Few Lines on King Dashrath in Hindi

Admin
0

Few Lines on King Dashrath in Hindi

In this article, we are providing 5, 10 and 20 easy lines on Dashrath in Hindi for students of class 1, 2, 3, 4 and 5. इस लेख में पढ़े राजा दशरथ पर 5 से 10 तथा 15 वाक्य का निबंध।

5 Lines on King Dashrath in Hindi

  • राजा दशरथ का जन्म वैवस्वत मनु के पुत्र इक्ष्वाकु के कुल में हुआ था।
  • राजा दशरथ के माता-पिता का नाम क्रमशः राजा अज और रानी इंदुमती था।
  • राजा दशरथ की तीन पत्नियाँ थीं – कौशल्या, सुमित्रा तथा कैकेयी।
  • राजा दशरथ  के राम, लक्ष्मण, भारत तथा शत्रुघ्न नामक 4 पुत्र थे। 
  • राजा दशरथ के पुत्र श्री राम स्वयं भगवान् श्रीहरि विष्णु के अवतार थे। 
  • राजा दशरथ कौशल प्रदेश के राजा थे जिसकी राजधानी अयोध्या थी। 

10 Lines on King Dashrath in Hindi

  • दशरथ का जन्म वैवस्वत मनु के पुत्र इक्ष्वाकु के कुल में हुआ था।
  • राजा दशरथ के माता-पिता का नाम क्रमशः राजा अज और रानी इंदुमती था।
  • राजा दशरथ की तीन पत्नियाँ थीं – कौशल्या, सुमित्रा तथा कैकेयी।
  • राजा दशरथ  के राम, लक्ष्मण, भारत तथा शत्रुघ्न नामक 4 पुत्र थे। 
  • राजा दशरथ के पुत्र श्री राम स्वयं भगवान् श्रीहरि विष्णु के अवतार थे। 
  • राजा दशरथ की शांता और कुकबी नामक दो पुत्रियां थीं। ।
  • राजा दशरथ ने शांता को अंगदेश के राजा रोमपद को दे दिया था।
  • राजा दशरथ ने देवताओं की ओर से कई बार असुरों को युद्ध में पराजित किया।
  • राजा दशरथ कौशल प्रदेश के राजा थे जिसकी राजधानी अयोध्या थी। 
  • राजा दशरथ एक वीर, साहसी, न्यायप्रिय, पराक्रमी तथा प्रजा पालक राजा थे। 

15 Lines on King Dashrath in Hindi

  • दशरथ का जन्म वैवस्वत मनु के पुत्र इक्ष्वाकु के कुल में हुआ था।
  • राजा दशरथ के माता-पिता का नाम क्रमशः राजा अज और रानी इंदुमती था।
  • राजा दशरथ की तीन पत्नियाँ थीं – कौशल्या, सुमित्रा तथा कैकेयी।
  • राजा दशरथ  के राम, लक्ष्मण, भारत तथा शत्रुघ्न नामक 4 पुत्र थे। 
  • राजा दशरथ के पुत्र श्री राम स्वयं भगवान् श्रीहरि विष्णु के अवतार थे। 
  • राजा दशरथ की शांता और कुकबी नामक दो पुत्रियां थीं। ।
  • राजा दशरथ ने शांता को अंगदेश के राजा रोमपद को दे दिया था।
  • राजा दशरथ ने देवताओं की ओर से कई बार असुरों को युद्ध में पराजित किया।
  • राजा दशरथ कौशल प्रदेश के राजा थे जिसकी राजधानी अयोध्या थी। 
  • राजा दशरथ एक वीर, साहसी, न्यायप्रिय, पराक्रमी तथा प्रजा पालक राजा थे। 
  • राजा दशरथ के कुलगुरु वशिष्ठ महर्षि थे जोकि महान सप्तर्षि में से एक थे। 
  • राजा दशरथ को दसों दिशाओं में रथ चला सकने के कारण दशरथ कहा गया 
  • राजा दशरथ ने कैकेयी को दिए वचन के अनुसार राम को 14 वर्ष का वनवास का  का आदेश दिया। 
  • मान्यता के अनुसार राजा दशरथ ने श्रीराम के वियोग में अपने प्राण त्याग दिए। 
  • इसीलिए रामायण में राजा दशरथ को एक वचन परायण राजा के रूप में चित्रित किया गया है। 
Read also : 

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !