ग्लोबल वार्मिंग पर अनुछेद। Anuched on Global Warming in hindi

Admin
7

ग्लोबल वार्मिंग पर अनुछेद। Anuched on Global Warming

Anuched on Global Warming

ग्लोबल वार्मिंग शब्द का पृथ्वी के तापमान में होने वाली वृद्धि को दर्शाता है। यह एक ऐसी समस्या है जिस पर अगर काबू नहीं किया गया तो ये हमारी सम्पूर्ण सभ्यता को ही नष्ट कर देगा। सीएफसी -11 और सीएफसी -12 जैसी ग्रीन हाउस गैसों ने सूरज के थर्मल विकिरण को अवशोषित करके पृथ्वी के वातावरण को गर्म बना दिया। ये गैसें सूर्य की किरणों को वायुमंडल में प्रवेश तो करने देती हैं लेकिन उससे होने वाले विकिरण को वायुमंडल से बाहर नहीं जाने देती हैं। इसी को  ग्रीनहाउस प्रभाव कहा जाता है, जो पूरे विश्व में तापमान में वृद्धि के लिए जिम्मेदार है। तापमान में वृद्धि से वर्षा चक्र, पारिस्थितिक संतुलन, मौसम का चक्र आदि प्रभावित होते हैं। यह वनस्पति और कृषि को भी प्रभावित करता है। जिसके कारण हमें दुनिया भर में लगातार बाढ़ और सूखे जैसी परिस्थितियों का सामना करना पड़ता है। तापमान में वृद्धि और ग्लेशियरों के पिघलने के कारण बर्फ़बारी जैसी घटनाओं में भी कमी आयी है। तापमान में वृद्धि से आद्रता में भी वृद्धि हुई है क्योंकि तापमान में वृद्धि से वाष्पीकरण की दर में वृद्धि हुई है। स्थानीय सरकारों चाहिए की वह लोगों के बीच जागरूकता पैदा करे तथा ऐसे उपकरणों और वाहनों की बिक्री को प्रोत्साहित करे जो पर्यावरण के अनुकूल हो जिससे ग्रीन हाउस गैसों के उत्सर्जन में कमी लायी जा सके। पेपर, प्लास्टिक और अन्य सामग्रियों की रीसाइक्लिंग को प्रोत्साहित करना चाहिए। ऐसे प्रयासों को लोगों द्वारा जमीनी स्तर पर करना अत्यंत आवश्यक है, तभी हम एक प्रभावी तरीके से इस समस्या का मुकाबला कर सकते हैं।

Post a Comment

7Comments
  1. Wowww yaar Bohat Badiya Article. Bohat ache se btaya ap ne global warming ke bare mein. Thank you so much

    ReplyDelete
  2. इतना अच्छी रचना के लिए धन्यवाद

    ReplyDelete
    Replies
    1. Dear Reader, Thank you for your lovely comment.

      Delete
  3. thank you, helped me in school

    ReplyDelete
Post a Comment

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !