हाथी पर निबंध - Essay on Elephant in hindi

Admin
0

हाथी पर निबंध - Essay on Elephant in hindi

हाथी पर निबंध
प्रस्तावना : हाथी सबसे शक्तिशाली और विशाल जानवर है। यह एक विचित्र दिखने वाला जानवर है। इसकी विशाल टाँगे, बड़ी और चौड़ी कमर, लम्बे कान और आँखे छोटी होती हैं। इसके पास बड़ी और विचित्र नाक होती है जिसे सूंड़ कहते हैं। हाथी की सूंड़ उसके शरीर का सबसे विचित्र अंग है जिसके अनेक उपयोग हैं। वह अपनी सूंड़ से पानी पीता है और सूंड़ में पानी भरकर अपने शरीर को साफ़ करता है। इसकी सहायता से वह पेड़ों से पत्तियां तोड़कर अपने मुख में रखता है। वास्तव में हाथी की सूंड़ वह कार्य करती है जो उसके विशाल पैर नहीं कर पाते। हाथी बहुत विशाल और भारी दिखता है। इनके दौड़ने की गति भी काफी तेज होती है। 

हाथी अफ्रीका और भारत में : हाथी अफ्रीका और  पाए जाते हैं। अफ्रीकी हाथी भारतीय हाथियों से थोड़े अलग होते हैं। उनके कान, सूंड़ भारतीय हाथियों के थोड़े बड़े होते हैं। वास्तव में दोनों देशों के हाथियों को विभिन्न जातियों का माना जाता है। दोनों ही देशों के हाथी जंगलों में समूह बनाकर रहते हैं। प्राकृतिक रूप से यह एक शर्मीला जानवर है जो मानव से दूर रहता है। हाथी शाकाहारी होते हैं इसलिए घास, वृक्षों की पत्तियां और जड़ कहते हैं। भारतीय हाथिओं को गन्ना विशेष प्रिय होता है। 

एक बुद्धिमान जीव : हाथी एक बुद्धिमान जीव होता है। माना जाता है की हाथियों की यादाश्त बहुत तेज होती है। इनको पालतू बनाकर मानव इनसे अनेक कार्य करवाता है। प्राचीन काल में हाथियों को युद्ध में प्रयोग किया जाता था। हाथी भारी रथ को खींचने में सहायक होता है जैसे की घोड़े खींचते हैं। इन्हे प्रशिक्षित कर इनसे अनेक कार्य लिए जा सकते हैं। हाथी भारी बोझ उठाने में सहायक होता है। वे लकड़ियां उठाने में बहुत निपुण होते हैं। वे भारी से भारी लकड़ियों का गठ्ठा अपनी सूंड़  से उठाकर निश्चित स्थान पर रख देते हैं। 

युद्ध व शिकार में उपयोगी : हाथी शेर के शिकार के लिए प्रशिक्षित होता है। शिकारी हाथी की पीठ पर बैठकर हाथी को नियंत्रित करता है जिसे महावत कहते हैं। इस प्रकार शिकारी शेर पर आसानी से हमला कर सकता है। भारत के राजा-महाराजा इन पर बैठकर लड़ाई करते थे। हाथी उनका मुख्य पशु हुआ करता था। वे हाथियों को युद्ध के लिए विशेष तौर पर प्रशिक्षित करवाते थे क्योंकि इनकी त्वचा बहुत ही मोती होती है और इन पर साधारण हथियारों का आसानी से असर भी नहीं होता था। 

उपसंहार : अनेक हाथी आज भी पालतू हैं और उन्हें प्रशिक्षित किया जा रहा है। लेकिन हाथी  पकड़ना एक कठिन कार्य है। यद्यपि हाथी एक शांत स्वभाव  है लेकिन जब इस पर को हमला करता है तो यह शत्रु के लिए खतरनाक हो जाते हैं। हाथी पकड़ने के लिए सामान्यतः बड़े जालों का प्रयोग किया जाता है। सर्कस में तमाशे दिखाने के लिए भी इनका प्रयोग किया जाता है। इनकी सहायता से अनेक हैरतअंगेज करतब दिखाए जाते हैं। ऐसे जगहों पर इन पर अनेक अत्याचार किये जाते हैं। अतः हमें इस विशाल और शानदार जीव का सम्मान करना चाहिए और ऐसे गतिविधियों का विरोध करना चाहिए। 

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !