Wednesday, 24 April 2019

सड़क सुरक्षा जीवन रक्षा पर निबंध। Road Safety Essay in Hindi

सड़क सुरक्षा जीवन रक्षा पर निबंध। Road Safety Essay in Hindi

आज के दिनों में सड़क दुर्घटनाएं, चोटें और मौतें बहुत आम हो गई हैं। सड़क पर ऐसी दुर्घटनाओं का मुख्य कारण लोगों द्वारा सड़क यातायात नियमों और सड़क सुरक्षा उपायों की अनदेखी है। हमें यह समझना चाहिए कि सड़क सुरक्षा ही जीवन रक्षा का दूसरा नाम है। सड़क सुरक्षा का मतलब है कि सुरक्षित तरीके से सड़क पर चलना, यानी खुद को सड़कों पर होने वाली किसी भी प्रकार की दुर्घटनाओं से सुरक्षित रखना। यह अनुमान है कि हर साल सड़क दुर्घटनाओं में लगभग 1 मिलियन लोग मारे जाते हैं।

हमें सड़कों पर सुरक्षित रहने के लिए कुछ नियमों का पालन करने की आवश्यकता है। इन नियमों को सड़क सुरक्षा नियम कहा जाता है।

सड़क दुर्घटनाओं के कारण : विकासशील देशों में यह मुद्दा अधिक महत्वपूर्ण है। स्पीड ड्राइविंग के कारण गंभीर चोटें आती हैं। अन्य कारक जो दुर्घटनाओं का कारण बन सकते हैं वे हैं चालक की बीमारी या थकान, नशे में गाड़ी चलाना, वाहन का ब्रेक फेल होना या स्टीयरिंग फेल होना और खराब सड़कें। किसी वाहन में क्षमता से अधिक सवारियों को बैठाकर चलाना भी सड़क पर होने वाली दुर्घटनाओं का एक प्रमुख कारण है। 

सड़क सुरक्षा नियमों का पालन करना हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है। यह हमें सड़कों पर चलने या सुरक्षित रूप से चलने में मदद करता है। यहां तक ​​कि एक वाहन के अंदर सवारी करते समय, हमें सुरक्षित यात्रा के लिए सुरक्षा नियमों का पालन करना चाहिए।

सड़क सुरक्षा को कैसे बेहतर बनाया जाए : सड़क दुर्घटनाओं को कम करने के लिए हमें सड़क सुरक्षा में सुधार करने की आवश्यकता है। अगर हमारे देश के सभी लोग सड़क सुरक्षा के बारे में जागरूक होंगे तो ही समस्या को रोका जा सकेगा। खुद को सुरक्षित और चोट से मुक्त रखने के लिए हमें निम्नलिखित सड़क सुरक्षा नियमों का पालन करना चाहिए:
  • हमें हमेशा फुटपाथों पर चलना चाहिए।
  • सड़कों पर न तो कूदें और न ही दौड़ें।
  • हमें यातायात संकेतों का पालन करना चाहिए। अगर हम गाड़ी चला रहे हैं, तो सिग्नल लाल होने पर हमें रुक जाना चाहिए। सिग्नल ग्रीन होने पर ही हमें ड्राइव करना चाहिए।
  • हमें जेब्रा क्रॉसिंग पर ही सड़क पार करनी चाहिए।
  • सड़क पार करते समय, हमें अपने बाएं और दाएं ओर देखना चाहिए कि हमारे रास्ते में कोई भी चलने वाले वाहन तो नहीं हैं।
  • बच्चों को हमेशा अपने बड़ों के सड़क पार करनी चाहिए।
  • हमें सड़क पर चलते समय फोन पर बात नहीं करनी चाहिए।
  • चौपहिया वाहन चलाते समय हमें हमेशा सीट-बेल्ट पहननी चाहिए।
  • दोपहिया वाहन पर सवारी करते समय, हमें अपनी सुरक्षा के लिए हेलमेट पहनना चाहिए।
  • हमें चलते वाहन के अंदर जोर से बात नहीं करनी चाहिए। इससे ड्राइवर परेशान हो सकता है।
  • हमें चलते वाहन के अंदर खेलना या कूदना नहीं चाहिए।
  • बस में बैठते समय हमें एक कतार बनानी चाहिए और अपने मौके की प्रतीक्षा करनी चाहिए।
  • हमें चलती गाड़ी की खिड़की से अपना सिर या हाथ बाहर नहीं निकालना चाहिए।

उपसंहार : इस प्रकार, हमने सड़क सुरक्षा की अवधारणा को समझा है। इसके अलावा, हमने सड़क सुरक्षा नियमों के बारे में भी जाना है जिनका हमें रोजमर्रा के जीवन में पालन करना चाहिए।

SHARE THIS

Author:

I am writing to express my concern over the Hindi Language. I have iven my views and thoughts about Hindi Language. Hindivyakran.com contains a large number of hindi litracy articles.

0 comments: