Monday, 23 August 2021

आयु संरचना क्या है ? परिभाषा तथा महत्व - Age Composition in Hindi

आयु संरचना क्या है ? परिभाषा तथा महत्व - Age Composition in Hindi

यहाँ पढ़िए आयु संरचना / संघटन किसे कहते हैं, आयु संरचना की क्या परिभाषा होती है तथा आयु संरचना का क्या महत्व है।

आयु संरचना Age Structure

आयु संरचना प्रत्येक आयु वर्ग में जनसंख्या के अनुपात का प्रतिनिधित्व करती है। आयु संरचना को आयु संघटन (Age Structure) भी कहते हैं।देश के वर्तमान और भविष्य के विकास के लिए आबादी की आयु संरचना का महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ता है। आयु संरचना की सहायता से हमें कार्यशील जनसंख्या तथा आश्रित जनसंख्या की जानकारी मिलती है। सामान्यतः आबादी को तीन भागों में वर्गीकृत किया जाता है बच्चे 0-14 वर्ष, वयस्क 15-60 वर्ष और वृद्ध (60 वर्ष की उम्र से अधिक)। बच्चों तथा वृद्धों की आबादी को आश्रित आभादी कहा जाता है जबकि वयस्कों की आबादी को कार्यशील जनसँख्या कहा जाता है। जब आश्रित आबादी की संख्या बढ़ती है तो निर्भरता अनुपात ज्यादा हो जाता है। इसके कारण सरकार को बच्चों के विकास और वृद्धों के कल्याण पर ज्यादा खर्च करना पड़ता है। 

आयु संरचना का क्या महत्व है ?

आयु संरचना के महत्व को निम्न बिन्दुओं में समझा जा सकता है 

  1. आयु आयु संरचना का एक देश के जनांकिकीय तत्व के रूप में बड़ा महत्व है। आयु संरचना के आधार पर यह ज्ञात किया जा सकता है कि विभिन्न आयु वर्गों में लोगों का कितना प्रतिशत है।
  2. यदि जनसंख्या में 0-14 आयु वर्ग की जनसंख्या अधिक हे तो आश्रित जनसंख्या का अनुपात अधिक होगा। इसके कारण आर्थिक विकास धीमा होगा।
  3. 15-59 वर्ष के आयु में अधिक जनसंख्या होने पर कार्यशील अथवा अर्जक जनसंख्या अधिक होने की संभावना होती है जो देश के संसाधनों के दोहन करने में सहायक होती है।
  4. 60 वर्ष के ऊपर के आयु संरचना वर्ग में बढ़ती हुई जनसंख्या से वृद्धों की देखभाल पर अधिक व्यय होने का संकेत मिलता है। उपरोक्त तथ्यों से स्पष्ट है कि जनसंख्या के जनांकिकीय निर्धारक के रूप में आयु संरचना का अध्ययन बहुत महत्वपूर्ण है।

निर्भरता अनुपात

निर्भरता नौपार की गणना करने के लिए आश्रित जनसँख्या अर्थात बच्चों तथा वृद्धों के संख्या से योग को कार्यशील जनसँख्या यानि वयस्कों की कुल संख्या से विभाजित करके 100 से गुणा किया जाता है

निर्भरता अनुपात



SHARE THIS

Author:

I am writing to express my concern over the Hindi Language. I have iven my views and thoughts about Hindi Language. Hindivyakran.com contains a large number of hindi litracy articles.

0 comments: