Thursday, 16 November 2017

छात्रावास से पिताजी को पत्र। Chatravas se Pitaji ko Patra

छात्रावास से पिता जी को पत्र। Chatravas se Pitaji ko Patra 

आर. के. कॉलेज छात्रावास, बनारस 
5 नवम्बर 2017 
पूज्य पिताजी 
सादर प्रणाम

विषय : छात्रावास से पिताजी को पत्र। 
Chatravas se Pitaji ko Patra


मैं यहां कुशलपूर्वक हूँ और आनंद से हूँ। हमारे छात्रावास में पढ़ाई के लिए बहुत अच्छा वातावरण है। यहां के सभी विद्यार्थी और शिक्षक बहुत अच्छे और सहयोग देने वाले हैं। मैंने अपने स्वभाव से मिलते स्वभाव वाले कई मित्र बना लिए हैं जो बहुत परिश्रमी और अध्ययन शील हैं। मुझे यहां सहज स्नेह प्राप्त है, यहां शैक्षणिक गतिविधियों के कारण बहुत व्यस्तता रहती है जिनमें भाग लेना मुझे बहुत पसंद है। गणित प्रतियोगिता और हिंदी निबंध प्रतियोगिता में मैंने प्रथम स्थान प्राप्त किया है। यहाँ हर छात्र एक-दुसरे से आगे बढ़ने के लिए सदैव प्रयत्नशील रहता है इसलिए मुझे भी आगे बने रहने के लिए कठिन परिश्रम करना पड़ता है। मैं आपको विश्वास दिलाता हूँ की वार्षिक परीक्षा में भी प्रथम आकर आपको गौरवान्वित करने का पूरा प्रयत्न करूँगा। आप सबकी बहुत याद आती है, माँ को मेरा प्रणाम कहियेगा और छोटी बहन को मेरा स्नेह दीजियेगा। 
आपका प्रिय पुत्र 
राहुल गांधी 

SHARE THIS

Author:

I am writing to express my concern over the Hindi Language. I have iven my views and thoughts about Hindi Language. Hindivyakran.com contains a large number of hindi litracy articles.

0 comments: