Tuesday, 7 June 2022

मेरा विद्यालय निबंध हिंदी में for Class 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9 and 10

मेरा विद्यालय निबंध हिंदी में for Class 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9 and 10

    मेरा विद्यालय निबंध हिंदी में class 1, 2

    ➤ मेरे स्कूल का नाम सेंट मिशेल जोसफ स्कूल है।

    ➤ मेरे विद्यालय का भवन बहुत सुंदर और विशाल है।

    ➤ मेरा स्कूल शहर के सबसे प्रतिष्ठित स्कूलों में से एक है।

    ➤ मेरे विद्यालय में एक बड़ा प्रार्थना कक्ष है जहाँ हम प्रार्थना करते हैं।

    ➤ मेरे विद्यालय में एक बड़ा पुस्तकालय है जिसमें अनेक ज्ञानवर्धक पुस्तकें हैं।

    ➤ मेरे स्कूल के शिक्षक अपने-अपने विषयों के काफी जानकार हैं।

    ➤ मेरे विद्यालय में कई कक्षाएँ हैं जिनकी दीवारों को डिज़ाइनों से रंगा गया है।

    ➤ मेरे स्कूल में एक कंप्यूटर लैब है जहाँ हम कंप्यूटर सीखते हैं।

    ➤ इसमें एक बड़ी प्रयोगशाला भी है जहाँ हम रसायन विज्ञान के प्रयोग करते हैं।

    ➤ मेरे विद्यालय में एक बड़ा खेल का मैदान है जहाँ विद्यार्थी विभिन्न खेल खेलते हैं।

    मेरा विद्यालय निबंध हिंदी में class 3, 4

    मेरे स्कूल का नाम सेंट जोसेफ कॉन्वेंट है। मेरे विद्यालय का भवन आकार में बहुत बड़ा और विशाल है। मेरे विद्यालय में एक बड़ा सभागार है जहाँ हम प्रतिदिन प्रार्थना के लिए एकत्रित होते हैं। मेरे विद्यालय के शिक्षक स्वभाव से बहुत स्नेही और अनुशासित हैं। यहां मैंने कई दोस्त बनाए हैं जिनके साथ मैं ब्रेक टाइम के दौरान गेम खेलता हूं। एक विशाल खेल का मैदान है जहाँ सभी बच्चे विभिन्न प्रकार के आउटडोर खेल खेलते हैं। मेरे स्कूल में कई क्लासरूम हैं, प्रिंसिपल का कमरा और टीचर्स का कमरा। यहाँ, इसमें एक कंप्यूटर लैब भी है जहाँ हम सीखते हैं कि कंप्यूटर कैसे चलाना है। मुझे हर दिन स्कूल जाना अच्छा लगता है क्योंकि हर दिन मुझे नई चीजें सीखने को मिलती हैं।

    मेरा विद्यालय निबंध हिंदी में class 5, 6

    मैं बाल भवन विद्यालय में पढ़ता हूं। मेरा स्कूल मेरे शहर के सबसे पुराने स्कूलों में से एक है। शिक्षा के क्षेत्र में इसका बहुत अच्छा और सफल इतिहास रहा है। मेरा स्कूल मेरे घर के बहुत पास है। मैं अक्सर पैदल ही अपने स्कूल जाता हूं लेकिन कभी-कभी मेरे पिता अपने कार्यालय जाते समय मुझे स्कूल छोड़ देते हैं। मेरे विद्यालय की इमारत बहुत सुंदर है। इसमें एक सुंदर बगीचा और एक खेल का मैदान भी है।

    मैं रोजाना समय पर स्कूल जाता हूं। प्रार्थना में भाग लेने के बाद सभी विद्यार्थी अपनी-अपनी कक्षाओं में चले जाते हैं। मैं 5वीं कक्षा में पढ़ता हूं। मेरे शिक्षक बहुत दयालु और मददगार हैं। वे हमें धैर्य के साथ सिखाते हैं। मेरा स्कूल अनुशासन का सख्ती से पालन करता है। हमारे स्कूलों में विभिन्न सेमिनार और कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। छात्रों को उन सभी आयोजनों में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है। एक बड़ा सभागार है। यहां प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता, भाषण, वाद-विवाद आदि जैसे विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं।

    मेरे विद्यालय का एक बहुत बड़ा भवन है। मेरे विद्यालय का मुख्य द्वार बहुत बड़ा और चौड़ा है। दो सुरक्षा गार्ड हमेशा स्कूल गेट के सामने बैठते हैं। मेरे विद्यालय में बड़ा हरा-भरा खेल का मैदान है। मेरे स्कूल में तीन मंजिला इमारत है जिसमें कई कमरे हैं। मेरे विद्यालय में छात्रों के लिए एक बड़ी विज्ञान प्रयोगशाला, कंप्यूटर प्रयोगशाला और पुस्तकालय है।

    मुझे अपने स्कूल से बहुत प्यार है। मैं यहां हर दिन नई चीजें सीखता हूं। मुझे अपने स्कूल पर बहुत गर्व है। मैं अपने माता-पिता का शुक्रगुजार हूं जिन्होंने मुझे पढ़ने के लिए इतना बेहतरीन स्कूल चुना।

    मेरा विद्यालय निबंध हिंदी में class 7, 8

    मैं अपने शहर के प्रतिष्ठित स्कूल में पढ़ता हूं। मैं भाग्यशाली हूं कि मैं इस विद्यालय का छात्र हूं। मेरा स्कूल मेरे शहर के सबसे प्रसिद्ध स्कूलों में से एक है। यह बहुत ही सुंदर और विशाल है। मेरे विद्यालय में खेलकूद, अध्ययन और अन्य गतिविधियों की सभी सुविधाएं हैं। मेरा स्कूल तीन मंजिला इमारत है। यह एक उच्च माध्यमिक विद्यालय है जिसमें विज्ञान, कला और वाणिज्य विषय हैं। मेरे विद्यालय का वातावरण आनंदमय है। हमारे स्कूल में एक विशाल खेल का मैदान है जहाँ हम सभी छात्र बैडमिंटन, बास्केटबॉल, क्रिकेट आदि जैसे विभिन्न खेल खेलते हैं। हमारे पास एक अलग बास्केटबॉल और टेनिस कोर्ट है, साथ ही बच्चों के लिए एक छोटा और सुंदर बगीचा भी है।

    विद्यार्थी प्रतिदिन इन खेलों का अभ्यास करते हैं। स्कूल में इनडोर खेलों के लिए एक बड़ा स्विमिंग पूल और हॉल भी है। इस हॉल में छात्र टेबल टेनिस और शतरंज खेल सकते हैं। एक बड़ा स्केटिंग रिंग भी है। यहां, शारीरिक शिक्षक हमें इन सभी खेलों के लिए प्रशिक्षित करते हैं। ये खेल हमें न केवल फिट रखते हैं बल्कि हमारी सहनशक्ति और समन्वय को भी बढ़ाते हैं।

    मेरे स्कूल में अन्य गतिविधि कक्ष भी हैं जैसे संगीत कक्ष, कला कक्ष और नृत्य कक्ष। आर्ट रूम एक बड़ा हॉल है जिसमें बहुत सारे रंगीन चार्ट और विभिन्न प्रकार के पेंट हैं। छात्र अपनी कल्पना को चित्रित कर सकते हैं और यहां सुंदर कला बना सकते हैं। स्कूली जीवन में नृत्य और संगीत का भी बहुत महत्व है क्योंकि ये अभिव्यक्ति का माध्यम हैं।

    मेरे स्कूल में एक बड़ा पुस्तकालय है जहाँ हम सभी तरह-तरह की किताबें, उपन्यास और कॉमिक्स पढ़ते हैं। पुस्तकालय के अलावा, मेरे स्कूल में वैज्ञानिक प्रयोगशाला है जहाँ हम रसायन विज्ञान, भौतिकी और जीव विज्ञान के प्रयोग करते हैं। मैंने इन प्रयोगशालाओं में बहुत कुछ सीखा है। मेरे स्कूल में एक बड़ी कंप्यूटर लैब भी है जिसमें हम कंप्यूटर के बारे में सीखते हैं। मुझे गेम खेलना और कंप्यूटर पर नई चीजें सीखना बहुत पसंद है। कंप्यूटर लैब में, छात्र एमएस वर्ड और पॉवरपॉइंट चलाना सीखते हैं। इसे सुरक्षित रूप से कैसे उपयोग करें।

    मेरे स्कूल के सभी शिक्षक बहुत विनम्र, शिक्षित और अनुभवी हैं। हमारे शिक्षक न केवल हमें पढ़ाते हैं बल्कि हमें विभिन्न प्रतियोगिताओं के लिए तैयार भी करते हैं। इसलिए हमारा स्कूल हर साल विभिन्न प्रतियोगिताओं में कई पुरस्कार जीतता है। मैंने भी हॉकी चैंपियनशिप में अपने स्कूल का प्रतिनिधित्व किया है जिसमें मैंने दूसरा स्थान हासिल किया है।

    मेरे स्कूल के सभी शिक्षक बहुत समर्पित और समय के पाबंद हैं। वे हमेशा हमें अनुशासन सिखाते हैं और हमें समय पर स्कूल आने के लिए कहते हैं। हमारे शिक्षक हमसे प्यार करते हैं, और वे हमें बहुत ही सरल और आसान तरीके से पढ़ाते हैं। जब भी हम कुछ समझने में असफल होते हैं, तो वे हम पर चिल्लाए बिना हमें फिर से समझाने की कोशिश करते हैं। वे सभी छात्रों पर समान ध्यान देते हैं और इसीलिए मेरे स्कूल का एकेडमिक रिकॉर्ड बहुत अच्छा है।

    मेरे स्कूल का सबसे अच्छा हिस्सा इसका सभागार है जहां स्कूल के सभी कार्यक्रम और प्रतियोगिताएं होती हैं। हमारे स्कूल का ऑडिटोरियम शहर के सबसे अच्छे ऑडिटोरियम में से एक है, जिसमें शानदार साउंड और लाइट की सुविधा है। यह बहुत सारी सीटों के साथ पूरी तरह से वातानुकूलित है। हर साल, मेरा स्कूल एक वार्षिक सांस्कृतिक उत्सव का आयोजन करता है जो दो दिनों तक चलता है। इन दो दिनों के भीतर कई सांस्कृतिक कार्यक्रम होते हैं जैसे गायन, नृत्य, वाद-विवाद प्रतियोगिता, आदि। मुझे हर साल एक कविता लेखन प्रतियोगिता में भाग लेना पसंद है, और कई बार मैंने पुरस्कार भी जीते हैं। हर साल, हमारे स्कूल के टॉपर्स को इस वार्षिक सांस्कृतिक दिवस पर सम्मानित किया जाता है और हम सभी छात्र वार्षिक सांस्कृतिक दिवस के विभिन्न कार्यक्रमों में भाग लेना पसंद करते हैं।

    मेरे विद्यालय की सफलता और प्रसिद्धि का सबसे बड़ा कारण हमारे प्रधानाचार्य महोदय हैं। वह 50 साल के हैं, फिर भी बहुत सक्रिय और अनुशासित हैं। उनका व्यक्तित्व आकर्षक है और उनका ज्ञान प्रशंसनीय है। वह हमेशा हमें विभिन्न पाठ्येतर गतिविधियों में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। हम सभी का सौभाग्य है कि वे हमारे प्रधानाध्यापक हैं।

    मेरा विद्यालय निबंध हिंदी में class 9, 10

    प्रस्तावना – विद्यालय ज्ञान का पवित्र मंदिर होता है। इसे ‘मां भगवती सरस्वती का मन्दिर’ कहा जाता है। मैं चन्दौसी (मुरादाबाद) के बी०एम० विद्यालय में पढ़ता हूं।

    मेरा आदर्श विद्यालय एक कॉलोनी के माकेंट के पास स्थित है। यह शोरगुल से । दूर है एवं एक ऊंची चारदीवारी से घिरा हुआ है। इस स्कूल में पचास कमरे और एक बड़ा खेल का मैदान है। जहां विभिन्न खेल खेले जाते हैं। विद्यालय की दीवारें बाहर से चॉकलेटी तथा अन्दर से सफेद रंग से पुती हुई हैं। स्कूल के सभी कमरे बहुत खुले हुए तथा फर्नीचरयुक्त हैं। हमारे विद्यालय में फूलों की विविध किस्म से युक्त चार बगीचे हैं।

    विद्यालय की विशेषतायें – स्कूल में विज्ञान की तीन प्रयोगशालाएं और एक पुस्तकालय है जिसमें विभिन्न विषयों की हजारों कितावें हैं। यहां लगभग 1,500 विद्यार्थी पढ़ते हैं। यहां 60 अध्यापक हैं जो उच्च शिक्षित हैं तथा अपने विषयों को अच्छी तरह पढ़ाते हैं। मेरे प्रधानाचार्य मिस्टर सुन्दर शर्मा विद्यालय को प्रगति के रास्ते पर ले जाने के लिए हर समय प्रयत्नशील रहते हैं। वे विद्यार्थियों को पुत्रवत् तथा शिक्षकों को सहयोगी की भांति मानते हैं।

    बच्चों का स्वर्ग सामान  विकास – मेरे विद्यालय में पढ़ाई के अलावा बच्चों के सर्वागीण विकास की ओर ध्यान दिया जाता है। उन्हें खेल-कूद में हिस्सा लेने वाद-विवाद सांस्कृतिक कार्यक्रमों में भाग लेने के लिए प्रेरित किया जाता है। यही वजह है कि मण्डलीय क्रीड़ा प्रतियोगिता में हमारा विद्यालय अनेक पुरस्कार और ट्राफियां हर वर्ष जीतता है। उन ट्राफियों और शील्ड को कॉमन हॉल में, जहां शिक्षकगणों के साथ प्रधानाचार्य प्रत्येक सप्ताह मीटिंगें करते हैं, वहां सजाकर रखा गया है। उस कॉमन हॉल में चित्रकला प्रतियोगिता में पुरस्कार प्राप्त की गयी, विद्यार्थियों की बनाई ड्राइंग एण्ड पेण्टिंग्स दीवारों परशोभायमान हैं।उनकी संख्यातीस के आस-पास है। विद्यार्थियों द्वारा बनायीं वे पेण्टिंग्स विद्यालय की धरोहर और उन विद्यार्थियों की शान का प्रतीक हैं जिनके नाम पेण्टिंग्स के नीचे अंकित हैं साथ ही उस वर्ष का तथा प्रतियोगिता के नाम का भी अंकन है जिस प्रतियोगिता में शामिल होकर जिस वर्ष वे पुरस्कृत हुए हैं। जीती हुई ट्राफियों के नीचे भी वर्ष, प्रतियोगिता और विद्यार्थियों के नाम लिखे गये हैं।

    उपसंहार – मुझे अपने विद्यालय पर गर्व है। मुझे अपने विद्यालय के अनुशासन । पर भी गर्व है। यद्यपि मैं क्रीड़ा प्रतियोगिता व चित्रकला में हिस्सा नहीं लेता क्योंकि मेरा स्वास्थ्य क्रीड़ा प्रतियोगिता में हिस्सा लेने योग्य नहीं मेरी चित्रकला भी अच्छी नहीं ह। पर में विद्यालय का मेधावी छात्र हूं, अध्यापक और प्रधानाचार्य आशा करते हैं कि इस वर्ष यू०पी० बोर्ड की प्रदेश में मेरिट लिस्ट में मेरा नाम आयेगा। मैं पढ़ाई के क्षेत्र में अपने विद्यालय का नाम रोशन करना चाहता हूं।

    SHARE THIS

    Author:

    I am writing to express my concern over the Hindi Language. I have iven my views and thoughts about Hindi Language. Hindivyakran.com contains a large number of hindi litracy articles.

    0 comments: