Tuesday, 11 September 2018

छोटे भाई को पाठ्य विषय निर्वाचन के लिए पत्र

छोटे भाई को पाठ्य विषय निर्वाचन के लिए पत्र

chote-bhai-ko-vishay-nirvachan-ke-liye-patra
शक्ति नगर दिल्ली
दिनांक 5, 1992
प्रिय रमेश,
         प्रसन्न रहो।
आपका पत्र, जिसमें आपने मुझे नौवीं कक्षा में विषय परिवर्तन के लिए परामर्श मांगा है, कल मिला। मेरे विचार में वैसे तो विषयों का चुनाव विद्यार्थी को अपनी रुचि और ग्रहण योग्यता के अनुसार स्वयं करना चाहिए, परंतु कई बार हमें अपनी रुचि का भी ठीक से पता नहीं चलता। अतः अपने बड़ों से परामर्श लेना ही उचित होता है। इस दृष्टि से कुछ विचार मैं आपके सामने रखता हूं। यदि आप इन विचारों से सहमत हो तो इन के अनुसार विषय चुनकर मुझे सूचित करना ना भूलें।

आप की बचपन की प्रवृतियों तथा गणित व विज्ञान में अत्यधिक रुचि से यह लगता है कि आप एक अच्छे इंजीनियर बन सकते हैं। इन विषयों में आप अपने अध्यापकों से सदा सराहना प्राप्त करते रहे हैं। इसी प्रकार यदि आप थोड़ा और परिश्रम करते रहे तो एक दिन इंजीनियरिंग की परीक्षा भी अच्छे अंको से प्राप्त कर सकते हैं। आप जैसे तीव्र बुद्धि और परिश्रमी बालकों के लिए यह कार्य कठिन नहीं। यदि आप इस विचार को अपना लक्ष्य बना लेते हैं, तो विश्वास रखिए सफलता आपके पाँव चूमेगी।

मेरा तो यह निश्चित मत है कि आप भौतिकी, रसायन शास्त्र तथा उच्चतर गणित विषय ही अपने अध्ययन के लिए चुने।

इस पत्र को पाकर अच्छी प्रकार सोच समझकर अपना निर्णय लेना। यदि मेरा सुझाव ठीक लगा हो तो अपने लक्ष्य को पाने के लिए शीघ्र ही उसमें जुट जाएं। अपनी मूल प्रवृतियों का पूर्ण सदुपयोग कर अपनी उन्नति करके राष्ट्र निर्माण में भी सहयोग दें। मेरी शुभकामनाएं आपके साथ हैं।
आपका भाई

सुरेश

SHARE THIS

Author:

Etiam at libero iaculis, mollis justo non, blandit augue. Vestibulum sit amet sodales est, a lacinia ex. Suspendisse vel enim sagittis, volutpat sem eget, condimentum sem.

0 comments: