एकात्मक शासन की विशेषताएं

Admin
0

एकात्मक शासन की विशेषताएं

(i) एकल नागरिकता - एकात्मक शासन में नागरिक एक राष्ट्र का 'नागरिक' होता है। इसमें राज्य, जिला इत्यादि की दोहरी नागरिकता का प्रावधान नहीं होता। उदाहरण-ब्रिटेन, भारत।

(ii) राज्यों का अभाव - एकात्मक शासन में समस्त राष्ट्र को विभिन्न इकाइयों में विभक्त किया नाता है परन्तु ये 'राज्य' नहीं होती क्योंकि ये स्वायत्त व सम्प्रभु नहीं होती अपितु इनकी देखरेख केन्द्र द्वारा नपने प्रतिनिधियों के माध्यम से की जाती है। उदाहरणार्थ, ब्रिटेन में काउण्टी' इकाई हैं, राज्य नहीं हैं।

(iii) शक्तिशाली केन्द्रीय सरकार - एकात्मक शासन में राष्ट्र की समस्त शक्ति एक एक शक्तिशाली केन्द्रीय सरकार' में निहित होती है। इसमें राज्य सरकारों' का अस्तित्व नहीं होता।

(iv) एक ही कानून व संविधान - एकात्मक शासन में समस्त राज्य-क्षेत्र में एक ही प्रकार के कानून प्रचलित होते हैं तथा एक ही संविधान के प्रति प्रतिबद्धता होती है। 

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !