Thursday, 16 January 2020

पवन चक्की पर निबंध Essay on Windmill in Hindi

पवन चक्की पर निबंध Essay on Windmill in Hindi

पवन चक्की पर निबंध Essay on Windmill in Hindi पवन चक्की वह मशीन है जो हवा के बहाव की उर्जा को विद्युत उर्जा में बदल देती है। यह ऊर्जा का एक नवीकरणीय स्रोत है। संसार के अनेक भागों में पवनशक्ति का प्रयोग बिजली उत्पादन में, आटे की चक्की चलाने में, पानी खींचने में तथा अनेक अन्य उद्योगों में होता है।पवन चक्की से बिजली निर्माण 1980 में सर्वप्रथम डेनमार्क में आरंभ हुआ जहां उसे सरकार से काफी संरक्षण प्राप्त हुआ। यद्यपि आज विश्व में पैदा की गई कुल बिजली के केवल 1 प्रतिशत के लिए पवन शक्ति जिम्मेदार है।
पवन चक्की पर निबंध Essay on Windmill in Hindi
पवन चक्की कई तरह की होती हैं, लेकिन जो सबसे अधिक प्रचलित हैं उनमें एक विशाल खंभे के ऊपरी भाग पर एक सिलेंडर लगा होता है जिसके मुंह पर 20 से 30 फ़ुट लम्बे और 3 से 4 फ़ुट चौड़े पंखे लगे रहते हैं। पवनचक्की के टावरों को स्टील और कंक्रीट से बनाया गया है। जब बहती हुई हवा पवन चक्की के पंखों से टकराती है तब पवन उन पर बल आरोपित करती है जिसके कारण पवनचक्की के पंखे घूमने लगते है। इससे पैदा हुई ऊर्जा को जेनेरेटर द्वारा बिजली में परिवर्तित किया जाता है।

भारत उच्च स्तर की पवन चक्कियां बनाने लगा है। देश में 20 से अधिक कंपनियां इस व्यवसाय में लगी हैं। भारत का पवन ऊर्जा द्वारा विद्युत उत्पादन करने वाले देशों में पाँचवाँ स्थान है। तमिलनाडु राज्य, पवन से उर्जा उत्पन्न करने के मामले में अग्रणी है। आनेवाले दिनों में पवन शक्ति अनेक देशों के लिए ऊर्जा का एक महत्वपूर्ण स्रोत होगा। 

पर्यावरणीय दृष्टि से पवन शक्ति एकदम साफ-सुथरा है। आजकल कोयला जलाकर अधिकांश बिजली बनाई जाती है, जिससे कार्बन डाइऑक्साइड (CO2) और मीथेन (CH4) जैसी गैसें उत्हैसर्जित होती हैं।  इन गैसों को जलवायु परिवर्तन के लिए जिम्मेदार माना जाता है। इसके विपरीत, पवनचक्की बिजली पैदा करते समय कोई ग्रीनहाउस गैस नहीं बनाती हैं।

SHARE THIS

Author:

I am writing to express my concern over the Hindi Language. I have iven my views and thoughts about Hindi Language. Hindivyakran.com contains a large number of hindi litracy articles.

0 comments: