कान बजना मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग(Kaan Bajna Muhavare ka Arth aur Vakya Prayog)

Admin
0

कान बजना मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग (Kaan Bajna Muhavare ka Arth aur Vakya Prayog)

कान बजना मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग (Kaan Bajna Muhavare ka Arth aur Vakya Prayog)

कान बजना मुहावरे का अर्थ - कुछ सुनाई देने का भ्रम होना, किसी के न बोलने पर भी सुनना, कान में सांय-सांय का शब्द सुनाई देना। 

Kaan Bajna Muhavare ka Arth - Chugli karna, Bhadkana, Kisi ke prati dwesh paida karna, 

कान बजना मुहावरे का वाक्य प्रयोग 

वाक्य प्रयोग : मैंने तो कुछ नहीं बोला पर लगता है कि तुम्हारे कान बज रहे हैं। 

वाक्य प्रयोग : तुम अपना इलाज डॉक्टर से कराओ, जब से तुम्हे जुकाम हुआ है, तुम्हारे कान बजने लगे हैं। 

वाक्य प्रयोग : कल अध्यापक जी ने नरेश को ऐसा थप्पड़ मारा की अभी तक उसके कान बज रहे हैं। 

वाक्य प्रयोग : जब से राधा के घर में नयी बहू आयी है, तब से राधा से कान कुछ ज्यादा ही बजने लगे हैं। 

यहाँ हमने "कान बजना मुहावरे का अर्थ" और उसका वाक्य प्रयोग समझाया है। कान बजना मुहावरे का अर्थ होता है कुछ सुनाई देने का भ्रम होना, किसी के न बोलने पर भी सुनना, कान में सांय-सांय का शब्द सुनाई देना। यदि किसी व्यक्ति को बेवजह सुनाई देने का भ्रम हो तो इसे कान बजना कहते हैं। 

Tags

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !