Friday, 1 March 2019

रेडियो का महत्व पर निबंध। Essay on Radio in Hindi

रेडियो का महत्व पर निबंध। Essay on Radio in Hindi

Essay on Radio in Hindi
रेडियो आधुनिक विज्ञान के नवीनतम आविष्कार में से एक है। रेडियों का एक अन्य रूप ट्रांजिस्टर भी है। यह संचार का एक ऐसा माध्यम है जिससे कई तरह की जानकारियाँ, शिक्षाएँ समाचार आदि तो प्राप्त होते ही हैं साथ ही घर बैठे-बैठे अनेक तरह से हमारा मनोरंजन भी करता है। आजकल रेडियो विभिन्न आकारों में उपलब्ध हैं। 

रेडियो की खोज : महान भारतीय वैज्ञानिक सर जगदीश चंद्र बोस ने सर्वप्रथम रेडियो की खोज की परंतु आर्थिक कठिनाइयों के कारण वह इसे व्यवहारिक रूप ना दे सके। आधुनिक रेडियो की खोज इटली के महान वैज्ञानिक मार्कोनी ने की। मारकोनी ने शांत जल में पत्थर का एक टुकड़ा फेंका तो देखा कि जल में लहरें उत्पन्न हुई, उन्होंने सोचा कि इसी प्रकार मनुष्य के बोलने पर उसके मुख से निकलने वाली ध्वनियों से भी लहरें उत्पन्न होती होंगी इसी विचार से प्रेरणा लेकर उन्होंने रेडियो का आविष्कार किया। मार्कोनी को उनके आविष्कार के लिए वर्ष 1909 में भौतिकी का नोबेल पुरस्कार मिला।

मार्कोनी के इस आविष्कार को जन-जन तक पहुँचाने वाला पहला केन्द्र सन् 1921 में इंग्लैण्ड में स्थापित किया गया था । वहाँ से पहली बार इंग्लैण्ड से लेकर न्यूजीलैण्ड तक समाचार प्रसारित एवं प्रेषित कर के इस आविष्कार ने सारे विश्व को चकित एवं विस्मित कर दिया था।

लोकप्रियता : यद्यपि टेलीविजन के आविष्कार के बाद से महानगरों में रेडियो के प्रयोग में कमी आई है परंतु गांवों में आज भी इसका प्रचलन जारी है। इसकी लोकप्रियता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि सभी मोबाइल फोन में एफएम का विकल्प अनिवार्य रूप से दिया जाता है। मनोरंजन का यह साधन पहले भी लोकप्रिय था, आज भी लोकप्रिय है और भविष्य में भी रहेगा।

रेडियो के लाभ : रेडियो के अनेक लाभ हैं । रेडियो क्षण भर में विश्व में घटित महत्वपूर्ण सूचनाएं हम तक तुरन्त पहुँचा देता है। क्रिकेट या कुश्ती किसी भी खेल का आँखों देखा हाल प्रस्तुत करता है। रेडियो केवल समाचारों के संचार तक ही सीमित नहीं है। इसके कई अन्य लाभ भी हैं। नौकायन और हवाई जहाज उड़ाने में रेडियो अपरिहार्य है। यह समाचार, संगीत, मौसम और बाजार की रिपोर्ट, खेल समाचार, भाषण, टिप्पणियां, महत्वपूर्ण व्यक्तियों के साक्षात्कार, नाटक और कई अन्य चीजों का प्रसारण करता है।

रेडियो का कार्य केवल उपर्युक्त वर्णित समाचारों और मनोरंजन की वस्तुओं को प्रसारित करने तक ही सीमित नहीं है। यह प्राकृतिक आपदाओं के बारे में चेतावनी भी देता है। इस प्रकार रेडियो तूफान, चक्रवात, ज्वार-भाटा आदि के बारे में चेतावनी देता है और इस तरह हजारों लोगों की जान बचाता है।

शिक्षा के क्षेत्र में : कुछ देशों में, रेडियो अब शिक्षा के माध्यम के रूप में काम करता है। शिक्षा को रोचक बनाने के लिए, छात्रों के लिए पाठ प्रसारित किए जाते हैं। कभी-कभी विशेषज्ञों और प्रतिष्ठित विद्वानों द्वारा शैक्षिक कार्यक्रमों की व्यवस्था की जाती है। इससे इन विषयों में रुचि रखने वाले व्यक्ति बहुत लाभान्वित होते हैं।

किसानों के लिए लाभप्रद : किसानों के कृषि से सम्बन्धित कार्यक्रम जिसमें उन्हें कौन सी फसल किस मौसम में बोनी चाहिए, फसल को कब बोना और काटना चाहिए, कब और कहाँ बेचना चाहिए आदि जानकारी मिलती है ।

सेना में रेडियो का उपयोग : रेडियो-जहाज, पुलिस, सेना के वाहनों आदि में लगा होता है। जिसके द्वारा वह अपना संदेश मुख्य कार्यालयों तक पहुँचाने हैं । हवाई जहाज यदि उड़ता हुआ किसी विपत्ति में फंस जाए जो रेडियों द्वारा ही कार्यालय में सूचित किया जाता है । 

उपसंहार : इस प्रकार रेडियो एक ऐसा यन्त्र है जिसने संचार के क्षेत्र में क्रांति ला दी। यदि यह कह जाये की रेडियो ने दुनिया छोटी कर दी तो अतिश्योक्ति न होगी। टेलीविजन की भाँती इसके कोई नकारात्मक प्रभाव भी नहीं है। अतः यह हर प्रकार से पूर्णतः उपयोगी यंत्र है। 

SHARE THIS

Author:

I am writing to express my concern over the Hindi Language. I have iven my views and thoughts about Hindi Language. Hindivyakran.com contains a large number of hindi litracy articles.

0 comments: