Few Sentences on Arjun in Hindi

Admin
0

Few Sentences on Arjun in Hindi

In this article, we are providing 5, 10 and 20 easy lines on Arjun in Hindi for students of class 1, 2, 3, 4 and 5. इस लेख में पढ़े अर्जुन पर 5 से 10 तथा 15 वाक्य का निबंध।
Few Sentences on Arjun in Hindi

5 Sentences on Arjun in Hindi

  • अर्जुन महाभारत के मुख्य नायक तथा 5 पांडवों में से एक थे। 
  • अर्जुन महाराज पाण्डु एवं रानी कुन्ती के वह तीसरे पुत्र थे। 
  • अर्जुन को विश्व का सर्वश्रेष्ठ धनुर्धर माना जाता था।
  • अर्जुन ने गुरु द्रोणाचार्य से धनुर्विद्या की शिक्षा प्राप्त की। 
  • अर्जुन को 'सव्यसाची' तथा धनंजय आदि नामों से भी जाना जाता है। 
  • अर्जुन की सुभद्रा, उलूपी , द्रौपदी और चित्रांगदा नामक चार पत्नियाँ थीं।
  • अर्जुन ने धर्म की रक्षा के लिए कौरवों से युद्ध किया। 

10 Sentences on Arjun in Hindi

  • अर्जुन महाभारत के मुख्य नायक तथा 5 पांडवों में से एक थे। 
  • अर्जुन भगवान् कृष्ण अनन्य भक्त तथा उनके प्रिय सखा थे । 
  • अर्जुन महाराज पाण्डु एवं रानी कुन्ती के वह तीसरे पुत्र थे। 
  • अर्जुन को विश्व का सर्वश्रेष्ठ धनुर्धर माना जाता है।
  • अर्जुन ने गुरु द्रोणाचार्य से धनुर्विद्या की शिक्षा प्राप्त की। 
  • अर्जुन ने धर्म की रक्षा के लिए अपने ही परिवार से युद्ध किया। 
  • अर्जुन की सुभद्रा, उलूपी , द्रौपदी और चित्रांगदा नामक चार पत्नियाँ थीं।
  • अर्जुन के पास अग्नि देव का गांडीव नामक एक दिव्य धनुष था। 
  • कहा जाता है कि इस दिव्य धनुष के बाण कभी ख़त्म नहीं होते थे। 
  • अर्जुन एवं सुभद्रा का अभिमन्यु नाम का एक शूरवीर पुत्र था। 
  • अर्जुन पुरस्कार का नाम भी महान योद्धा अर्जुन के नाम पर रखा गया है।

15 Sentences on Arjun in Hindi

  • अर्जुन महाभारत के मुख्य नायक तथा 5 पांडवों में से एक थे। 
  • अर्जुन भगवान् कृष्ण अनन्य भक्त तथा के प्रिय सखा थे । 
  • अर्जुन महाराज पाण्डु एवं रानी कुन्ती के वह तीसरे पुत्र थे। 
  • अर्जुन को विश्व का सर्वश्रेष्ठ धनुर्धर माना जाता था।
  • अर्जुन ने गुरु द्रोणाचार्य से धनुर्विद्या की शिक्षा प्राप्त की। 
  • अर्जुन ने धर्म की रक्षा के लिए अपने ही परिवार से युद्ध किया। 
  • अर्जुन को 'सव्यसाची' तथा धनंजय आदि नामों से भी जाना जाता है। 
  • अर्जुन के क्रमशः कर्ण, युधिष्ठिर, भीम, नकुल, सहदेव नामक 5 भाई थे।
  • पुराणों में देवराज इंद्र को भी अर्जुन का पिता बताया गया है। 
  • अर्जुन की सुभद्रा, उलूपी , द्रौपदी और चित्रांगदा नामक चार पत्नियाँ थीं।
  • अर्जुन एवं सुभद्रा का अभिमन्यु नाम का एक शूरवीर पुत्र था। 
  • कुंती का एक नाम पृथा था, इसलिए अर्जुन 'पार्थ' भी कहा जाता है। 
  • अर्जुन के पास अग्नि देव का गांडीव नामक एक दिव्य धनुष था। 
  • कहा जाता है कि इस दिव्या धनुष के बाण कभी ख़त्म नहीं होते थे। 
  • अर्जुन पुरस्कार का नाम भी महान योद्धा अर्जुन के नाम पर रखा गया है।

20 Sentences on Arjun in Hindi

  • अर्जुन महाभारत के मुख्य नायक तथा 5 पांडवों में से एक थे। 
  • अर्जुन भगवान् कृष्ण अनन्य भक्त तथा के प्रिय सखा थे । 
  • अर्जुन महाराज पाण्डु एवं रानी कुन्ती के वह तीसरे पुत्र थे। 
  • अर्जुन ने गुरु द्रोणाचार्य से धनुर्विद्या की शिक्षा प्राप्त की। 
  • अर्जुन सबसे अच्छे धनुर्धर और द्रोणाचार्य के सबसे प्रिय शिष्य थे। 
  • अर्जुन को विश्व का सर्वश्रेष्ठ धनुर्धर माना जाता था।
  • अर्जुन ने धर्म की रक्षा के लिए अपने ही परिवार से युद्ध किया। 
  • पुराणों में देवराज इंद्र को भी अर्जुन का पिता बताया गया है। 
  • कुंती का एक नाम पृथा था, इसलिए अर्जुन 'पार्थ' भी कहा जाता है। 
  • अर्जुन को 'सव्यसाची' तथा धनंजय आदि नामों से भी जाना जाता है। 
  • अर्जुन के क्रमशः कर्ण, युधिष्ठिर, भीम, नकुल, सहदेव नामक 5 भाई थे।
  • महाभारत के महान योद्धा सूर्यपुत्र कर्ण भी अर्जुन के बड़े भाई थे। 
  • अर्जुन की सुभद्रा, उलूपी , द्रौपदी और चित्रांगदा नामक चार पत्नियाँ थीं।
  • अर्जुन एवं सुभद्रा का अभिमन्यु नाम का एक शूरवीर पुत्र था। 
  • अर्जुन पुरस्कार का नाम भी महान योद्धा अर्जुन के नाम पर रखा गया है।
  • अर्जुन के पास अग्नि देव का गांडीव नामक एक दिव्य धनुष था। 
  • कहा जाता है कि इस दिव्या धनुष के बाण कभी ख़त्म नहीं होते थे। 
  • युद्ध में विषादग्रस्त होने पर कृष्ण ने अर्जुन को गीता का उपदेश दिया। 
  • भगवान् श्रीकृष्ण को नारायण तथा अर्जुन को नर माना जाता है। 
  • इस प्रकार अर्जुन साहस, धैर्य और पराक्रम जैसे गुणों से ओत-प्रोत थे। 
Read also : 

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !