Thursday, 23 June 2022

दो सहेलियों के बीच संवाद लेखन - Do Saheliyon Ke Beech Samvad Lekhan

दो सहेलियों के बीच संवाद लिखिये : In This article, We are providing दो सहेलियों के बीच संवाद लेखन and Conversation Between Two Girls in Hindi / Samvad Lekhan for Students and teachers.

    दो सहेलियों के बीच संवाद लेखन

    सोनाली - नमस्कार अंजली कैसी हो ?

    अंजली - मैं ठीक हूँ आप कैसी है

    सोनाली - आपको कल भारत और पाकिस्तान के बीच मैच मे मजा आया ?

    अंजली - हाँ मुझे बहुत मजा आया

    सोनाली - .खास तौर पर सचिन तेंदुलकर का प्रदर्शन शानदार गेंदबाजी और बैटिंग बहुत अच्छी तरह से था

    अंजली -हाँ वह एक अच्छा खिलाड़ी है

    सोनाली -हाँ वह एक अच्छा खिलाड़ी है

    अंजली : हाँ बिल्कुल

    सोनाली -लेकिन कल दो बल्लेबाजों हमें प्रोत्साहित किया,

    अंजली : लेकिन इसमें कोई संदेह नहीं है की कल का मैच बहुत ही मजेदार था

    सोनाली : तेंदुलकर के आउट होते ही लगा की हम मैच हार गए, हाँ लेकिन अंत में भारत मैच जीता

    अंजली : अच्छा ठीक हैं , मै अब जा रही हू

    सोनाली : अलविदा धन्यवाद

    अंजली : अलविदा

    Do Saheliyon Ke Beech Samvad Lekhan

    प्रियंका : क्या तुमने दंगल फिल्म देखी है?

    अनुष्का : हां मैंने वह फिल्म देखी है।

    प्रियंका : मुझे तो वह फिल्म बहुत अच्छी लगी। 

    अनुष्का : जब गीता स्वर्ण पदक जीती तो मुझे बहुत अच्छा लगा।

    प्रियंका : वह फिल्म हमें यह भी बताती है कि यदि हमारे माता पिता हमारे साथ हो तो हम कुछ भी प्राप्त कर सकते हैं।

    अनुष्का : हां तुम सही कह रही हो। यह फिल्म बहुत ही अच्छी है।

    प्रियंका : दंगल बहुत प्रेरणादाई फिल्म है। इस फिल्म के डायरेक्टर आमिर खान हैं। उनकी सभी फिल्में बहुत अच्छी होती हैं।

    अनुष्का : इस फिल्म में सभी कलाकारों ने बहुत अच्छा काम किया है।

    प्रियंका : अब मैं अपने सभी मित्रों को भी यह फिल्म देखने को कहूंगी।

    अनुष्का : हां क्यों नहीं! तुम सबको कह देना।

    Conversation Between Two Girls in Hindi

    रिया : अरे सखी कैसी हो?

    सिया : मैं बहुत अच्छी हूं तुम बताओ रिया तुम कैसी हो???

    रिया : मैं भी बहुत अच्छी हूँ। और आजकल क्या कर रही हो?

    सिया : ज्यादा कुछ नहीं बस मैं अपनी आगे की पढ़ाई के लिए कोचिंग ले रही हूँ।

    रिया : पर तुम तो पढ़ाई भी वैसे ही बहुत होशियार हो तुम्हें कोचिंग की क्या जरूरत है???

    सिया : नहीं नहीं कभी भी कोई बहुत होशियार नहीं होता है । हर चीज के लिए हमें अपनी एक योजना बनानी होती है और वही मैं बनाना चाहती हूँ ताकि मैं अपनी परीक्षाएं अच्छे अंको से उत्तरीण करूं।

    रिया : मुझे तुम पर पूरा विश्वास है बस तुम अपनी मेहनत में कोई कमी मत लाना।

    सिया : बिल्कुल चलो फिर मिलते हैं किसी दिन।

    रिया : हाँ बिल्कुल।


    SHARE THIS

    Author:

    I am writing to express my concern over the Hindi Language. I have iven my views and thoughts about Hindi Language. Hindivyakran.com contains a large number of hindi litracy articles.

    0 comments: