Tuesday, 12 April 2022

गति अधिनियंत्रक और गतिपाल पहिये में अंतर - Difference Between Flywheel and Governor in Hindi

गति अधिनियंत्रक और गतिपाल पहिये में अंतर - Difference Between Flywheel and Governor in Hindi

Difference Between Flywheel and Governor in Hindi : इस लेख में गति अधिनियंत्रक और गतिपाल पहिये में अंतर का उनके गुणों के आधार पर अंतर बताया गया है। 

गति अधिनियंत्रक (Governor) और गतिपाल पहिये (Flywheel) में अंतर

संख्यागतिपाल पहिया (Governor)गति अधिनियंत्रक (Flywheel)
1यह एक भारी पहिया होता है जोकि गति के असमान विचलनों को कम करने का कार्य करता है।यह गति का नियंत्रण करने वाली एक युक्ति है, जो बदलते भारों के कारण गति में आने वाले परिवर्तन को रोकता है।
2इसकी गति इंजन की गति के साथ-साथ बढ़ती है।यह जब कार्य करता है तब इंजन की गति औसत गति से ऊपर-नीचे होती है।
3यह प्रत्येक ऊष्मागतिकी चक्र के दौरान गति के उतार-चढ़ावों को कम करता है, जोकि चालक आघूर्ण तथा कार्यकारी आघूर्णों के मध्य अन्तर के कारण सम्भव होता है।यह इंजन की औसत गति को एक नियत सीमा के अन्तर्गत बनाये रखता है, जोकि बढ़ते या घटते भार (Load) के अनुसार ईंधन की सप्लाई को नियंत्रित करके प्राप्त करता है।
4इंजन की औसत गति से अधिक हो जाने पर भी इसकी गति अप्रभावित रहती है।गति के चक्रों के उतार-चढ़ाव पर भी यह अप्रभावित रहता है।
5सभी प्रकार के इंजनों में गतिपाल पहिये का प्रयोग अति आवश्यक नहीं है।गति अधिनियंत्रक का प्रयोग सभी प्रकार के इंजनों में अति आवश्यक है।
6यह अधिक जड़त्व आघूर्ण वाली एक बड़ी तथा भारी युक्ति होती है।यह बहुत कम जड़त्व आघूर्ण वाली एक छोटी सी यंत्रावली होती है।
7ऊर्जा के उतार-चढ़ावों को कम करने के लिये यह घूर्ण ऊर्जा की अतिरिक्त मात्रा को अपने अन्दर एकत्र करके रखता है।यह ईंधन के प्रवाह का नियंत्रण करके इंजन की औसत गति को नियत बनाये रखता है।
गति अधिनियंत्रक और गतिपाल पहिये में अंतर - Difference Between Flywheel and Governor in Hindi

सम्बंधित लेख : 

  1. सरल गियरमाला, संयोजी गियरमाला और अधिचक्रीय गियरमाला में अंतर
  2. Difference between Jigs and Fixtures in Hindi
  3. Difference between Direct and Indirect Cost in Hindi
  4. Difference between Mechanism and Machine in Hindi
  5. गुणवत्ता नियंत्रण और गुणवत्ता आश्वासन के बीच अंतर

SHARE THIS

Author:

I am writing to express my concern over the Hindi Language. I have iven my views and thoughts about Hindi Language. Hindivyakran.com contains a large number of hindi litracy articles.

0 comments: