Wednesday, 6 April 2022

सफेद फास्फोरस और लाल फास्फोरस में अंतर - Safed aur Lal Phosphorus Mein Antar

सफेद फास्फोरस और लाल फास्फोरस में अंतर - Safed aur Lal Phosphorus Mein Antar

Safed aur Lal Phosphorus Mein Antar : इस लेख में सफेद फास्फोरस तथा लाल फास्फोरस का उनके गुणों के आधार पर अंतर बताया गया है। 

सफेद फास्फोरस और लाल फास्फोरस में अंतर

सफेद फास्फोरसलाल फास्फोरस
सफेद फास्फोरस मोम जैसा मुलायम रवेदार पदार्थ होता है।यह लाल रंग का रवेदास ठोस पदार्थ होता है
इसका द्रवनांक (गलनांक) 44.1 C है तथा क्वथनांक 280.5C होता है।इसका क्वथनांक 582 होता है।
यह जहरीला होता है।यह जहरीला नहीं होता है।
यह पानी में अघुलनशील है लेकिन कार्बन डाइसल्फ़ाइड में घुलनशील है।यह पानी और कार्बन डाइसल्फ़ाइड दोनों में अघुलनशील है।
यह अंधेरे में चमकता है क्योंकि वायु में इसका ऑक्सीकरण हो जाता है। लाल फ़ास्फ़रोस अंधेरे में नहीं चमकता है। 
सफ़ेद फोस्फोरोस का घनत्व लगभग 1.823 g/cm3 होता है। लाल फ़ास्फ़रोस का घनत्व लगभग 2.2 से 2.34 g/cm3 होता है। 
ठोस और वाष्प दोनों अवस्थाओं में, यह P4 अणु के रूप में पाया जाता है।यह चतुष्फलकीय P4 इकाइयों की एक श्रृंखला के रूप में पाया जाता है।
सफ़ेद फ़ास्फ़रोस बहुत अधिक क्रियाशील होता है। लाल फ़ास्फ़रोस कम क्रियाशील होता है।
इसमें लहसुन के समान तेज तीखी गंध आती है।लाल फ़ास्फ़रोस गंधहीन होता है।
यह वायु के संपर्क में स्वयं जलने लगता है।यह अधिक स्थाई होने के कारण उच्च तापमान पर वायु के साथ क्रिया करता है। 
सफेद फास्फोरस और लाल फास्फोरस में अंतर

SHARE THIS

Author:

I am writing to express my concern over the Hindi Language. I have iven my views and thoughts about Hindi Language. Hindivyakran.com contains a large number of hindi litracy articles.

0 comments: