Thursday, 14 September 2017

अखबार पर निबंध। Essay on Newspaper in Hindi

अखबार पर निबंध। Essay on Newspaper in Hindi

अखबार पर निबंध। Essay on Newspaper in Hindi

अखबार हमारे जीवन का भाग और एक पोटली है। बहुत से शिक्षित लोग अपना दिन अखबार पढ़कर शुरू करते हैं। अखबार के बिना नहुत से लोगों का चाय व नाश्ता भी संभव नहीं होता है। हम लोग सुबह अखबार वाले की प्रतीक्षा करते हैं की अखबार वाला आये जिससे की हमें देश की साड़ी ताज़ी ख़बरें प्राप्त हों। देश के अशिक्षित व अनपढ़ लोग दूसरों के द्वारा ख़बरें सुन्ना बहुत पसंद करते हैं। संसार तीव्र गति से आगे बढ़ रहा है। सभी चीजें बड़ी ही तेजी से नए से नया रूप ले रही हैं। अखबार ज्ञान और जानकारी का एक बहुत ही सस्ता और बढियाँ स्रोत है। यह नै गतिविधियों को जानने का प्रमुख साधन है। (समाचार पत्र पर निबंध यहाँ पढ़ें।)

अखबार देश-विदेश की ख़बरें, झलकियां व मनोरंजन का प्रमुख साधन है। यह पढ़ने वालों को विभिन्न विषयों की जानकारी देता है। सिर्फ अखबार ही एक ऐसा साधन है जिसके द्वारा सरकार को जनता के बारे में और जनता को सरकार की नीतियों के बारे में पता चलता है। वर्गीकरण के माध्यम से जनता को रोजगार की प्राप्ति भी होती है। इसके द्वारा बिक्री को बढ़ाकर उद्योगों को भी प्रोत्साहन दिया जाता है। 

अच्छे अखबार हमेशा सामाजिक बुराइयों जैसे दहेज़ प्रथा को ख़त्म करने का प्रयास करते हैं, सामाजिक कुरीतियों जैसे बालविवाह, जात-पाँत आदि के भेद भाव को ख़त्म करने का प्रयास करते हैं। अखबार में बहुत से अच्छे लेख व उदाहरण छपते हैं जो पाठकों को अपने बारे में ज्ञान कराते हैं। इसमें कहानियां, कॉमिक्स, कार्टून्स, बहुत सी कवितायें एवं चित्र या तस्वीर होती हैं। जिसकी मदद से हमें मुश्किल चीजों को समाजगने का अवसर मिलता है। 

भारत में रोज अनेक अखबार हजारों भाषा में प्रकाशित होते हैं। हिंदी, अंग्रेजी तथा अन्य भाषाओँ के अखबार पढ़ने वाले लाखों लोग हैं। शिक्षा के प्रसार के कारण इनको पढ़े वाले लोगों की संख्या दिन-प्रतिदिन तेजी से बढ़ रही है जनसमुदाय में इसकी बहुत ही शक्ति और महत्त्व है। 

SHARE THIS

Author:

I am writing to express my concern over the Hindi Language. I have iven my views and thoughts about Hindi Language. Hindivyakran.com contains a large number of hindi litracy articles.

0 comments: