Few Sentences on Kathputli in Hindi

Admin
0

Few Sentences on Kathputli in Hindi

In this article, we are providing 5, 10 and 20 easy lines on Kathputli in Hindi for students of class 1, 2, 3, 4 and 5. इस लेख में पढ़े कठपुतली पर 5 से 10 तथा 20 वाक्य का निबंध।

5 Sentences on Kathputli in Hindi

  1. कठपुतली का खेल बच्चों को बहुत पसंद होता हैं। 
  2. कठपुतली का खेल अत्यंत प्राचीन नाटकीय खेल है। 
  3. कठपुतली का अर्थ है काठ की बनी हुई पुतली। 
  4. कठपुतली को अंग्रेजी में पपेट कहा जाता है। 
  5. कठपुतली के खेल की मूल भावना मनोरंजन करना है। 
  6. इस खेल में आपसी तालमेल होना बहुत जरुरी है। 

10 Sentences on Kathputli in Hindi

  1. कठपुतली की कला की उत्पत्ति भारत में हुई थी। 
  2. कठपुतली का अर्थ है काठ की बनी हुई पुतली। 
  3. कठपुतली को अंग्रेजी में पपेट कहा जाता है। 
  4. कठपुतली नियंत्रित करने वाले व्यक्ति को सूत्रधार कहते हैं। 
  5. कठपुतली के खेल की मूल भावना मनोरंजन करना है। 
  6. इस खेल में आपसी तालमेल होना बहुत जरुरी है। 
  7. कठपुतली का खेल अत्यंत प्राचीन नाटकीय खेल है। 
  8. कठपुतली नाच की शुरुआत ढोलक की थाप से होती है। 
  9. कठपुतली नृत्य को लोकनाट्य की ही एक शैली माना गया है। 
  10. कठपुतली राजस्थान की परम्परागत लोक कला है। 
  11. यहां नागौर के अमरसिंह राठौर का संवाद काफी लोकप्रिय है। 

20 Sentences on Kathputli in Hindi

  1. कठपुतली का अर्थ है काठ की बनी हुई पुतली। 
  2. कठपुतली को अंग्रेजी में पपेट कहा जाता है। 
  3. कठपुतली के खेल की मूल भावना मनोरंजन करना है। 
  4. इस खेल में आपसी तालमेल होना बहुत जरुरी है। 
  5. कठपुतली का खेल बच्चों को बहुत पसंद होता हैं। 
  6. कठपुतली का खेल अत्यंत प्राचीन नाटकीय खेल है। 
  7. कठपुतली नृत्य को लोकनाट्य की ही एक शैली माना गया है। 
  8. हमारे देश में तो यह कला लगभग दो हज़ार वर्ष पुरानी है। 
  9. कठपुतली राजस्थान की बहुत प्राचीन लोक कला है। 
  10. ओडिशा में भी परम्परागत हस्त कठपुतली का ही प्रचलन है। 
  11. कठपुतली नाच अलग-अलग विषयों पर आधारित होता है। 
  12. इनमें नागौर के अमरसिंह राठौर का संवाद काफी लोकप्रिय है। 
  13. कठपुतली नियंत्रित करने वाले व्यक्ती को सूत्रधार कहते हैं। 
  14. कठपुतली नचाने वाला गीत गाता है और संवाद बोलता है। 
  15. पारम्परिक कठपुतली कार्यक्रम में संगीत का बहुत महत्व होता है। 
  16. कठपुतली नाच की शुरुआत ढोलक की थाप से होती है। 
  17. कर्नाटक में स्ट्रिंग कठपुतलियों को गोमबेयत्ता कहा जाता है। 
  18. इस कला के जरिये नैतिक और सामाजिक शिक्षा का प्रचार-प्रसार भी होता है। 
  19. वर्तमान में कठपुतली शो टेलीविजन में काफी लोकप्रिय हो रहे हैं। 
  20. आज कठपुतली कला के बड़े-बड़े थियेटर में शोज किए जाते हैं। 
  21. यह कला चीन, रूस, इंग्लैंड, अमरीका, जापान में पहुंच चुकी है। 

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !