Sunday, 26 September 2021

अ उपसर्ग से बनने वाले शब्द - A Upsarg se Shabd in Hindi

अ उपसर्ग से बनने वाले शब्द - A Upsarg se Shabd in Hindi

    इस लेख में पढ़िए उन शब्दों की सूची जो अ उपसर्ग से बनते हैं। अ उपसर्ग से कई शब्द बनाए जा सकते हैं। नीचे देखें अ उपसर्ग से युक्त शब्दों की सम्पूर्ण सूची। Read here A upsarg lagakar banaye gaye shabd.

    अ उपसर्ग से शब्द (A Upsarg Se Yukt Shabd)

    उपसर्ग अ से शब्द अर्थ
    अकंटक बिना काँटे का, निर्विघ्न, शत्रुरहित
    अकथ जो कहने योग्य न हो
    अकथनीय जो कहने योग्य न हो; गोपनीय 
    अकथित जिसे कहा न गया हो
    अकर्ण जिसके कान न हों; बहरा
    अकर्तव्य अनुचित; अकरणीय
    अकर्ता निर्लिप्त, प्रयासहीन
    अकर्म कर्महीनता; निष्क्रियता
    अकलंक कलंक रहित; बेदाग; निर्दोष; निष्कलंक 
    अकल्पअतुलनीय, अनियंत्रित, असंयत
    अकलुष निर्मल हृदय; स्वच्छ; मलहीन
    अकल्पनीय असंभव, चमत्कारपूर्ण, आश्चर्यजनक
    अकल्पित अविचारित
    अकल्याण अहित; अमंगल 
    अकशेरुकी बिना रीढ़ वाले जंतु
    अकाज कार्य का न होना; हर्ज़; नुकसान 
    अकाट्य जिसकी कोई काट न हो
    अकारण बिना कारण के; बेमतलब
    अकार्बनिक जिसमें कार्बन तत्व न हो
    अकार्य बुरा या अनुचित कार्य
    अकाल सूखा पड़ना; अनावृष्टि
    अकिंचन अतिनिर्धन; दरिद्र
    अकिंचित जिसकी कोई गिनती न हो
    अकीर्ति अपयश देने वाला
    अकुत्सित जो कुत्सित या विकृत न हो
    अकुशल अप्रशिक्षित; नौसिखिया
    अकूट जो धोखा न दे; छलरहित
    अकृत न किया हुआ
    अकृतज्ञ कृतघ्न; अहसानफ़रामोश
    अकृतात्मा अज्ञानी, असंस्कृत
    अकृतार्थ जो कृतार्थ न हुआ हो
    अकृत्य जो करने योग्य न हो
    अकृत्रिम स्वाभाविक; प्राकृतिक
    अकृपण जो कंजूस न हो; उदार; दानशील
    अकृपा अनुग्रह या कृपा का न होना
    अक्रम अव्यवस्थित 
    अक्रमिक क्रमहीन
    अक्रिया कर्तव्यहीनता, कर्महीनता
    अक्रूर जो क्रूर न हो; अहिंसक
    अक्रोध क्रोध का न होना
    अक्षम्य जो क्षमा के योग्य न हो
    अक्षय जिसका क्षय न हो
    अक्षीण जो क्षीण अर्थात दुर्बल न हो 
    अक्षुद्र जो ओछा या तुच्छ न हो
    अक्षुब्ध क्षोभरहित; शांत; उत्तेजनाहीन
    अक्षेत्र क्षेत्र का अभाव 
    अक्षेम कल्याण का अभाव
    अक्षोभशांत; गंभीर; धीर
    अखंड जिसके खंड न हों; संपूर्ण; साबुत
    अखंडित जिसका खंडन न हुआ हो; अभग्न
    अखाद्य जो खाए जाने के योग्य न हो
    अखिल सारा; संपूर्ण; समस्त
    अख्याति अख्यात या अप्रसिद्ध 
    अगज पर्वत से उत्पन्न
    अगणनीय जो गणना के योग्य न हो।
    अगणित जिसे गिना न जा सके
    अगति बुरी गति; दुर्गति; दुरवस्था
    अगम जहाँ कोई पहुँच न सके
    अगम्य जहाँ पहुँचना बहुत कठिन हो
    अगर्व अहंकार रहित 
    अगाड़ी सामने; समक्ष 
    अगुण गुणों से रहित
    अगुणीगुणहीन; अगुण
    अगुरु जो भारी न हो; हलका 
    अगूढ़ जो गूढ़ या छिपा न हो; प्रकट
    अगोचर अदृश्य
    अगोरा रखवाली, पहरेदारी
    अचक्षु नेत्रहीन; अंधा
    अचर अचल; स्थावर; जड़
    अचल स्थिर; गतिहीन
    अचातुर्य अनाड़ीपन; अकुशलता
    अचार एक चटपटा भारतीय व्यंजन
    अचालक नॉन-कंडक्टर
    अचिंतनीय जिसकी चिंतन न हो सके
    अचिंतित अविचारित 
    अचित्त बुद्धिरहित; अज्ञ 
    अचित्र जो आकारहीन हो
    अचिर जो स्थायी न हो
    अचूक प्राणहीन, बेहोश
    अचेत जड़, असावधान
    अचेतन बेहोश; बेसुध 
    अचेष्ट प्रयासहीन; उदासीन
    अचैतन्य बेहोश; मूर्छित
    अच्युत जिसका नाश न हो; शाश्वत
    अछोर जिसका कोई ओर-छोर न हो
    अछोह निष्ठुर; निर्दय
    अजड़ जो जड़ न हो; चेतन
    अजन जन से रहित; जनहीन
    अजन्मा जिसने जन्म न लिया हो
    अजपा जिसका जप न किया जाए
    अजय जिसे जीता न जा सके
    अजात अनुत्पन्न; जन्मरहित
    अज्ञात जो ज्ञात न हो
    अज्ञानी  जिसे ज्ञान न हो
    अतर्क जिसमें कोई तर्क न हो
    अतार्किक तर्कविहीन

    SHARE THIS

    Author:

    I am writing to express my concern over the Hindi Language. I have iven my views and thoughts about Hindi Language. Hindivyakran.com contains a large number of hindi litracy articles.

    0 comments: