Tuesday, 12 September 2017

मेरा सच्चा मित्र पर निबंध। Essay on My best Friend in Hindi

 मेरा सच्चा मित्र पर निबंध। Essay on My best Friend in Hindi

 मेरा सच्चा मित्र पर निबंध

एक सच्चा मित्र बेशकीमती होता है। एक मित्र के बिना जीवन नीरस होता है। मैं बहुत ही खुशनसीब हूँ की मुझे एक सच्चा मित्र मिला है। मेरे पांच-छः मित्र हैं परन्तु राहुल वास्तव में मेरा सच्चा मित्र है। हम एक-दूसरे के लिए बने हैं।

मुझे राहुल पर और राहुल को मुझ पर गर्व है। हम एक भी दिन एक दूसरे को देखे बिना नहीं रह सकते। वह बचपन से मेरा सहपाठी है। हमारी मित्रता प्राकृतिक व अमर है। वह एक सम्मानित परिवार का बालक है। उसकी माता एक धार्मिक महिला व कुशल गृहिणी हैं। राहुल अपने माता-पिता की अकेली संतान है। वे राहुल को अपने जीवन से भी ज्यादा प्यार करते हैं। मेरे माता-पिता भी उसे उतना ही प्यार करते हैं, जितना की मुझसे। 

राहुल के पिता डिग्री कॉलेज में प्रधानाचार्य हैं वह बहुत ही समझदार व बुद्धिमान हैं। इसलिए राहुल को बुद्धिमानी व समझदारी विरासत में मिली है। वह पढ़ाई में भी बहुत ही होशियार है। उसका मनपसंद विषय विज्ञान है। वह इस विषय में मेरी सहायता करता है। मैं अंग्रेजी में अच्छा हूँ और इस विषय में उसकी सहायता करता हूँ। हमारे बीच एक स्वस्थ प्रतियोगिता है परन्तु हम एक-दूसरे की सफलता पर ईर्ष्या नहीं करते हैं। 

राहुल एक बड़ा व सफल इंजीनियर बनना चाहता है। मैं एक प्रवक्ता बनना चाहता हूँ। राहुल एक अच्छा कहानीकार व गायक भी है। परन्तु उसे मेरी कहानियां व चुटकुले ज्यादा पसंद हैं। हमदोनों को डाक टिकट इकट्ठे करने का शौक है। हम दोनों के पास डाक टिकटों का अच्छा संग्रह है। हम दोनों आपस में टिकटें व जानकारियों का आदान-प्रदान करते रहते हैं। 

राहुल का व्यवहार बहुत ही अच्छा है। वह बहुत ही प्यारा है। वो मेरे घर आता है और मैं उसके घर जाता हूँ। मैं वाकई में राहुल जैसा मित्र पाकर प्रसन्न हूँ। हम एक-दूसरे के सुख-दुःख बांटते हैं। मैंने उससे बहुत कुछ सीखा है। ईश्वर करे की हमारी यह  में भी ऐसे ही बरकरार रहे। 


SHARE THIS

Author:

I am writing to express my concern over the Hindi Language. I have iven my views and thoughts about Hindi Language. Hindivyakran.com contains a large number of hindi litracy articles.

0 comments: