Wednesday, 15 November 2017

पुस्तक विक्रेता से पुस्तकें मँगवाने हेतु पत्र। Letter to Bookseller for ordering books in Hindi

पुस्तक विक्रेता से पुस्तकें मँगवाने हेतु पत्र। 

डी ए वी गर्ल्स कॉलेज 
मेस्टन रोड 
लखनऊ कैन्ट 
सेवा में,
प्रबंधक महोदय 
नवीन प्रकाशन 
922, कूँचा रोहिल्ला खान 
नई दिल्ली - 2 

विषय : पुस्तक विक्रेता से पुस्तकें मँगवाने हेतु पत्र। 

मान्यवर !
आपसे अनुरोध है कि  निम्नलिखित पुस्तकें उपरोक्त लिखित पते पर शीघ्रातिशीघ्र भेजने का कष्ट करें। 500 रूपए अग्रिम राशि भेजी जा रही है। 
स्मरण रहे की सभी पुस्तकें ठीक स्थिति में होनी चाहिए। 

  1. राजनीति शास्त्र                               प्रथम वर्ष                    5  प्रतियां 
  2. अर्थ शास्त्र                                       प्रथम वर्ष                    10  प्रतियां
  3. भारत का इतिहास                           एस के चंद                 8  प्रतियां
  4. उपन्यास - शतरंज के खिलाड़ी        मुंशी प्रेमचंद               5  प्रतियां
  5. उपन्यास मेलुहा के मृत्युंजय            अमीश त्रिपाठी            2  प्रतियां
भवदीय 

दीपक शुक्ला 
पुस्तकाध्यक्ष 
दिनांक : 15-11-2017 



पत्र संख्या : 2 

अनिल शर्मा,
के ब्लॉक किदवई नगर 
कानपुर। 
16-नवम्बर-2017 

सेवा में,
श्रीमान प्रबंधक महोदय,
राजकमल प्रकाशन 
विजयनगर, मेरठ। 

विषय : पुस्तक विक्रेता से पुस्तकें मँगवाने हेतु पत्र। 
letter to bookseller for ordering books in hindi


महोदय कृपया निम्नलिखित पुस्तकें अविलम्ब वी.पी.सी. द्वारा उचित कमीशन काटकर उपर्युक्त पते पर भिजवाने का कष्ट करें। 
इस पत्र के साथ 100/- रूपए का ड्राफ्ट की अग्रिम राशि भिजवा रहा हूँ। पुस्तकें भेजते समय इस बात पर ध्यान दें की किताबें कहीं से फटी न हों तथा नए संस्करण की हो। पुस्तकों के नाम निम्नलिखित हैं। 

  1. हिंदी व्याकरण         कक्षा 9 - 10            5 प्रतियां 
  2. संस्कृत                    कक्षा 6  - 8             3 प्रतियां 
  3. बीजगणित               कक्षा 10                 5 प्रतियां 
धन्यवाद। 
भवदीय 
अनिलशर्मा 

SHARE THIS

Author:

I am writing to express my concern over the Hindi Language. I have iven my views and thoughts about Hindi Language. Hindivyakran.com contains a large number of hindi litracy articles.

4 comments: