Monday, 4 November 2019

विदेशी मित्र को भारत भ्रमण करने के लिए आमंत्रित करते हुए पत्र

विदेशी मित्र को भारत भ्रमण करने के लिए आमंत्रित करते हुए पत्र

105, नवदीप
ग्रेटर कैलाश,
नई दिल्ली-110002
दिनांक-29-7-2017

प्रिय जॉन,
     कृपया अपने इस माह के 24 तारीख के पत्र के लिए जिसको मैंने अभी प्राप्त किया है, मेरा हार्दिक धन्यवाद स्वीकार करने का कष्ट करें। मैं हृदय से आपकी उन भावनाओं के प्रति कृतज्ञ हूं जो आपने मेरे जीवन बीमा निगम में प्रशासनिक अधिकारी के रूप में मेरी नियुक्ति हो जाने के कारण प्रकट की है। बहुत लंबे समय एवं निराशा के पश्चात मुझे अपनी पसंद की नौकरी मिल गई है जिसके लिए आपको एवम उन मित्रों को धन्यवाद जिनकी शुभकामनाएं मैंने बहुत अच्छी मात्रा में प्राप्त की है।
     अब जबकि मुझे रोजगार प्राप्त हो गया है, अब मुझे वित्तीय चिंताओं से मुक्ति मिल गई है। पिछले वर्ष मेरे माता पिता के साथ स्विट्जरलैण्ड का भ्रमण बहुत ही लाभदायक रहा विशेषकर इसलिए कि मेरा आप जैसे लोगों से संपर्क हो सका। आपसे प्रेरणा प्राप्त करके मैंने अपने को अध्ययन में लगा दिया और 1 वर्ष से कम की अवधि में ही बहुत अच्छी नौकरी प्राप्त करने में सफल हो सका।
     अब मेरी इच्छा है कि आप अगले वर्ष भारत में आए। मेरे इस पत्र को ही आमंत्रण समझा जाए। कृपया आश्वस्त हों कि भारत भ्रमण के दौरान प्रत्येक प्रकार की सुविधा उपलब्ध कराने का प्रयास किया जाएगा। यह मेरे लिए बड़े गर्व की बात होगी कि भारत में आप मेरे प्रतिष्ठित मेहमान के रूप में रहे।
     मेरी राय में आपके भारत भ्रमण के लिए नवंबर का माह उपयुक्त रहेगा, मेरी संस्तुति है कि आप भारत के सभी प्रसिद्ध स्थानों को देखें। भारत के बहुत से स्थान इस बात को सिद्ध करते हैं कि किस प्रकार भूत काल में भारतीय संस्कृति एवं सभ्यता पूर्णता के उच्चतम स्तर तक पहुंच चुकी थी। मुझे तनिक भी संदेह नहीं कि भारत की यात्रा आपके के लिए बड़ी प्रसन्नतापूर्ण एवं संतोषदायक सिद्ध होगी। मैं पुनः अगली शीत ऋतु में आपको भारत आने और मेरे यहां मेहमान बनने के लिए आमंत्रित करता हूं। पत्र के उत्तर की आशा में,
शुभकामनाओं सहित
भवनिष्ठ
यशपाल

SHARE THIS

Author:

I am writing to express my concern over the Hindi Language. I have iven my views and thoughts about Hindi Language. Hindivyakran.com contains a large number of hindi litracy articles.

0 comments: