Sunday, 12 June 2022

बच्चे और खिलौने वाले के बीच संवाद - Khilaune wale aur Bachche ke bich samvad lekhan

बच्चे और खिलौने वाले के बीच संवाद : In This article, We are providing Khilaune wale aur Bachche ke bich samvad lekhan. for Students and teachers.

    बच्चे और खिलौने वाले के बीच संवाद

    छोटे बालक का नाम राजू है। दुकानदार को वह काका कहकर पुकारता है।

    राजू ( मुस्कान लिए) :- प्रणाम काका , कैसे हैं आप।

    दुकानदार :- मै ठीक हूँ बेटा , लेकिन मै तुम्हें सुबह से यहाँ घुमते देख रहा हूँ , क्या बात है।

    राजू :- दरसल , मुझे वो हवाईजहाज चाहिए। जब से मैने देखा है , मुझे उसके साथ खेलने की बैचेनी सी हो गयी।

    दुकानदार :- तो खरीद लो ना !!

    राजू :- पहले आप कीमत तो बताइए , काका।

    दुकानदार ( हँसते हुए) :- बताता हूँ -बताता हूँ।

    ( हवाईजहाज के पिछले हिस्से को दुकानदार ने देखकर कहा ) छोटू !! ये तो मात्र २४०₹ कि है।

    राजू ( उदास मन से ) :- २४० ₹ 

    दुकानदार :- हाँ - हाँ , २४० ₹ 

    राजू ( उदास होकर लौटने लगा , उसके आँखो में आँसू भर गये थे) तभी,

    दूकानदार :- अरे , बिटवा लौट क्यों रहे हो , कूछ तो बोलते जाओ ।

    राजू ( रूका और आँसू पोछकर बोला ) :- काका । माँ ने केवल १५० ₹ दिये , वो भी जिद कर मिला है , और मैने जो खिलौना पसंद किया उसका दाम २४० ₹ है ( फिर राजू के आँखो में आँसू आ गये)

    दुकानदार :- अरे -रे !!! तू रो मत , जाके पिताजी से माँग लो , तब ले लेना अपना मनपसंद हवाईजहाज ।

    राजू :- पिताजी तो गूस्से हो जाते हैं , नही देंगे। ( अब राजू फूटफूटकर रोने लगा )

    दुकानदार :- अरे -रे , तू पहले रोना बंद कर। और ला तेरे पास जितने रूपयै हैं। ( दूकानदार संतुष्ठी भरे मन से बालक को देखकर बोले)

    राजू ( खूश होकर आंसू पोछते हूए थैले से अति उत्सुकता के साथ रुपयै निकालकर ) :- ये लिजिए काका । ( कूद-कूद कर बोला ) जल्दी से मुझे हवाईजहाज दीजिए ।।

    दुकानदार ( हँसते हुए) :- ठीक है - ठीक है। ( हवाईजहाज देकर ) येलो , तूम्हारा हवाईजहाज। अब इसमे बैठकर उड़ते रहो। हा - हा -हा।

    राजू ( मुस्कुराते हूए) :- मेरा हवाईजहाज। काका आप बहुत अच्छे है । अब मै आप से ही खिलौने लिया करूँगा।

    दुकानदार ( हँसते हुए) :- ठीक है , पर अगली बार पूरे पैसे लेकर आना।

    राजू :- ठीक है , काका। अब जा रहा हूँ। ( हवाईजहाज को सहलाते हुए )

    दुकानदार :- जा जल्दी , माँ राह देख रही होगी।

    राजू हाथ हिलाते हूए जा रहा है।


    खिलौने वाले और बच्चे के बीच संवाद 

    राजू : अंकल, ये बड़ी वाली गेंद कितने की है।

    दुकानदार : सौ रुपये की। राजू : इससे कम की नहीं है क्या?

    दुकानदार : नहीं बेटा, सारी खत्म हो गई। बस यह एक नीले रंग की बंची है, जो साठ रुपये की है।

    राजू : पर अंकल ! मुझे तो लाल रंग की चाहिए।

    दुकानदार : लाल रंग की तो है, पर वह थोड़ी छोटी | है। मैं तुम्हें अभी दिखाता हूँ।

    राजू : हाँ, ये ठीक है, ये कितने की है?

    दुकानदार : पचास की।

    राजू : ये लो, यह मुझे दे दीजिए।

    दुकानदार : यह रही तुम्हारी गेंद।

    राजू : धन्यवाद ।।


    संबंधित संवाद लेखन

    ग्राहक और दुकानदार के बीच संवाद

    दुकानदार और बच्चे के बीच संवाद

    फल विक्रेता और महिला/ ग्राहक के बीच संवाद

    महिला और सब्जीवाले के मध्य संवाद

    दो पड़ोसियों के बीच हुए विवाद पर संवाद लेखन


    SHARE THIS

    Author:

    I am writing to express my concern over the Hindi Language. I have iven my views and thoughts about Hindi Language. Hindivyakran.com contains a large number of hindi litracy articles.

    0 Comments: