Sunday, 15 August 2021

जनक शब्द रूप संस्कृत में – Janak Shabd Roop In Sanskrit

जनक शब्द रूप संस्कृत में – Janak Shabd Roop In Sanskrit

यहां पढ़ें जनक शब्द रूप की सभी विभक्ति और वचन संस्कृत भाषा में। जनक शब्द का अर्थ होता है 'पिता'। जनक शब्द रूप अकारांत पुल्लिंग होता है। बालक, राम, ब्राह्मण, वृक्ष, सूर्य, सुर, असुर, अश्व, मानव, गज, क्षत्रिय, शूद्र, छात्र, शिष्य, दिवस, लोक, ईश्वर, आदि के शब्द रूप भी जनक शब्द रूप के अनुसार ही बनाए जाते है।

जनक शब्द रूप संस्कृत में (Janak Shabd Roop in Sanskrit)

विभक्तिएकवचनद्विवचनबहुवचन
प्रथमाजनकःजनकौजनकाः
द्वितीयाजनकम्जनकौजनकन्
तृतीयाजनकेनजनकाभ्याम्जनकैः
चतुर्थीजनकायजनकाभ्याम्जनकेभ्यः
पंचमीजनकात्जनकाभ्याम्जनकेभ्यः
षष्‍ठीजनकस्यजनकयोःजनकानाम्
सप्‍तमीजनकेजनकयोःजनकेषु
सम्बोधनहे जनक!हे जनकौ!हे जनकाः!
जनक शब्द रूप संस्कृत में – Janak Shabd Roop In Sanskrit

संस्कृत के अन्य शब्द रूप

पयस् शब्द रूप संस्कृत में

यत् शब्द रूप स्त्रीलिंग संस्कृत में

सर्व शब्द रूप नपुंसकलिंग संस्कृत में

यत् शब्द रूप पुल्लिंग संस्कृत में

गिर् शब्द रूप संस्कृत में

पथिन् शब्द रूप संस्कृत में

सर्व शब्द रूप स्त्रीलिंग संस्कृत में

सर्व शब्द रूप पुल्लिंग संस्कृत में

सर्व शब्द रूप नपुंसकलिंग संस्कृत में

आत्मा / आत्मन् शब्द रूप संस्कृत में

द्यौ शब्द रूप संस्कृत में

भवत् शब्द रूप पुल्लिंग संस्कृत में

नौ शब्द रूप संस्कृत में

विद्वस् शब्द रूप संस्कृत में

गच्छत् शब्द रूप संस्कृत में

वाच्/वाक् शब्द रूप संस्कृत में

राजन् शब्द रूप संस्कृत में

अक्षि शब्द रूप संस्कृत में

यत् शब्द रूप नपुंसकलिंग संस्कृत में

यत् शब्द रूप स्त्रीलिंग संस्कृत में

अहन् शब्द रूप संस्कृत में

पुम्स् शब्द रूप संस्कृत में


SHARE THIS

Author:

I am writing to express my concern over the Hindi Language. I have iven my views and thoughts about Hindi Language. Hindivyakran.com contains a large number of hindi litracy articles.

0 comments: