकी जिसके द्वारा घर बैठे सभी प्रकार की घटनाओं को अपने कंप्यूटर मोबाइल आदि डिजिटल गैजेट पर प्राप्त कर सकते हैं।

    भारत में इंटरनेट की शुरुआत 1986 में हुई थी और यह केवल शैक्षिक और अनुसंधान उद्देश्य के लिए उपलब्ध था। इंटरनेट तक आम जनता की पहुंच 15 अगस्त 1995 को शुरू हुई, और 2020 तक 718.74 मिलियन सक्रिय इंटरनेट उपयोगकर्ता हैं, जिसमें 54.29% आबादी शामिल है। 

    इंटरनेट पर निबंध 200 शब्द 

    इंटरनेट दो शब्दों Inter और Net से मिलकर बना है। इंटरनेट का शाब्दिक अर्थ है अंतर्जाल। इंटरनेट वर्तमान युग में हमारे जीवन का एक अभिन्न अंग बन गया है। इंटरनेट के बिना आधुनिक जीवन असंभव सा लगता है। इंटरनेट के अविष्कार के पश्चात दुनिया अत्यंत ही छोटी हो गई है। क्योंकि इंटरनेट के माध्यम से हम विभिन्न प्रकार की सूचनाएं, जानकारी आदि को अपने कंप्यूटर या मोबाइल पर तुरंत प्राप्त कर सकते हैं। इंटरनेट के माध्यम से आज हर एक क्षेत्र में क्रांति उत्पन्न हो गई है तथा तीव्र विकास संभव हुआ है। 

    विद्यार्थियों के लिए इंटरनेट एक वरदान है। वे घर बैठे ही किसी भी विषय की अध्ययन सामग्री हासिल कर सकते हैं। अब तो पढाई भी ऑनलाइन हो गयी है इसलिए इंटरनेट का महत्व और भी अधिक बढ़ गया है। आजकल सभी काम इंटरनेट की मदद से ही होते हैं जैसे बिजली का बिल जमा करना, रिचार्ज करना, शॉपिंग करना, पैसों का लेनदेन करना, शेयर मार्किट में निवेश करना आदि। 

    एक बार इंटरनेट में जो जानकारी संचित कर दी जाती है, उसे कभी भी और कहीं से भी प्राप्त किया जा सकता है।इंटरनेट के माध्यम से हम घर बैठे पत्र-पत्रिकाएँ, पढ़ सकते हैं व मौसम का पूर्वानुमान लगा सकते हैं। चाहे शिक्षा की बात हो या विज्ञान की या फिर किसी भी अनुसंधान की हर क्षेत्र में इंटरनेट की का ही बोलबाला है। अतः कहा जा सकता है की इंटरनेट ने वास्तव में दुनिया को बदलकर रख दिया है। 

    इंटरनेट पर निबंध 250 शब्द

    आधुनिक दुनिया में इंटरनेट संचार का एक सशक्त माध्यम बनकर उभरा है। इंटरनेट एक ऐसा नेटवर्क है जो दुनिया भर के सभी कंप्यूटर और मोबाइल फ़ोन को एक दूसरे से जोड़ता है। इंटरनेट हमें  ई-मेल भेजने , सर्च इंजन पर कुछ सर्च करने, विडियो देखने, सोशल मीडिया वेबसाइटों का उपयोग करने, अपने परिजनों से जुड़ने, नए मित्र बनाने, वेबसाइट खोलने, चैटिंग और कई अन्य सुविधाएं प्रदान करता है। गूगल, एमेजॉन, फेसबुक, नेटफ्लिक्स, पेटीएम जैसी सैकड़ों कंपनियों का पूरा कारोबार ही इंटरनेट पर खड़ा है।

    इंटरनेट इस्तेमाल करने के मामले में भारत दुनिया में दूसरे नंबर का देश है। इंटरनेट की दु​निया में जितनी क्रांति भारत में हुई है, उतनी शायद ही किसी और देश में हुई। अब भारत में इंटरनेट यूजर्स की संख्या 70 करोड़ से अधिक हो चुकी है। पिछले 10 सालों में ही यह कारनामा हुआ है। एक सर्वे के अनुसार भारत इंटरनेट की औसत स्पीड 6 mb प्रति सेकंड है। हालांकि यह स्पीड सभी राज्यों और सभी जगहों के लिए सामान्य नहीं है। कुछ जगहों पर आज भी इंटरनेट की स्पीड बहुत ही धीमी है। 

    इंटरनेट का उपयोग हम ब्राउज़र के माध्यम से करते हैं। गूगल क्रोम, मोज़ीला, ओपेरा और इंटरनेट एक्स्प्लोरर दुनिया के सबसे प्रसिद्द इंटरनेट ब्राउज़र हैं।  इंटरनेट के द्वारा बहुत से लोगों को रोजगार भी प्राप्त हुआ है। कंप्यूटर सेंटर या साइबर कैफे खोलकर लोग अपने परिवार का पालन पोषण भी कर रहे हैं। हालाँकि इंटरनेट ज्ञान का भंडार है परन्तु इंटरनेट के कुछ नुकसान भी हैं। इसलिए इंटरनेट का उपयोग बड़ी सावधानी से करना चाहिए। 

    इंटरनेट पर निबंध 300 शब्द

    इंटरनेट असीम संभावनाओं का भंडार है। इंटरनेट के माध्यम से हम कोई भी सूचना, चित्र, वीडियो आदि दुनिया के एक छोर से दूसरे छोर तक पल भर में भेज सकते हैं। इंटरनेट के माध्यम से हम ई-मेल भेज सकते हैं और प्राप्त भी कर सकते हैं। 

    इंटरनेट शिक्षा का साधन : आज हम इंटरनेट के माध्यम से घर बैठे ही पढ़ाई कर सकते हैं। इंटरनेट से किसी भी विषय की अध्ययन सामग्री प्राप्त की जा सकती है। वास्तव में इंटरनेट घर बैठे ऑनलाइन शिक्षा प्राप्त करने का महत्वपूर्ण साधन है। कोरोना के समय हमने इंटरनेट के महत्त्व को नज़दीक से देखा है।

    इंटरनेट शॉपिंग करने का माध्यम : इंटरनेट से घर बैठे शोपिंग भी की जा सकती है। भारत में भी ऑनलाइन शॉपिंग का प्रचलन तेज़ी से बढ़ रहा है। लोग घर बैठे ही ऑनलाइन शॉपिंग कर रहे हैं और अपना मनचाहा सामान प्राप्त कर रहे हैं। अमेज़ॉन, फ्लिपकार्ट, स्नैपडील और मीशो भारत के प्रमुख ऑनलाइन बाजार के रूप में उभरे हैं। 

    इंटरनेट मनोरंजन का साधन : मनोरंजन भी आज के समय में इंटरनेट का प्रमुख कार्य है। इंटरनेट से हम गाने सुन सकते हैं, फिल्में देख सकते हैं और गेम्स भी खेल सकते हैं।

    इंटरनेट बैंकिंग का साधन : इंटरनेट के विकास से बैंकिंग करना अब सुविधाजनक हो गया है। इंटरनेट बैंकिंग के कारण अब हमें बैंक में लम्बी लाइन में नहीं लगना पड़ता जिससे समय की बचत होती है।

    जिस गति से इंटरनेट के यूज़र्स बढे हैं, युवा लोगों के द्वारा बहुत से गलत कार्यो में भी इंटरनेट का इस्तेमाल किया जा रहा है। बहुत से माता पिता को इस बात को लेकर अपने बच्चो की चिंता रहती है। लेकिन कुछ बच्चे पढ़ाई के लिए भी इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं। जो ज्ञान हमें किसी बड़ी लाइब्रेरी की मोटी-मोटी किताबों या लाखो रुपए खर्च करने पर मिलता था अब वह इंटरनेट पर फ्री में मिल जाता है। इसलिए इंटरनेट का उपयोग हमें अच्छे कार्यों में करना चाहिए। 

    इंटरनेट पर निबंध 500 शब्द

    इंटरनेट से आशय उस विश्वव्यापी नेटवर्क से है जिससे दुनिया के सभी कंप्यूटर और मोबाइल आपस में जुड़े हैं। इंटरनेट की शुरुआत 1990 में अमेरिका में हुई थी तब से लेकर अब तक इंटरनेट ने बहुत तरक्की कर ली है।इंटरनेट चलाने के लिए हमें “इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर” कंपनी कि जरुरत होती है। कंप्यूटर और मोबाइल में उपलब्ध वेब ब्राउज़र कि मदद से हम इंटरनेट से कनेक्ट हो सकते है और दुनिया के किसी भी कोने में स्थित व्यक्ति से सूचना का आदान-प्रदान कर सकते है। इंटरनेट पर जो हम खोजते और देखते है, उसे सर्फिंग कहते है।इंटरनेट के माध्यम से एक-दुसरे को सन्देश, फोटो, ऑडियो, विडियो आदि भेजे जा सकते है। 

    भारत में 70 करोड़ इंटरनेट उपभोक्ता है। इंटरनेट ने मानव जीवन को सुलभ बना दिया है। पहले जिस काम को करने में दिन और महीने लग जाते थे आज वह सिर्फ कुछ सेकंड में हो सकता है। वर्तमान में इंटरनेट इंसान की मूलभूत आवश्यकताओं में से एक हो गया है। इंटरनेट के जरिए हम अपने छोटे बड़े सभी कार्य से मोबाइल रिचार्ज, डीटीएच रिचार्ज, बिजली के बिल, टेलीफोन के बिल आदि सभी घर बैठे ही भर सकते हैं। अगर इंटरनेट न हो तो विश्व अर्थव्यवस्था ठप्प हो जाएगी। 

    इंटरनेट की मदद से हम एक स्थान से दुसरे स्थान डाटा पहुंचा सकते हैं और आवश्यक डेटा को पासवर्ड का उपयोग करके सुरक्षित भी रख सकते हैं। इंटरनेट हमें अपने दोस्तों, माता-पिता, शिक्षकों रिश्तेदारों को तुरंत मेसेज भेजने वाली एप्लीकेशन को चलाने की सुविधा देता है। कभी कभी इंटरनेट से हमारे कंप्यूटर को नुकसान भी पहुंच सकता है क्योंकि कई बार वेबसाइटों से सीधे कुछ भी डाउनलोड करने से हमारे कंप्यूटर में खतरनाक वायरस, एडवेयर, मैलवेयर, स्पाइवेयर या अन्य खतरनाक प्रोग्राम आ जाते हैं जो कंप्यूटर के डाटा को नुकसान पहुंचाते हैं। कई बार हैकर्स हमारा कंप्यूटर इंटरनेट की मदद से हमारा हैक करके हमारी जानकारी चुरा लेते हैं या बैंक अकाउंट को हैक करके पैसे उड़ा लेते हैं।

    इंटरनेट की जरूरत छात्रों को सबसे ज्यादा होती है लेकिन यह उनके लिए भी एक बड़ी चिंता का विषय है क्योंकि वे अपने माता-पिता से छिपकर कुछ ऐसी गंदी वेबसाइट का उपयोग करने लगते हैं जो उनके पूरे जीवन और करियर के लिए अच्छी नहीं होती। बहुत से माता पिता को इस बात को लेकर अपने बच्चो की चिंता रहती है। लेकिन कुछ बच्चे पढ़ाई के लिए भी इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं। छोटे बच्चों को अपने माता-पिता के उचित मार्गदर्शन में इंटरनेट का इस्तेमाल करना चाहिए।

    जो लोग इंटरनेट को अपने काम के लिए और जानकारी लेने के लिए प्रयोग करते हैं उनके लिए तो इंटरनेट बहुत लाभदायक होता है परन्तु जो लोग बिना किसी मतलब इसे अपनी आदत बना लेते हैं उनके लिए यह समय की बर्बादी के अलावा और कुछ नहीं। आजकल इंटरनेट का इस्तेमाल युवा लोगों के द्वारा बहुत से गलत कार्यो में किया जा रहा है। दंगे फसाद में लोगों को भड़काना, किसी की निजी जानकारी सोशल मीडिया पर लीक कर देना, गन्दी आदते अपना लेना आदि। युवाओं को एक निश्चित मात्रा में ही इंटरनेट का इस्तेमाल करना चाहिए। इंटरनेट का सही इस्तेमाल युवाओं को बेहतर बनने में सहायक हो सकता है। 

    इंटरनेट पर निबंध 700 शब्द

    प्रस्तावना

    इंटरनेट विज्ञानं की एक क्रन्तिकारी देन है। “इंटरनेट का सही इस्तेमाल वरदान और गलत इस्तेमाल अभिशाप साबित हो सकता है।”। इंटरनेट के सही इस्तेमाल से लाखो लोगों ने जीवन में नई ऊचाईयों को छुआ है। व्यापार, शिक्षा, ट्रेवल, मनोरंजन आदि सभी क्षेत्रो में इंटरनेट ने नए आयाम स्थापित किये है। इंटरनेट एक वैश्विक नेटवर्क है जो पूरी दुनिया के कम्प्यूटरों को एक साथ जोड़ता है। जिसमें हम राउटर और सर्वर की सहायता से बहुत से कंप्यूटरों को आपस में जोड़ सकते हैं।  इंटरनेट से हम बिजली का बिल, ऑनलाइन रिचार्ज, गैस सिलिंडर बुकिंग आदि भी कर सकते हैं।

    इंटरनेट क्या है

    इंटरनेट एक ऐसा नेटवर्क है जिसके द्वारा हम “इंटरनेट प्रोटोकॉल” का इस्तेमाल करके दुनिया के सभी कंप्यूटर और मोबाइल को आपस में कनेक्ट कर सकते है और एक दुसरे के साथ इनफार्मेशन शेयर कर सकते है। ये सभी डिवाइस एक दुसरे के साथ वायर, सेटेलाइट, फाइबर केबल आदि के द्वारा कनेक्ट रहते है इंटरनेट का कोई मालिक नही है और ना ही इसे कोई बंद और चालू कर सकता है। इंटरनेट के द्वारा कुछ भी सर्च करने के लिए वेब ब्राउज़र की जरुरत होती है।

    वेब ब्राउज़र क्या होता है?

    वेब ब्राउज़र इंटरनेट पर मौजूद वेब साइट और वेब पेज को एक्सेस का करने का एक तरीका है। गूगल क्रोम, मोज़िला फायर फोक्स, सफारी, इंटरनेट एक्सप्लोरर आदि प्रकार के वेब ब्राउज़र मौजूद है, लेकिन सबका काम एक जैसा है। किसी भी वेब साइट और वेब पेज को एक्सेस करने के लिए URL की जरुरत होती है।

    URL और WWW क्या है

    यूआरएल का फुल फॉर्म “यूनिवर्सल रिसोर्स लोकेटर” होता है साधारण भाषा में कहें तो यह “इंटरनेट एड्रेस” होता है। यूआरएल का उदाहरण

    प्रत्येक URL http: या https: (Secure Hypertext Transfer Protocol) से शुरु होता है। उसके बाद www के साथ वेबसाइट का नाम hindivisitor.com (जिस पर आप अभी यह निबंध पढ़ रहे है) होता है। WWW का फुल फॉर्म World Wide Web होता है जो कि एक इनफार्मेशन सिस्टम होता है जहाँ से इंटरनेट के द्वारा हम वेब पेज को एक्सेस कर सकते है। इंटरनेट से वेब पेज को एक्सेस करने के लिए HTML की जरुरत होती है।

    HTML क्या है

    HTML का फुल फॉर्म “हाइपर टेक्स्ट ट्रान्सफर प्रोटोकॉल” होता है। यह एक प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के द्वारा आप वेबब्राउज़र और कंप्यूटर को किसी भी वेब पेज को एक्सेस करने के लिए निर्देश दे सकते है। HTML टैग के द्वारा आप वेब पेज की हैडलाइन, टेबल और पेज का लेआउट भी बना सकते है।

    इंटरनेट के उपयोग/लाभ

    इंटरनेट ने प्रत्येक क्षेत्र में नए आयाम स्थापित किये है। शिक्षा, बैंक, मनोरंजन आदि के क्षेत्र में इंटरनेट ने क्रांति ला दी है। आज आप घर बैठे बैंक से संबंधित कोई भी काम जैसे बिजली का बिल जमा करना, रुपए ट्रांसफर करना आदि चंद मिनटो में कर सकते है विदेश में पढ़ा रहे टीचर की ऑनलाइन क्लास ज्वाइन कर सकते है और मनोरंजन के लिए सोशल मीडिया जैसे फेसबुक, यूट्यूब, इन्स्टाग्राम जैसे वेबसाइट पर फ्री में अकाउंट बना सकते है।

    पिछले कुछ वर्षो में ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट ने बहुत तरक्की की है। आप घर बैठे ही अपना मन-पसंद सामान मंगवा सकते है। इसके अलावा इंटरनेट का इस्तेमाल स्कूल और कॉलेज में प्रैक्टिकल करवाने, रेल और एयरोप्लेन की टिकट बुक करने, रेस्टोरेंट और मॉल में बिल का भुगतान करने और दूर बैठे अपने किसी दोस्त और फैमिली मेम्बर से विडियो कॉल के द्वारा बात कर सकते है।

    इंटरनेट के नुकसान/हानि

    हर जीज़ के दो पहलु होते है एक अच्छा और दूसरा बुरा। इंटरनेट ने एक तरफ तो हमारे रोजमर्रा के कामों को इतना आसान बना दिया है तो दूसरी तरफ बेरोजगारी, लोगों की निजी सूचनाये लीक करने, युवाओं के द्वारा अपना कीमती समय बर्बाद करने और दंगे भड़काने और नेगेटिविटी फ़ैलाने का काम भी किया है।

    इंटरनेट पर युवा अपने जीवन के लक्ष्य को भूलकर गलत आदतों का शिकार हो रहे है और तनाव में आकर ऐसे फैसले ले रहे है जिनसे उनका जीवन बर्बाद हो रहा है। इंटरनेट के द्वारा लोगों के बैंक अकाउंट में से रुपए भी चोरी कर लिए जाते है उनकी जिंदगी भर की कमाई चंद मिनटो में चली जाती है।

    उपसंहार

    इंटरनेट की आसानी से उपलब्धता के कारण सिर्फ बच्चे ही नही बल्कि पढ़े-लिखे लोग भी इसका दुरूपयोग कर रहे है। सरकार को 18 वर्ष से छोटे बच्चों कि लिए एक ऐसी इंटरनेट सर्विस प्रोवाइड करवानी चाहिए जिसके द्वारा सिर्फ चुनिन्दा वेबसाइट को ही एक्सेस किया जा सके। बैंक खातो की सुरक्षा के लिए नए प्रकार के सिक्योर प्रोटोकॉल बनाने चाहिए।

    इंटरनेट पर निबंध 1000 शब्द

    जब से इंटरनेट दुनिया में आया है हमारे जीवन जीने के तरीके बदल दिए है, इंटरनेट ने पूरी दुनिया को एक कंप्यूटर और मोबाइलमें समेट कर रख दिया है। इंटरनेट की वजह से ही ऑनलाइन संचार बहुत ही सरल और आसान हो गया है। आप जब चाहे किसी से बात कर सकते है मनोरंजन के लिए संगीत, वीडियो देख सकते है और अन्य कार्य जैसे व्यापार, बैंकिंग, इंटरव्यू, न्यूज़, शिक्षा, ईमेल इत्यादि इंटरनेट की मदद से आप कहीं भी बैठकर कर सकते है।सोशल नेटवर्किग साइट को खोल कर हम मात्र कुछ सेकेंडो में ही अपने संदेश दूसरे व्यक्ति तक पहुंचा सकते है।

    इंटरनेट एक नेटवर्क है जिसके तहत दुनिया के सारे गैजेट्स जुड़े हुए है। ये सभी गैजेट्स एक यूनिक आईडी से जुडते है जिसे आईपी एड्रैस कहते है। ये आईपी एड्रैस सभी के अलग-अलग होता है। इंटरनेट पर जो हम खोजते और देखते है, उसे सर्फिंग कहते है। सर्फिंग आज के जमाने में बच्चों से लेकर बुड्ढों तक हर कोई करता है। लेकिन मानव और इंटरनेट तीन तरीके से एक-दूसरे से जुड़े होते है।

    इंटरनेट का इतिहास

    इंटरनेट का विकास धीरे-धीरे टेलीफोन, रेडियो फ्रिकवेंसी और प्रोटोकोल की सहायता से हुआ था। सर्वप्रथम यूनाइटेड रक्षा विभाग ने 1960 के दशक में अपनी गुप्त फाइलों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर पहुँचाने के लिए इसका उपयोग किया था तब इसका नाम “अपरानेट” था लेकिन यह उस समय इतना स्टेबल और तेज नहीं था। समय के साथ इंटरनेट में बदलाव आता गया और सन् 1969 में टिम बर्नर्स ली ने इंटरनेट का आविष्कार किया।

    इंटरनेट को भारत में आने में बहुत समय लगा लेकिन 80 के दशक में इंटरनेट का इस्तेमाल भारत में होने लगा था। इंटरनेट के सुगम इस्तेमाल को एप्पल नाम की कंपनी ने सन् 1984 में कंप्यूटर में फाइल फोल्डर और ग्राफिक्स का इस्तेमाल किया जिसके कारण आज इंटरनेट चलाना बहुत आसान है अगर एप्पल कंपनी नहीं होती तो आज भी हमें कोडिंग करके ही इंटरनेट का इस्तेमाल करना पड़ता।

    इंटरनेट के प्रारंभिक चरण में इसकी स्पीड केबीपीएस में होती थी फिर धीरे-धीरे एमबीपीएस और अब जीबीपीएस में इसकी स्पीड होती है जो की बहुत तेजी से सूचनाओं का आदान प्रदान करने में काम करती है। कंप्यूटर का विकास होने के बाद उनमें जमा आंकड़ों और सूचनाओं के आदान-प्रदान की आवश्यकता अनुभव की गयी और इसी अनुभव ने विभिन्न विश्वविद्यालयों, सरकार द्वार प्रायोजित कंप्यूटर नेटवर्क तथा शोध व शिक्षा के लिए इंटरनेट का विकास किया गया।

    धीरे-धीरे इंटरनेट के विकास के साथ इसके फायदे और महत्त्व हर क्षेत्र में दिखाई देने लगे और यह तकनीक पूरी दुनिया में इंटरनेट क्रांति के रूप में फैल गयी। इंटरनेट की दुनिया में, यह कोई ज़रुरी नहीं है कि कोई व्यक्ति अपने व्यापारिक या निजी मुलाकात के लिए घंटों यात्रा करके किसी स्थान पर जाए।

    इंटरनेट का उपयोग

    इंटरनेट की सफलता की वजह इसकी विशेषता और उपयोगिता है। इसकी सुगमता और उपयोगिता की वजह से, ये हर जगह इस्तेमाल होता है जैसे- कार्यस्थल, स्कूल, कॉलेज, बैंक, रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट, रेस्टोरेंट, मॉल इत्यादि।इंटरनेट का उपयोग हम ईमेल भेजने, वीडियो चैटिंग, टेक्स्ट चैटिंग, नेट सर्फिंग, बिल जमा कराने, टिकट बुक कराने, शॉपिंग करने के लिए, सूचनाएँ बेचने और प्रदान करने के लिए, नौकरी खोजने और प्रदान करने के लिए, विज्ञापन करने के लिए, सीधे अपने ग्राहकों तक पहुँचने के लिए, मनोरंजन इत्यादि सभी कार्य करने के लिए करते है। वर्तमान में तो बच्चों की शिक्षा और उनके खेलने के लिए गेम्स भी इंटरनेट पर उपलब्ध है।

    विज्ञान के क्षेत्र में भी इंटरनेट ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। इंटरनेट की सहायता से वैज्ञानिक एक-दूसरे से जुड़कर नए-नए आविष्कारों को अंजाम दे पाए है और अंतरिक्ष में घटने वाली घटनाओं की सूचना भी इंटरनेट के माध्यम से सभी को प्रदान की हैं।

    इसके कारण शिक्षा के क्षेत्र में तो बहुत अधिक बदलाव आया है क्योंकि पिछड़े हुए क्षेत्रों में इंटरनेट की उपलब्धता के कारण वहाँ के विद्यार्थियों को उत्तम शिक्षा मिल रही है, जिससे रोज़गार में वृद्धि हो रही है और देश की तरक्की भी तेजी से हो रही है। इसका अथाह ज्ञान, सूचना, जानकारी इसके संचालन के उपयोग को और अधिक बढ़ा देता है। इसकी इसी विशेषता के कारण उपयोगकर्ताओं की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है।

    ये सारी बातें अब आप लोगों के लिए अनभिज्ञ नहीं है, क्योंकि इस साल यानि 2020 में आप सबने अपने-अपने उद्देश्यों से इंटरनेट पर कुछ ना कुछ किया है। इस कोरोनाकाल में आप सबने चैटिंग, वीडियो चैटिंग, बच्चों की शिक्षा इत्यादि से रूबरू हुए है।

    इंटरनेट के लाभ

    इंटरनेट का उपयोग करने अनेक लाभ होते है जैसे संचार, ई-बैंकिंग, ई-व्यापार, ई-शिक्षा, ई-रोजगार, ई-चिकित्सा और मनोरंजन आदि। 

    संचार – इंटरनेट के माध्यम से हम किसी भी फाइल, फोटो, वीडियो, ऑडियो इत्यादि का आदान-प्रदान बहुत तेजी से कर सकते है। इंटरनेट से हम मोबाइल से एक स्थान से दूसरे स्थान पर बात कर सकते है। इंटरनेट पर हम एक दूसरे से बात करने के लिए ईमेल और चैटिंग भी कर सकते है। इसलिए वर्तमान में संप्रेषण या संचार का सबसे तेज और सुलभ साधन इंटरनेट बन गया है।

    ई-बैंकिंग – आज का बैंकिंग सिस्टम इंटरनेट पर ही आधारित है अगर भूलवश एक मिनट के लिए भी इंटरनेट बंद हो जाए तो लाखों का नुकसान हो सकता है, पूरी बैंकिंग व्यवस्था बिगड़ सकती है। पहले एक खाते से दूसरे खाते में रुपए जमा कराने, अपने खाते से पैसे निकालने में, के लिए बैंक की लंबी-लंबी कतारों में खड़ा होना पड़ता था लेकिन आजकल चुटकियों में एक खाते से दूसरे खाते में पैसा जमा हो जाते है और पैसे निकल आते है। आज इंटरनेट बैंकिंग से हम घर बैठे शॉपिंग कर सकते हैं बिल जमा कर सकते है ट्रेन, बस, प्लेन होटल, सिनेमा आदि की टिकट बुक कर सकते है। वो भी किसी बिचौलिया के बिना।

    ई-व्यापार – जब से इंटरनेट का विस्तार हुआ है तब से इंटरनेट द्वारा ही व्यापार किया जाने लगा है। एक व्यापारी अब अपने दुकान पर बैठकर दूसरे व्यापारी को ऑर्डर के साथ-साथ माल के रुपए इंटरनेट के माध्यम से जमा करा देता है जिससे व्यापार सुलभ और तेजी से बढ़ रहा है। आजकल तो ऑनलाइन सामान बेचने वाली वेबसाइट भी आ गई है जिनसे ग्राहक सामान घर बैठे मंगवा सकता है। पसंद ना आने पर वापस भेज भी सकता है।

    ई-शिक्षा – आजकल इंटरनेट के माध्यम से हम घर बैठे जिस विषय पर शिक्षा चाहिए उसकी शिक्षा ले सकते है और अगर आप शिक्षक हैं तो विद्यार्थियों को पढ़ा भी सकते है।  इंटरनेट के माध्यम से ही आप अपनी स्कूली शिक्षा पूर्ण कर सकते है। कुछ वर्षों पहले तक शिक्षा ग्रहण करने के लिए हमें स्कूल या फिर किसी शिक्षक के पास जाना पड़ता था लेकिन आज इंटरनेट आने के बाद शिक्षा पाने के लिए हमें कहीं जाने की जरूरत नहीं है। इंटरनेट के माध्यम से हम विदेशी पढ़ाई भी पढ़ सकते है। इंटरनेट ने दूरदराज के ग्रामीण इलाकों में रहने वाले विद्यार्थियों को शिक्षा के क्षेत्र में बहुत सहायता पहुँचाई है।

    ई-रोजगार – इंटरनेट के उपयोग से अब आपको रोजगार भी आसानी से मिलने लगा है। जब से इंटरनेट का प्रयोग प्रत्येक व्यक्ति करने लगा है तो लोगों को इससे रोजगार भी मिलने लगा है आजकल लगभग सभी सरकारी कार्य इंटरनेट के माध्यम से ही होने लगे हैं जैसे राशन कार्ड आधार कार्ड पैन कार्ड और अन्य दस्तावेज बनाने के लिए इंटरनेट की सहायता होती है इसलिए ईमित्र जैसी सुविधाओं से व्यक्तियों को रोजगार मिल रहा है। इंटरनेट पर पैसा कमाने के लिए कई लोग वीडियो, ऑडियो और लिखित सामग्री के माध्यम से भी पैसा कमाते है।

    ई-चिकित्सा – चिकित्सा के क्षेत्र में भी इंटरनेट के आने के बाद बहुत से अच्छे-अच्छे बदलाव देखने को मिले। कोई भी बीमारी हो जाने पर पहले हमें चिकित्सक के पास जाना पड़ता था लेकिन आजकल इंटरनेट आ जाने के कारण डॉक्टर इंटरनेट पर उपलब्ध रहते है उनकी फीस ई बैंकिंग की सहायता से उन्हें दे दी जाती है। और डॉक्टर आप की रिपोर्ट देखकर आप की बीमारी के बारे में सही सलाह देते है। साथ ही आजकल इंटरनेट पर ही दवाईयाँ मिलने लगी है जिससे आपको दवाई खरीदने के लिए भी दुकान पर नहीं जाना पड़ता है घर बैठे ही आपको दवाईयाँ मिल जाती है। 

    मनोरंजन – इस क्षेत्र में इंटरनेट ने बहुत से सही काम किये है। सिर्फ एक क्लिक से कोई भी व्यक्ति अपना मनपसंद का गाना, मूवी या चित्र देख सकता है। टेक्नोलॉजी की दुनिया में मनोरंजन के लिए पहले रेडियो आया और फिर टेलीविजन लेकिन अब इंटरनेट का जमाना है।

    वर्तमान में इंटरनेट पर हर प्रकार के मनोरंजन के लिए अलग-अलग वेबसाइट उपलब्ध है। इन वेबसाइटों पर आप वीडियो, ऑडियो, गेम, सभी कार्य कर सकते है। इंटरनेट पर बच्चों से लेकर बड़ों तक सभी के मनोरंजन के लिए मनोरंजन सामग्री उपलब्ध है जिसके कारण आजकल सभी लोग इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं और खूब आनंद उठाते है।

    सुरक्षा – इंटरनेट के माध्यम से अपनी सुरक्षा को काफी हद तक बढ़ा सकते है। वर्तमान में कुछ असामाजिक तत्वो के कारण असुरक्षा महसूस होती है और आपके पास अगर इंटरनेट है तो आप अपने परिवार वालों को एक सेकंड में मैसेज भेज कर सहायता माँग सकते है या फिर ऐसी कोई अप्रिय घटना हो रही हो जो कि नहीं होनी चाहिए आप उसका वीडियो बना सकते हैं और लोगों को उसके बारे में सचेत कर सकते है।

    आजकल तो सीसीटीवी कैमरे भी इंटरनेट से जुड़े हुए होते हैं इसलिए आप अपनी दुकान घर ऑफिस को सीसीटीवी कैमरे को इंटरनेट की सहायता से अपने मोबाइल पर भी देख सकते है। इंटरनेट ने सुरक्षा को बहुत अधिक बढ़ा दिया है।

    इसके अलावा भी बहुत सारे फायदे होते है। जैसे – सोशल नेटवर्किंग साइट्स के माध्यम से हम किसी भी खबर को एक ही पल में एक ही शेयर से बहुत सारे लोगों तक पहुँचा सकते हैं। सुयोग्य वर-वधु की तलाश को भी इंटरनेट ने आसान कर दिया है। इंटरनेट पर ऐसी बहुत सी मैट्रीमोनी साइट्स है जिन पर आप अपनी पसंद के जीवनसाथी की तलाश कर सकते हैं।

    इंटरनेट हमारी पढाई में भी बहुत मदद करता है। आज के समय में बाजार में किताबें बहुत ही महंगी आती हैं और प्रत्येक व्यक्ति उन्हें खरीद नहीं सकता है। आप उन्हें इंटरनेट की सहायता से पढ़ सकते हैं और डाऊनलोड करके अपने कंप्यूटर या मोबाइल में सेव करके रख सकते हैं।

    इंटरनेट से हानि

    इंटरनेट के प्रयोग करने से कुछ हानियाँ भी है, जैसे मानसिक तनाव, चिड़चिड़ापन, व्यवहार में बदलाव और शारीरिक दुष्प्रभाव आदि। 

    मानसिक तनाव – इंटरनेट का हद से ज़्यादा प्रयोग करने से आपको तनाव उत्पन्न होता है और सोशल साइट्स के जमाने में अनजान लोगों से बातें करके कुछ ऐसी बातें शेयर कर देते है जिसको ब्लैकमेल करके पैसों के साथ-साथ मानसिक तनाव दे जाते है।

    चिड़चिड़ापन – इंटरनेट का अत्यधिक इस्तेमाल करने से चिड़चिड़ापन होने लग जाता है क्योंकि हम जैसा चाहते हैं इंटरनेट पर वैसा नहीं होता है कई बार बच्चे ऑनलाइन इंटरनेट पर गेम खेलते रहते हैं और आउट हो जाने पर उनका स्वभाव चिड़चिड़ा हो जाता है। इंटरनेट पर कई हिंसक गेम, वीडियो और इत्यादि सामग्री उपलब्ध है जोकि चिड़चिड़ापन को बढ़ावा देती है।

    व्यवहार में बदलाव – वर्तमान में लोग एक दूसरे से मिलना बहुत कम पसंद करते हैं वे इंटरनेट पर ही दोस्त बनाना चाहते हैं और ज्यादातर समय इंटरनेट पर ही बताते हैं जिससे उनका व्यवहार पूरी तरह से बदल जाता है। बात-बात पर गुस्सा करते है, उनके बात करने की भाषा भी बदल जाती है, बाहर जाना नहीं चाहते है।

    शारीरिक दुष्प्रभाव – इंटरनेट पर हम कई बार ऐसे वीडियो ऑडियो या चित्र देख लेते है जिनको देखकर हम भी वैसा ही करने की कोशिश करते है जिससे हमारे शरीर पर बुरा प्रभाव पड़ता है। इंटरनेट पर बाइक, कार और अन्य प्रकार के स्टंट के वीडियो उपलब्ध है जिनको देखकर बच्चे वैसा करने की कोशिश करते हैं और अपने शरीर को नुकसान पहुंचा लेते है। इसलिए इंटरनेट से शारीरिक दुष्प्रभाव भी हो सकते है।

    डाटा की चोरी और गैरकानूनी गतिविधियाँ – वर्तमान में सभी कंपनियों, सरकारी दस्तावेज, व्यक्तिगत दस्तावेज इत्यादि इंटरनेट पर ही है तो इनके लीक होने का खतरा हर समय बना रहता है, और काफी कंपनियों का हर साल डाटा चोरी होता है जिसके कारण लाखों करोड़ों का नुकसान हो जाता है।

    इंटरनेट की दुनिया में डाटा चोरी होना एक प्रमुख समस्या है इससे बचने के लिए कई उपाय किए जाते हैं लेकिन फिर भी कहीं ना कहीं चूक हो जाती है इसलिए हमेशा इंटरनेट का इस्तेमाल सावधानीपूर्वक करना चाहिए। इंटरनेट के माध्यम से कई गैरकानूनी विधियाँ की जाती हैं जैसे गैर कानूनी माल की सप्लाई के लिए जानकारी देना, आतंकवादी गतिविधियों बढ़ाने के लिए आतंकवादी इंटरनेट का इस्तेमाल ही करते है और भी अनेक कार्य है जो कि गैरकानूनी है और इंटरनेट पर छुपा कर किए जाते है।

    समय का दुरुपयोग – वर्तमान में ज्यादातर बच्चे और युवा लोग इंटरनेट पर ही समय व्यतीत करते हैं आप अपने आसपास नजर घुमा कर देखिए बस स्टैंड पर दुकान पर घर पर खेल के मैदान में सभी जगह लोग मोबाइलों में इंटरनेट चलाते दिख जाएंगे। इससे उनका जरूरी कार्य रुक जाता है और समय का दुरुपयोग होता है।

    उपसंहार : इंटरनेट आज की दुनिया में हर किसी के जीवन के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। इंटरनेट जानकारियों का समूह है जो दुनिया के सभी कंप्यूटरों से जानकारी प्राप्त करके हमें सर्च इंजन और अन्य वेबसाइटों की सहायता से सूचनाएँ प्रदान करता है। आजकल सरकारी, गैर-सरकारी कार्यालयों, स्कूलों, कॉलेजों, हॉस्पिटलों, बैंक, छोटे से लेकर बड़े व्यापार में इंटरनेट का प्रयोग किया जाता है।

    इंटरनेट के कारण दुनिया के प्रत्येक व्यक्ति को इससे लाभ पहुंचा है, लेकिन आज भी हमारे देश के कई ऐसे स्थान हैं जहाँ पर इंटरनेट पहुँच नहीं पाया है इसलिए प्रत्येक व्यक्ति तक इंटरनेट पहुँचना चाहिए। इंटरनेट का उपयोग मात्र मनोरंजन के लिए करना सही नहीं है क्योंकि इंटरनेट से हम कई प्रकार के ज्ञान प्राप्त कर सकते हैं और विश्व को एक नए स्तर पर ले जा सकते हैं।

    इंटरनेट का उपयोग राष्ट्र के विकास के लिए करना चाहिए ना कि इसे बेकार की चीजों में उपयोग करके अपने समय को बर्बाद करना चाहिए। इंटरनेट विज्ञान का सबसे महत्वपूर्ण आविष्कार है। इस के आविष्कार के बाद विज्ञान को जैसे पंख ही लग गए है। इससे दुनिया के हर क्षेत्र में विस्तार हुआ है इंटरनेट का उपयोग अगर सही काम के लिए किया जाए तो यह बहुत ही अच्छा है।

    लेकिन इसका दुरुपयोग किया जाए तो इसके बहुत गंभीर परिणाम हो सकते है इसलिए इंटरनेट को हमेशा सावधानीपूर्वक इस्तेमाल करना चाहिए। इंटरनेट की सहायता से हम लोग विश्व की किसी प्रकार की भी जानकारी मात्र चंद सेकेंडों में प्राप्त कर सकते हैं। वास्तव में इंटरनेट ने मानव इतिहास में एक क्रांतिकारी परिवर्तन लाने का कार्य किया है।


    SHARE THIS

    Author:

    I am writing to express my concern over the Hindi Language. I have iven my views and thoughts about Hindi Language. Hindivyakran.com contains a large number of hindi litracy articles.

    0 comments: