Thursday, 18 July 2019

Yuri Gagarin Biography in Hindi प्रथम अन्तरिक्ष यात्री यूरी गागरिन की जीवनी

Yuri Gagarin Biography in Hindi प्रथम अन्तरिक्ष यात्री यूरी गागरिन की जीवनी

यूरी गगारिन वह पहले व्‍यक्‍ति थे, जो आंतरिक्ष में गये थे। उन्होंने Vostok 1 नामक अन्तरिक्ष यान में अपनी यात्रा की थी। उनका जन्‍म 9 मार्च, 1934 को रूस के एक सुदूर स्‍थित क्लुशिनो गांव में हुआ था। वो चार भाई-बहन थे जहा उनके पिता एलेक्सी एवोंविच गागरिन बढाई का काम किया करते थे और माँ अन्ना टिमोफेय्ना  गागरिन दूध की डेयरी में काम करती थी। बचपन से ही गणित और भौतिकी में यूरी की बहुत रुचि थी। उन्‍हें ऐसे स्‍कूल में भर्ती कराया गया, जिसमें एक बड़ी सी एयरक्रॉफ्ट फैक्‍टरी थी। 
Yuri Gagarin Biography in Hindi प्रथम अन्तरिक्ष यात्री यूरी गागरिन की जीवनी

स्‍कूल में उन्‍हें अवसर प्राप्‍त था कि वह प्रयोगशालाओं में काम देख सकें। वह खिड़कियों से देखते कि नये एयरक्राफ्ट अपनी विमानशालाओं से अपने पहियों पर आते हैं, रनवे पर पहुंचते हैं और टेस्‍ट पायलटों द्वारा उड़ाए जाते हैं। 

उनका स्‍कूल उनके लिये प्रेरणादायी स्‍थल था। प्रयोगशालाओं में काम होते देखना उन्‍हें अत्‍यधिक प्रेरित करता था। जल्‍दी ही उनकी एक टेस्‍ट पायलट बनने की महत्‍वकांक्षा विकसित हो गई। गगारिन अक्‍सर इन पायलटों की सराहना करते। इसी तरह का सपना दूसरे विद्यार्थियों के मन में भी पल रहा था और रिक्‍त स्‍थान सीमित थे। 

यूरी ने एक कारखाने में इंजन के भागों के मोल्‍डर की नौकरी कर ली और उसके साथ ही रात में अपनी पढ़ाई जारी रखी। तकनीकों के प्रति आकर्षण ने उनके सपने को सच कर दिया और उन्‍हें सैराटेव के इंडिस्‍ट्रियल कॉलेज में दाखिला मिल गया। वहां एयरोड्रॉम और एक फ्लाइंग क्‍लब भी था। उन्‍होंने क्‍लब की सदस्‍यता ले ली। 

1955 में जब उनकी उम्र इक्‍कीस वर्ष थी, उन्‍होंने एयफोर्स ट्रेनिंग सेंटर में विद्यार्थी के रूप में दाखिला ले लिया। दो वर्षों में वह वहां से उच्च श्रेणी से पास हुए और रशियन एयरफोर्स में बतौर पायलट नियुक्‍त हो गए। उनकी मुलाकात मेडिकल की एक छात्रा वैलेनटाइना इवानोवा से हुई, जिससे उन्‍होंने शादी कर ली। 

1968 में यूरी का जेट मिग १५ (MiG-15) ट्रेनर क्रैश हो गया और इस दुर्घटना में चौंतीस वर्ष उम्र में ही उनकी मृत्‍यु हो गई।  

SHARE THIS

Author:

I am writing to express my concern over the Hindi Language. I have iven my views and thoughts about Hindi Language. Hindivyakran.com contains a large number of hindi litracy articles.

0 comments: