Friday, 19 July 2019

लुईस कैरोल की जीवनी। Lewis carroll biography in Hindi

लुईस कैरोल की जीवनी। Lewis carroll biography in Hindi

लुइस कैरोल अंग्रेजी लेखक और गणितज्ञ चार्ल्‍स लुटविग डॉजसन का छद्म नाम था। उनका जन्‍म 27 जनवरी, 1832 में हुआ। वह विशेष रूप में अपनी कृति "एलिस एडवेंचर्स वन वंडरलैंड" (1865) और " थ्रू द लुकिंग ग्‍लासेस" (1872) के लिये जाने जाते हैं। कैरोल को जिन चीजों के प्रति आकर्षण था, उनमें फोटोग्रॉफी सबसे आगे थी। उन्‍हें बच्‍चों की फोटोग्रॉफी में विशेष उत्‍कृष्‍टा प्राप्‍त थी। 

लुईस कैरोल की जीवनी। Lewis carroll biography in Hindi
वह एक पादरी के बेटे थे और उनके ग्‍यारह बच्‍चों में सबसे बड़े थे। कैरोल ने छोटी उम्र से ही जादू दिखाकर, कठपुतली शो करके और छोटे सामाचार-पत्रों के लिये कविताएं लिखकर मनोंरजन करना शुरू कर दिया था।1846 में दर्शन ने रग्बी स्कूल में दाखिला लिया। उसके बाद उन्होंने क्राइस्ट चर्च कॉलेज ऑक्सफोर्ड से स्नातक किया। 1854 में उन्हें गणित में डिग्री प्रदान की गई और उसके अगले साल वह क्राइस्ट चर्च कॉलेज में गणित विषय के लेक्चरर बन गए। 

1856 में डॉजसन ने पत्रिका द ट्रेन को एक पैरोडी प्रस्तुत की। द ट्रेन के संपादक एडमंड येट्स ने डोडसन द्वारा प्रस्तुत संभावित पेन नामों की एक सूची से छद्म नाम "लुईस कैरोल" चुना। उसी वर्ष कैरोल ने पहली बार क्रइस्‍ट चर्च के डीन की बेटी एलिस प्लेसेन्स लिडेल से मुलाकात की।

4 जुलाई, 1862 को डॉजसन ने एलिस लिडेल और कई अन्य लोगों के साथ गार्डन स्टोर तक की नाव यात्रा की। इस यात्रा के दौरान डॉटसन ने बच्चों को एक कहानी सुनाकर समय गुजार दिया। बाद में उन्होंने इसी कहानी को संशोधित किया और इसे एलिस एडवेंचर्स अंडरग्राउंड नाम दिया। जब उन्होंने 1863 में पुस्तक समाप्त की तो उनके मित्रों और परिवार जनों ने उन्हें इसे प्रकाशित करने का आग्रह किया

इस पुस्तक का नाम बदलकर ऐलिस इन वंडरलैंड कर दिया गया और जुलाई 1865 में प्रकाशित किया गया। प्रिंट की गुणवत्ता खराब होने के कारण इसे तुरंत संचलन से हटा दिया गया। नवंबर में एक दूसरा, सही किया गया संस्करण लगभग उसी समय प्रकाशित किया गया जब डोडसन के गणितीय ग्रंथ द डायनामिक्स ऑफ ए पार्टिकल प्रकाशित हुआ।

कैरोल के हास्‍य रचनाओं और बच्‍चें के कार्यों में द हंटिंग ऑफ शार्क, हास्‍य कविताओं के दो संग्रह, सिल्‍वी एंड ब्रूनों के दो भाग भी शामिल हैं। एक गणितज्ञ के रूप में कैरोल रूढि़वादी और अमौलिक थे। "लुईस कैरोल" में बच्चों की कहानियों के लेखक के रूप में उनकी स्थायी प्रसिद्धि के बारे में मिश्रित भावनाएं थीं। वह खुद को विज्ञान और गणित का आदमी समझना पसंद करते थे जो बकवास लिखने के लिए भी हुआ था।

14 जनवरी, 1898 को चार्ल्स डोड्सन की ब्रोंकाइटिस से मृत्यु हो गई। उन्हें अपने परिवार के लिए खरीदे गए घर के पास माउंट सेमेटरी, गिल्डफोर्ड, सरे में दफनाया गया।

SHARE THIS

Author:

I am writing to express my concern over the Hindi Language. I have iven my views and thoughts about Hindi Language. Hindivyakran.com contains a large number of hindi litracy articles.

0 comments: