Monday, 19 February 2018

Paragraph on My favourite teacher in hindi - मेरे प्रिय अध्यापक पर अनुछेद

Paragraph on My favourite teacher in hindi - मेरे प्रिय अध्यापक पर अनुछेद 

Paragraph on My favourite teacher in hindi

सभी अध्यापकों का व्यवहार मेरे प्रति अच्छा होते हुए भी मुझे अंग्रेजी के अध्यापक सुभाष दुबे जी सबसे अच्छे और प्रिय लगते हैं। इसका एक कारण तो यह हो सकता है कि उनका बाहरी व्यक्तित्व जितना सुन्दर और आकर्षक है उनकी बोलचाल¸ व्यवहार और अध्यापन का ढंग भी उतना ही सुन्दर है। वह जो भी पढ़ाते हैं उसका एक चित्र-सा खड़ा कर विषय को साकार कर देते हैं। उनका पढ़ाया और समझाया गया पाठ छात्र कभी नहीं भूलते। मेरे इन अध्यापक का चेहरा हमेशा एक निर्मल मुस्कान से खिला रहता है। मैंने उन्हें कभी भी कक्षा के बाहर या अंदर बेकार की बातें करते हुए सुना है¸ न देखा है। उनकी वेशभूषा भी उनके व्यक्तित्व के अनुरूप फबने वाली होती है-एकदम उनके विचारों की तरह सीधी-सादी। हमारी प्रातःकालीन¸ साप्ताहिक या मासिक सभाओं में जब कभी वह कुछ बोलने या भाषण देने आते हैं बाकि सब छोड़कर छात्र सिर्फ उन्हीं को सुनते हैं। सचमुच यदि सभी अध्यापक उनके जैसे आदर्श वाले हो जाएँ तो सभी छात्रों का बहुत भला हो सकता है। और आजकल अध्यापक वर्ग पर जो कई प्रकार के लांछन लगाए जाते रहते हैं उनका निवारण भी सरलता से संभव हो सकता है। 

SHARE THIS

Author:

I am writing to express my concern over the Hindi Language. I have iven my views and thoughts about Hindi Language. Hindivyakran.com contains a large number of hindi litracy articles.

0 comments: