Saturday, 12 May 2018

सर्कस पर छोटा निबंध | Short Essay on Circus in Hindi

सर्कस पर छोटा निबंध। Short Essay on Circus in Hindi 

सर्कस लोगों के अनेक मनोरंजन के साधनों में से एक है। सर्कस में आदमी, औरतें, पशु-पक्षी तथा बच्चे भिन्न-भिन्न प्रकार से अपने करतब दिखाते हैं। इसी प्रकार का एक सर्कस अपोलो सर्कस लाल किले के मैदान में लगा हुआ था। सौभाग्य से हमें उसे देखने का अवसर प्राप्त हुआ। हमने टिकट खरीदे और अंदर प्रवेश किया ही था कि सर्कस की घंटी बज गई। हम तुरंत ही अपनी अपनी सीटों पर बैठ गए तभी सर्कस प्रारंभ हो गया। 

अचानक देखते हैं कि सामने सर्कस के प्रांगण में कुछ जोकर खड़े हैं। जैसे ही सर्कस प्रारंभ हुआ तो कुछ लड़कों और लड़कियों ने अपने भिन्न भिन्न प्रकार के करतब तथा कसरत दिखाए। तभी एक व्यक्ति ने मौत के कुएं में मोटरसाइकिल चला कर दिखायी। कुछ देर बाद जानवरों के करतब का कार्यक्रम प्रारंभ हुआ उसमें हाथियों तथा शहरों के बीच विभिन्न खेल दिखाए गए। हाथियों ने तो क्रिकेट भी खेल कर दिखाया जो हम सब को बहुत अच्छा लगा। एक व्यक्ति ने अपने शरीर पर जलता हुआ मोम डाल कर दिखाया। फिर एक लड़की ने लोहे के रिंग में से उछलते हुए निकल कर दिखाया तभी कुछ लड़कियों ने साइकिल के करतब दिखाए। 

अंत में कुछ लोगों ने एक पुरानी कार पर अपने करतब दिखाकर लोगों को बहुत हंसाया। परंतु इन सब में मुझे सबसे ज्यादा जिमनास्टिक का कार्यक्रम पसंद आया। वह अपने कार्य में बहुत ही कुशल थे इस प्रकार हमें सर्कस देख कर बहुत अच्छा लगा इस सर्कस की सुनहरी याद आज भी हमारे दिल में ताजा है।

SHARE THIS

Author:

I am writing to express my concern over the Hindi Language. I have iven my views and thoughts about Hindi Language. Hindivyakran.com contains a large number of hindi litracy articles.

0 comments: