पिता और पुत्र के बीच पिकनिक पर संवाद लेखन - Pita aur Putra Ke Beech Mein Picnic par Samvad Lekhan

Admin
0

पिता और पुत्र के बीच पिकनिक पर संवाद लेखन : In This article, We are providing पिता और बेटे के बीच संवाद पिकनिक पर संवाद लेखन and माँ और बेटी के बीच पिकनिक पर संवाद लेखन for Students and teachers.

    पिता और पुत्र के बीच पिकनिक पर संवाद लेखन

    बेटा : मेरा आपसे एक निवेदन है।

    पिता : प्लीज बताओ।

    बेटा : मेरी क्लास के स्टूडेंट पिकनिक पर आगरा जा रहे हैं..

    पिता : ठीक है, क्या तुम भी उनके साथ जाना चाहते हो?

    बेटा : अगर आप मुझे उनके साथ पिकनिक पर जाने की इजाज़त दें तो मुझे बहुत खुशी होगी।

    पिता : तुम्हारे साथ पिकनिक पर कौन-कौन जा रहे हैं ?

    बेटा : राहुल, फैज, अंकुर, पूजा सब पिकनिक पर जा रहे हैं।

    पिता : तुम्हारी क्लास कितने दिन के लिए आगरा जा रही है ?

    बेटा : सिर्फ एक हफ्ते के लिए।

    पिता : तुम्हारी क्लास कब पिकनिक पर जाएगी?

    बेटा : अगले हफ्ते।

    पिता : ओके तुम जा सकते हो। पिकनिक के लिए कितनी फीस जमा करनी होगी स्कूल में ?

    बेटा : सिर्फ एक हजार रुपये।

    पिता : ठीक है माँ के पास जाओ और पैसे ले लो। और मोबाइल को हर समय अपने पास रखना ताकि हम तुमसे संपर्क कर सकें।

    बेटा : पापा, क्या मैं आपका कैमरा ले सकता हूं ताकि मैं फोटो ले सकूं।

    पिता : ज़रूर। लेकिन सावधानी से इस्तमाल करना। और इधर-उधर रखकर भूल न जाना।


    पिता और बेटे के बीच संवाद पिकनिक पर संवाद लेखन

    पुत्र : पिताजी मेरे स्कुल में अगले शनिवार पिकनिक का आयोजन किया जा रहा है।

    पिता : ये तो बहुत अच्छी बात है, रोज की पढाई से छुट्टी पाकर पिकनिक जाने से शरीर और दिमाग को नई स्फूर्ति मिलती है।

    पुत्र जी पिताजी, में ही पिकनिक में जाना चाहता हूँ और इसके लिए मुझे 300 रुपये पिकनिक के शुल्क के रूप में स्कूल में जमा करने हैं।

    पिता : हाँ तो माँ से लेलो और जमा करा दो।

    पुत्र धन्यवाद पिताजी।

    पिता : परन्तु बेटा एक बात का ख्याल रहे कि पिकनिक में मास्टर साहब को तंग नहीं करना और न ही ऐसी कोई शरारत करना जिससे किसी को चोट लगे।

    पुत्र जी पिताजी मैं ख्याल रखूंगा।

    पिता : और हाँ जाने से पहले 10 रुपये जेब खर्च के लिए भी ले लेना परन्तु कोई दूषित वस्तु न खाना।

    पुत्र धन्यवाद पिताजी। मैं आपकी बात का पूरा ध्यान रखूंगा।


    Pita aur Putra Ke Beech Mein Picnic par Samvad Lekhan

    पुत्र : पिता जी मैं आपसे के बात करना चाहता हूँ।

    पिता : हाँ पुत्र बोलो।

    पुत्र : पिता जी हमें स्कूल की तरह से पिकनिक पर ले जा रहे है।

    ​पिता : अच्छा।

    पुत्र : पिता जी मैंने भी अपने कक्षा के साथियों के साथ जाना चाहता हूँ।

    ​पिता : पुत्र, कौन सी जगह पर ले जा रहे है।

    पुत्र : पिता जी दो के लिए शिमला लेकर जा रहे है।

    ​पिता : शिमला तो बहुत अच्छी जगह है और साथ में कितने अध्यापक जा रहे है।

    पुत्र : हांजी पिता जी , शिमला बहुत अच्छी जगह , मैं जाना चाहता हूँ , हमारे साथ हमारी कक्षा के दो अध्यापक जा रहे है।

    ​पिता : फिर तो अच्छा है , ठीक है चले जाना | अपना ध्यान रखना | अकेले मत घूमना हमेशा अपनी कक्षा के साथियों के साथ रहना।

    पुत्र : धन्यवाद पिता जी , मैं ध्यान रखूंगा।

    ​पिता : आप पिकनिक में कैसे जा रहे हो ?

    पुत्र : हम सब स्कूल की बस से जा रहे है।


    माँ और बेटी के बीच पिकनिक पर संवाद लेखन

    इंदू : मम्मी मम्मी आज मेरी अध्यापिका ने हम सभी बच्चों को एक बात बतायी है।

    मम्मी : कैसी बात इंदू ?

    इंदू : मम्मी मैडम ने बोला है की अगले हफ़्ते हमारा स्कूल पिकनिक पर जा रहा है।

    मम्मी : अच्छा जी ! और क्या बताया आपकी मैडम ने ?

    इंदू : मम्मी मैडम ने बताया की वहाँ बहुत से झूले होंगे। पढ़ाई से सम्बंधित बातें बतायी जाएँगी और भी कई मज़ेदार चीज़ें भी होंगी जानने के लिए।

    मम्मी : अच्छा?

    इंदू : हाँ मम्मी , और मैं भी जाना चाहती हु मम्मी। मुझे केवल १०० रुपए देने होंगे। प्लीज मम्मी।

    मम्मी :ठीक है इंदू तुम कल स्कूल जाते समय मुझसे रुपए लेती जाना।

    इंदू : धन्यवाद मम्मी। आप बहुत अच्छी है ।


    सम्बंधित संवाद लेखन 

    1. पिता और पुत्र के बीच मोबाइल को लेकर संवाद लेखन
    2. मोबाइल के दुरुपयोग पर दो मित्रों के बीच संवाद लेखन
    3. पिता और पुत्र के बीच दहेज पर संवाद लेखन
    4. दो मित्रों के बीच पिकनिक को लेकर संवाद लेखन
    5. मोबाइल और चार्जर के बीच संवाद लेखन
    6. दो मित्रों के बीच फिल्म पर संवाद लेखन
    7. रक्षाबंधन पर भाई बहन के बीच संवाद लेखन
    8. कंप्यूटर और मोबाइल के बीच संवाद लेखन
    9. कछुआ और हंस के बीच संवाद लेखन
    10. दो मित्रों के बीच पढ़ाई पर संवाद लेखन

    Post a Comment

    0Comments
    Post a Comment (0)

    #buttons=(Accept !) #days=(20)

    Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
    Accept !