Wednesday, 23 August 2017

गुरु नानक देव जी की जीवनी

गुरु नानक देव जी की जीवनी

गुरु नानक देव जी की जीवनी 

guru nanak jeevni
सिख धर्म के प्रथम गुरु नानक देव का जन्म कार्तिक पूर्णिमा सम्वत 1526 (15अप्रैल,1469) को लाहौर जिले के तलवंडी ग्राम में हुआ था। जो आजकल ननकाना साहिब के नाम से जाना जाता है। यह स्थान अब पश्चिमी पंजाब ( पाकिस्तान ) में है। इनके पिता का नाम कालूचाँद बेदी था जो तलवंडी के पटवारी थे। इनकी माता का नाम तृप्त देवी था जो एक शांत स्वभाव की धर्म परायण महिला थी। 


नानक से गुरु नानक बनने का सफर

guru nanak jeevni
 गुरु नानक बाल्यकाल से ही एकांत प्रेमी और चिंतनशील स्वभाव के बालक थे। अतएव किसी भी विषय को शीघ्र ही समझ लेते थे। परन्तु इनका मन खेल-कूद और विद्याध्ययन में बिलकुल न लगकर साधू-संतों की संगति में लगता था। ऐसी प्रकृति को देखते हुए आपके पिताजी ने इनको पशु चराने का काम दिया हुआ था जो इनके लिए बहुत ही सुगम था। ये पशुओं की चिंता छोड़ ईश्वर भजन में ही समय व्यतीत किया करते थे। कालान्तर में इनके पिताजी ने इनको पुनः सांसारिक कार्यों में लगाने के लिए नानक जी को बीस रूपए दिए और कहा -" बेटा यह ले लो और इनसे कुछ कार्य कर लो, जिससे कुछ आमदनी भी होगी और मेरा सहारा नहीं बनेगा " नानक जी ने पैसे ले लिए और लाहौर की ओर चल दिए। पिता जी ने दो विश्वस्त नौकर साथ भेजे और कहा -"बेटा  सोच समझकर खरा सौदा करना। " मार्ग में कुछ साधू-संत तपस्या में लीन मिले ,नानक जी कुछ समय उनके पास ही ठहर गए। नानक के मन में आया की इन साधू-संतो के जलपान की व्यवस्था करनी चाहिए ,इससे इन बीस रुपयों का सदुपयोग होगा। इन्होने बीस रूपए जलपान में लगा दिए और वापस घर आ गए। इनके पिताजी इनके इस आचरण से प्रभावित हुए और इन्हे पुनः पशु चराने में लगा दिया। कुछ समय बाद एक और असाधारण घटना घटित हुई। ग्रीष्म ऋतू का काल था, दोपहर में लू चल रही थी। पशु चराते-चराते नानक जी थककर पेड़ की छाया में सो गए। नानक जी बेसुध सो रहे थे और इनके मुख पर तेज धूप पड़ रही थी। तभी वहां एक नाग आया और उसने अपने फन से इनके मुख पर छाया कर दी। यह दृश्य गाँव के मुखिया ने देखा और विस्मित रह गए। उन्होंने नानक देव को गले लगा लिया। तभी से सबने यह मान लिया की नानक देव एक साधारण मनुष्य नहीं है अपितु कोई देव स्वरुप हैं। उसी समय से गुरु नानक के नाम के आगे देव शब्द लग गया और नानक, नानक देव बन गया।

गुरु नानक जी का सांसारिक जीवन के किस्से 

एक बार की बात है की गुरु नानक जी के पिता ने इनको नवाब लोदी खां के यहाँ नौकरी दिलवा दी। नानक देव जी को मोदीखाने में स्थान दिया गया। वहां भी  साधू-संतों की संगति में लगे रहे और उनकी सेवा सत्कार में खूब खर्च करते रहे। जब नवाब के पास शिकायत पहुंची तो मोदीखाने की जांच-पड़ताल के आदेश दे दिए गए। जांच के दौरान कुछ भी गलत नहीं पाया गया अपितु नानक जी के ही तीन सौ रूपए निकले। 
नानक जी का विवाह लगभग उन्नीस वर्ष की आयु में भोलाराम पटवारी की कन्या से करवा दिया गया। इससे नानक जी के दो पुत्र श्रीचंद और लक्ष्मी दास उत्पन्न हुए। संवत 1596 ( सन 1539 ) में शीर्ष मास की दशमी को सत्तर वर्ष की अवस्था में गुरु जी की मृत्यु हो गयी।  इन दोनों ने नानक जी की मृत्यु के पश्चात् उदासी मत को चलाया। नानक जी ने ईश्वर को सर्वव्यापी मानने पर बल दिया। जात-पात और मूर्तिपूजा का विरोध करते हुए एक ओंकार और सद्गुरु के जप को स्वीकार किया। इनके द्वारा रचित " गुरु ग्रन्थ साहिब " पंजाबी भाषा में है। जो अमृतसर के स्वर्णमंदिर में आज भी रखा हुआ है। 

गुरु नानक की मक्का मदीना यात्रा 
गुरु नानक देव ने दूर-दूर तक यात्राएं की और सत्य धर्म की अलख जगाते रहे। वे मक्का मदीना के इस्लामी तीर्थों की यात्रा पर भी गए थे। जब वे मक्का पहुंचे तो सूर्यास्त का समय था थके होने के कारण वे मक्का की ओर पाँव करके सोये थे तो एक मुसलमान बड़ा नाराज हुआ और गुरु जी से कहा तू कौन है काफिर जो पवित्र काबा की ओर पैर करके सो रहा है ? इस पर नानक जी ने बड़ी विनम्रता से कहा की मुझे नहीं मालूम की काबा ( खुदा का घर ) कहाँ है। तू हमारे पैर पकड़कर उस दिशा में कर दे जिस दिशा में खुदा का घर न हो। उसने गुस्से में नानक जी के पाँव पकड़कर दूसरी दिशा में कर दिए। तभी एक चमत्कार हुआ और काबा ने  दिशा बदल ली। वह मुसलमान जिस दिशा में नानक जी के पाँव घुमाता, काबा भी उसी दिशा में घूम जाता। अंततः उसने घबराकर नानक जी के पैर छोड़ दिए और यह बात अन्य मुसलामानों को बताई। देखते ही देखते वहां भीड़ इकट्ठी हो गयी।  गुरु नानक जी के चरणों में गिर पड़े और उनके शिष्य हो गए।  जब नानक जी वहां से चलने की तैयारी करने लगे तो काबा के पीरों ने गुरु नानक देव जी से विनती करके उनकी एक खड़ाव निशानी के रूप में अपने पास रख ली। गुरु जी जहां भी जाते उनके संग-संग इसी तरह के चमत्कार भी होते रहते थे। 

अंधविश्वास के विरोधी 
गुरु जी अंधविश्वास के खिलाफ थे एक बार हरिद्वार में सब हिन्दुओं को सूर्य की ओर मुख करके पितरों को जल चढ़ाते देखकर नानक जी को कौतुक सूझा। वे उलटी तरफ स्थित अपने गाँव की ओर मुख करके जल चढाने लगे। इस क्रिया से विस्मित दर्शकों में से एक ने पुछा की वह क्या कर रहे हैं तो गुरु जी ने उत्तर दिया की मै अपने गाँव के खेतों में पानी डालकर सिंचाई कर रहा हूँ। इस पर लोगों ने कहा की ऐसा कैसे संभव है ? आपका गाँव तो यहां से बहुत दूर है। इस पर वे बोले की  जब दूसरे लोक जा चुके तुम्हारे पितरों तक तुम्हारा जल पहुँच सकता है  तो फिर मेरे गाँव तक करों नहीं ?

15 lines about Christmas in hindi

15 lines about Christmas in hindi

15 lines about Christmas in hindi
15 lines about Christmas in hindi

  1. क्रिसमस ईसाईयों का एक प्रमुख त्यौहार है जो 25 दिसंबर को मनाया जाता है । 
  2. आज से 2000 वर्ष पूर्व क्रिसमस के दिन ईसा मसीह का जन्म हुआ था।
  3. प्रतिवर्ष 25 दिसंबर को यह पर्व बड़ी धूम-धाम से मनाया जाता है। 
  4. इस दिन के ईसाई लोग बड़ी बेसब्री से प्रतीक्षा करते हैं। 
  5. भौगोलिक दृष्टि से क्रिसमस विश्व का सबसे बड़ा त्यौहार है। 
  6. इस दिन सरकारी दफ्तर, निजी कार्यालय, स्कूल आदि बंद रहते हैं।
  7. सभी लोग अपने-अपने घरों, गिरजाघरों आदि को सजाते हैं। 
  8. सभी अपने घरों में क्रिसमस ट्री को झालरों, रंगबिरंगे सितारों से सजाते हैं। 
  9. इस दिन सभी ईसाई लोग चर्च जाते हैं और सामूहिक प्रार्थना करते हैं। 
  10. सभी लोग नए वस्त्र धारण करते हैं दुकानों में केक के आर्डर दिए जाते हैं। 
  11. क्रिसमस के पर्व के दिन मन जाता है की सांताक्लॉज आते हैं। 
  12. माना जाता है की इस दिन सांताक्लॉज बच्चों के लिए उपहार लाते हैं। 
  13. इसलिए क्रिसमस की रात को बच्चे अपने घरो के बाहर मोज़े लटकते हैं। 
  14. इस दिन लोग एक-दूसरे को क्रिसमस की शुभकामनाएँ देते हैं। 
  15. यह पर्व हमें सच्चाई और सदभावना के मार्ग पर चलने की प्रेरणा देता है। 





Monday, 21 August 2017

10 lines on Daniel defoe in hindi

10 lines on Daniel defoe in hindi

10 lines on Daniel defoe in hindi

10 lines on Daniel defoe in hindi
  1. डैनियल डिफो' का जन्म 1660 इंग्लैण्ड के लन्दन शहर में हुआ था। 
  2. उनका असली नाम डैनियल फू था जिसे बदलकर इन्होने डैनियल डिफो कर लिया 
  3. उनके पिता का नाम जेम्स फू, बटर्स था जो 'कंपनी के सदस्य थे। 
  4. डैनियल डिफो का विवाह मैरी टफली से हुआ जो एक व्यापारी की बेटी थी। 
  5. वह अपने प्रसिद्ध उपन्यास रॉबिन्सन क्रूसो के लिए जाने जाते हैं। 
  6. डैनियल डिफो एक प्रसिद्ध उपन्यासकार, पत्रकार और आलोचक थे। 
  7. लेखन के पहले इन्होने कई तरह के व्यापार में हाथ आजमाया। 
  8. व्यापार में असफल होने के कारण 1703 में इन्होने व्यापार बंद कर दिया। 
  9. लगभग 60 वर्ष की उम्र में इन्होने रॉबिंसन क्रूसो नामक उपन्यास लिखा। 
  10. यह उपन्यास अंग्रेजी भाषा का सफलतम उपन्यास माना जाता है। 
  11. डैनियल डीफो ने विभिन्न विषयों पर 500 से अधिक पुस्तके लिखी। 
  12.  24 अप्रैल 1731 को लंदन, इंग्लैंड में उनका निधन हो गया।

Saturday, 19 August 2017

10 lines on Bhagat singh in hindi

10 lines on Bhagat singh in hindi

10 lines on Bhagat singh in hindi

10 lines on Bhagat singh in hindi
  1. भगतसिंह का जन्म 28 सितंबर 1907 को पजाब के एक सिख परिवार में हुआ था। 
  2. उनके पिता का नाम सरदार किशन सिंह और माता का नाम विद्यावती कौर था। 
  3. वह एक स्वतंत्रता सेनानी थे। उन्होंने भारत की आजादी के लिए संघर्ष किया। 
  4. भगत सिंह ने भारत की आज़ादी के लिये नौजवान भारत सभा की स्थापना की। 
  5. भगत सिंह ने भारत को आज़ादी के लिए ‘इंकलाब जिंदाबाद’ का नारा दिया। 
  6. वह वामपंथी विचारधारा से प्रभावित क्रांतिकारी थे। 
  7. उनके दल के प्रमुख क्रान्तिकारियों में चन्द्रशेखर आजाद, सुखदेव, राजगुरु इत्यादि थे
  8. भगत सिंह ने 17 दिसम्बर 1928 को लाहौर में अंग्रेज़ अधिकारी जे० पी० सांडर्स को मारा। 
  9. भगत सिंह तथा इनके दो साथियों सुखदेव व राजगुरु को 23 मार्च 1931 को शाम में करीब 7 बजकर 33 मिनट पर  फाँसी दे दी गई। 
  10. वह एक महान क्रन्तिकारी थे जिन्होंने देश के लिए अपना बलिदान दिया। 
  11. मुझे भगत सिंह पर गर्व है ,मै  उन्हें अपना आदर्श मानता हूँ। 

10 lines on Mango in hindi

10 lines on Mango in hindi

10 lines on Mango in hindi

10 lines on Mango in hindi
  1. फल तो अनेक है पर मेरा पसंदीदा फल आम है। 
  2. यह एक एक अत्यंत स्वादिष्ट फल होता है। 
  3. इसका स्वाद मीठा या खट्टा होता है। 
  4. भारत में आम को फलों का राजा भी कहा जाता है। 
  5. यह फल गर्मी के मौसम में आता है। 
  6. इसके विभिन्न प्रकार होते है जैसे चौसा, दशहरी व तोतापरी आदि। 
  7. इसको प्रायः काटकर या इसका जूस बनाकर पिया जाता है। 
  8. प्रारम्भ में यह फल हरा होता है परन्तु पकने के साथ यह पीला फिर लाल हो जाता है। 
  9. कच्चे आम को अम्बिया कहते है जिसकी चटनी, मुरब्बा और अचार बनाया जाता है। 
  10. आम के फ़ल में एक बड़ी सी गुठली होती है, जिसको लगाने से पेड़ उग जाता है। 
  11. भारत आम का एक बहुत बड़ा उत्पादक देश है

Thursday, 17 August 2017

मेरा घर पर निबंध Essay on my home in hindi

मेरा घर पर निबंध Essay on my home in hindi

मेरा घर पर निबंध Essay on my home in hindi

मेरा घर पर निबंध
घर सबसे अच्छा होता है। घर जैसी को जगह नहीं होती है। यह पूरे संसार में सबसे प्यारी जगह होती है। घर से आशय है - प्रेम, स्नेह से परिपूर्ण आपसी रिश्तों वाला परिवार। 
    घर और मकान में अंतर होता है। मकान पत्थरों का, ईटों का या मिटटी का भी हो सकता है या झोपडी भी हो सकती है। परन्तु इन वस्तुओं से घर नहीं बनता। घर शरीर में एक आत्मा की तरह होता है। एक शरीर आत्मा के बिना बेकार है। बहुत से लोग मकान में रहते है परन्तु उनके पास घर नहीं होता, क्योंकि उनके परिवार के सदस्यों के बीच प्रेम, शांति, स्नेह व् समझदारी नहीं होती। घर एक प्रतीक है एकता का, देखभाल का व एक दुसरे के प्रति लगाव का। सौभाग्य से ये सब कुछ हमारे परिवार  में है। मई अपने घर से बहुत प्यार करता हूँ। यह मुझे मेरे जीवन से भी अधिक प्यारा है। यदि कभी मुझे अपने घर से कहीं बहुत दूर जाना पड़ता है तब मुझे अपने घर की बहुत याद आती है। यही वह समय होता है जब आपको अपने घर का मूल्य पता चलता है। 
   मेरे माता-पिता ,मेरी छोटी बहन और मुझसे मिलकर हमारा परिवार बना है। मेरी दादी जी की पिछले वर्ष मृत्यु हो गई। हम सब  याद करते है। वह हमेशा मुझे परियों की व नैतिक शिक्षा की कहानियां सुनाया करती थी। वह बहुत ही धार्मिक थी। वह हमेशा हमारी उन्नति व ख़ुशी के लिए प्रार्थना करती थी। 
    मेरे माता-पिता का प्रेम विवाह हुआ था।  तब वे विश्वविद्यालय के छात्र थे। वे दोनों एक  लिए बने है। हमारे परिवार की ख़ुशी का राज हमारे माता-पिता का एक-दुसरे के लिए प्रेम व स्नेह है। 
    मेरी बहन अनुराधा बहुत ही प्यारी है। वह मुझसे 6 वर्ष छोटी है। मई उसके साथ खेलता हूँ, उसे कहानियां सुनाता हूँ और उसे कवितायें सिखाता हूँ। वह बहुत होशियार है और जल्दी सीखती है। वह नई -नई  बातों को जानने के लिए व्याकुल है। उसे चॉकलेट और मिठाइयां पसंद है। मेरे पिताजी उसके लिए ये सब और नए-नए खिलौने लाना नहीं भूलते। खूबसूरत कपड़ों में वह बिलकुल पारी लगता है। 
    मुझे अपने प्यारे घर पर गर्व है। मेरे विचार से ये स्वर्ग का दूसरा नाम है। 
Essay on Goat in hindi

Essay on Goat in hindi

Essay on Goat in hindi ( बकरी पर निबंध )

बकरी' एक बहुत ही उपयोगी जानवर है। यह एक चौपाया जानवर होता है। इसकी दो सींग और एक छोटी सी पूँछ होती है। इसके बछड़े को मेमना कहते हैं। बकरी झुण्ड में रहने वाला जानवर है। यह घास के मैदानों से लेकर पहाड़ी इलाकों, पठारों आदि सभी प्रकार की जगहों में पायी जाती है।बकरी उन कुछ जानवरों में से एक है जिन्हे मनुष्य प्राचीन काल से पालता आ रहा है। भारत में बकरी पालना एक आम बात है। बकरी से हमें दूध प्राप्त होता है जो बहुत पौष्टिक होता है। इसका पनीर भी बनाया जाता है। डेयरी उत्पादों में इसका विशेष महत्त्व है। इसका मांस भी खाने में प्रायोग होता है। वहीँ पहाड़ो में बकरी का प्रयोग सामान की ढुलाई करने में होता है। बकरी की खाल और फर का प्रयोग भी कई तरह के उपयोगी सामान बनाने में किया जाता है। इसके फार से ऊनी वस्त्र भी बनाये जाते हैं। 
यह एक शाकाहारी जानवर होता है। यह अपने भोजन के लिए मुख्या रूप से घास, पत्ते, झाड़ियों, जड़, और सब्जियों पर निर्भर होता है। भारत में किसान बड़ी संख्या में बकरी पालन करते है। जब खेतों में घास बहुत लम्बी हो जाती है तो वे घास को हटाने के लिए बकरियों की मदद लेते हैं। बकरियां उस घास को चार जाती हैं। 
बकरियों की इन्हे खूबियों को देखते हुए इनका पशुपालन भी बड़े स्तर पर होने लगा है। उपयोगी होने के साथ-साथ इसका धार्मिक महत्त्व भी है। ईद-उल-अजहा पर्व में बकरियों का विशेष महत्त्व है। 

Wednesday, 16 August 2017

10 lines on lotus in hindi

10 lines on lotus in hindi

10 lines on lotus in hindi

10 lines on lotus in hindi
  1. कमल भारत का राष्ट्रीय पुष्प है। इसे अंग्रेजी में लोटस कहते हैं।
  2. कमल को नेलमबो न्यूसीफेरा' के नाम से जाना जाता है।
  3. कमल का फूल मुख्यतः दो रंगों गुलाबी और सफ़ेद में पाया जाता है। 
  4. हिन्दू संस्कृति में कमल के फूल को पवित्र माना गया है। 
  5. भारत में कई लोग कमल की खेती करके जीविका कमाते हैं।
  6. कमल की जड़ का प्रयोग सब्जी के रूप में भी किया जाता है। 
  7. यह सम्पन्नता का प्रतीक भी है इसीलिए देवी लक्ष्मी इसमें विराजमान होती हैं। 
  8. कमल के पत्तों को खाद्य प्लेट के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है। 
  9. कमल का पौधा कीचड़, तालाब व नहर आदि में उगता है।  
  10. कमल पर ब्रह्मा के साथ ज्ञान की देवी सरस्वती भी विराजमान होती है।
  11. यह एक सुंदर फूल है जो देवत्व, उर्वरता, धन, ज्ञान का प्रतीक है।  
  12. पूजा-पाठ करने व अन्य समारोह में भी कमल का प्रयोग किया जाता है। 

Monday, 14 August 2017

Cricket information in hindi

Cricket information in hindi

Cricket information in hindi

क्रिकेट बल्ले और गेंद से मैदान में खेला जाने वाला खेल है। इसमें 11-11 खिलाड़ियों की दो टीमें होती हैं। दोनों ही टीमें एक-दूसरे के खिलाफ एक बार बैटिंग और एक बार बॉलिंग करती हैं। अधिक रन बनाने वाली टीम को विजेता घोषित किया जाता है। कभी-कभी विजेता टीम का निर्णय विकेट से भी किया जाता है। 
cricket information in hindi
 क्रिकेट खेलने का तरीका : मैदान के बीचोबीच 22 गज लम्बाई और 10 फुट चौड़ाई की एक पिच होती है। जिसके दोनों ओर लगभग 28 इंच लम्बाई के स्टंप लगे होते हैं। साथ ही किसी भी प्रकार का निर्णय देने के लिए मैदान में दो अम्पायर होते है। मैच के दौरान एक टीम बल्लेबाजी तो वहीँ दूसरी टीम गेंदबाजी और फील्डिंग करती है। स्टंप की रक्षा बल्लेबाज अपने बल्ले से करता है। जब गेंदबाज तेजी से दौड़ता हुआ बॉल को बल्लेबाज की और फेंकता है तो बल्लेबाज को बाल को अपने बल्ले से रोकना होता है। बल्ले से टकराने पर जब बाल दूर जाती है इसी बीच बल्लेबाजों को दौड़कर तेजी से रन लेना होता है। वहीँ गेंदबाजी करने वाली टीम का उद्देश्य रनों को  बल्लेबाजों  आउट करना होता है। 
अपने विकेट की रक्षा करने के लिए बल्लेबाज लकड़ी के बल्ले का प्रयोग करता है। फील्डिंग करने वाली टीम के  सदस्य मैदान में अलग-अलग जगह अपनी स्थिति लिए होते हैं, इसी टीम का एक सदस्य गेंदबाजी करवाता है। ये खिलाड़ी बल्लेबाज को रन बनाने से रोकने के लिए गेंद को पकड़ने का प्रयास करते हैं। और बॉल को स्टंप पर फेंककर या बॉल को हवा में ही कैच करके बल्लेबाज को आउट करने का प्रयास करते हैं। बल्लेबाज यदि आउट नहीं होता है तो वो विकेटों के बीच में भाग कर दूसरे बल्लेबाज ("गैर स्ट्राइकर") से अपनी स्थिति को बदल सकता है, जो पिच के दूसरी ओर खड़ा होता है। इस प्रकार एक विकेट से दुसरे विकेट एक दौड़कर बल्लेबाज रन बनाते हैं। एक बार दौड़ पूरी होने पर एक रन बन जाता है। कई बार ऐसा भी होता है की बॉल बिना किसी की पकड़ में आये सीधे बॉउंड्री लाइन तक पहुँच जाती है, ऐसी स्थिति में सीधे 4 रन बन जाते हैं इसे ही चौका कहते हैं। और जब बॉल बिना जमीन को छुए हवा में ही सीधे बॉउंड्री को पार करती है तो 6 रन माने जाते हैं इसे छक्का कहते हैं। 

cricket ground
मैच के प्रकार : क्रिकेट के कई प्रारूप है जैसे टेस्ट क्रिकेट, वन-डे क्रिकेट और 20-20 क्रिकेट आदि। 

  • टेस्ट क्रिकेट को प्रथम श्रेणी का क्रिकेट भी कहा जाता है इसमें केवल वो ही देश खेल सकते हैं जो आई.सी.सी के पूर्ण सदस्य होते हैं। इसमें खेले जाने वाले मैचों की समयावधि अधिक होती है। 
  • वन-डे मैच को सीमित अवधि का क्रिकेट मैच भी कहते हैं। इसे एक दिवसीय मैच भी कहते है क्योंकि एक मैच की अवधि केवल एक दिन होती है। इसमें ओवरों की संख्या 50 होती है। पहला एक दिवसीय मैच 1971 में खेला गया। 
  • 20-20 मैच : यह क्रिकेट का एक नया प्रारूप है जो हाल ही में देखने को मिला। नाम से ही पता चलता है की इसमें ओवरों की संख्या 20 होती है। 20-20 विश्वकप और आई.पी.एल इसका उदाहरण है। 
क्रिकेट का इतिहास : क्रिकेट का सबसे पहला उल्लेख 1598 ई में मिलता है तब इसे क्रिकेट न कहके क्रिक्केट कहा जाता था। इसे बच्चे खेला करते थे परन्तु धीरे-धीरे बड़ों ने  भी इसमें दिलचस्पी ली और ये खेल मशहूर होता गया। अगर शाब्दिक दृष्टि से देखें तो तो क्रिकेट शब्द की उत्पत्ति क्रीक शब्द से हुई है जिसका मतलब होता है छड़ी। और क्रिकेट का मतलब हुआ छड़ी से खेला जाने वाला खेल। यही छड़ी आगे चलकर बल्ले में तब्दील हो गयी। वहीँ भारत में क्रिकेट की शुरुआत ईस्ट इंडिया कम्पनी के आने के बाद 1761 ई में बड़ौदा के पास मानी जाती है।  होता हुआ यह खेल पाकिस्तान, श्री लंका, बांग्लादेश आदि देशों में पहुँच गया। 

क्रिकेट से सम्बंधित रोचक बातें 

  1. क्रिकेट फुटबॉल के बाद दूसरा ऐसा खेल है जो विश्व में सबसे ज्यादा खेला जाता है। 
  2. सुनील गावस्कर विश्व के ऐसे पहले ऐसे बल्लेबाज है जिन्होंने टेस्ट मैच में 10,000 रन का आंकड़ा छुआ था।
  3. ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा भारत में 1721 में बड़ोदा के केम्ब्रे में पहली बार क्रिकेट खेला था।
  4. पहला टेस्ट मैच 15 मार्च 1877 को इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच मेलबॉर्न में खेला गया था जिसमे ऑस्ट्रेलिया जीता। 
  5. भारत ने पहला विश्व कप 1983 में जीता था और दूसरा वर्ल्ड कप 28 साल बाद महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में 2011 में जीता।
  6. सौरव गांगुली को वन-डे मैच में एक के बाद एक लगातार चार बार मन ऑफ़ द मैच का अवार्ड मिला था।
  7. ग्रैमी स्मिथ अकेले ऐसे खिलाडी है जिसने 100 से भी ज्यादा टेस्ट मैच में कप्तानी की है।

Sunday, 13 August 2017

10 lines on Donkey in hindi

10 lines on Donkey in hindi

10 lines on Donkey in hindi

10 lines on Donkey in hindi
  1. गधा एक चौपाया जानवर है इसे donkey भी कहा जाता है। 
  2. गधा एक शाकाहारी जानवर है घास और पत्तियां खाता है। 
  3. गधा भूरे रंग का होता है ,इसके दो बड़े-बड़े कान होते हैं। 
  4. गधे पर्वतों पर चढ़ाई के लिए बहुत ही काम का जानवर है।
  5. ये घोड़े की जाती के होते हैं परन्तु आकार में उनसे छोटे होते हैं। 
  6. गधा एक बहुत ही उपयोगी जानवर होता है। 
  7. यह स्वभाव से अत्यंत सीधा व सहनशील जानवर होता है। 
  8. गधों का प्रयोग धोबियों द्वारा कपडे लादने के लिए किया जाता है। 
  9. प्राचीन काल में भी यातायात के लिए गधों का प्रयोग किया था। 
  10. टेढ़े-मेढ़े रास्तों पर सवारी के लिए भी गधों का प्रयोग किया जाता है। 
  11. गधे को पूरी दुनिया में मूर्खता का पर्याय माना जाता है। 
10 lines on Narendra Modi in hindi

10 lines on Narendra Modi in hindi

10 lines on Narendra Modi in hindi

10 lines on Narendra Modi in hindi
  1. नरेंद्र मोदी जी का पूरा नाम नरेंद्र दामोदर दास मोदी है। 
  2. मोदी जी भारतीय जनता पार्टी के एक प्रमुख नेता हैं। 
  3. 26 मई 2014 को वे स्वतंत्र भारत के पन्द्रहवें प्रधानमन्त्री बने। 
  4. वे प्रथम ऐसे प्रधानमन्त्री है जिनका जन्म स्वतंत्र भारत में हुआ है। 
  5. मोदी जी का जन्म 17 सितम्बर 1950 को गुजरात राज्य में हुआ। 
  6. इनके पिता दामोदरदास मूलचंद एवं माता हीराबेन मोदी है। 
  7. 17 वर्ष की आयु में इनका विवाह जसोदा बेन से करा दिया गया। 
  8. मोदी जी ने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत आर.एस.एस से की।
  9. 2001 में नरेंद्र मोदी ने गुजरात के मुख्यमंत्री का कार्यभार सम्भाला। 
  10. उन्होंने लगातार चार बार गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। 
  11. उन्होंने भारत के विकास के लिए डिजिटल इंडिया मुहीम शुरू की। 
  12. स्वदेशी उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए उन्होंने मेक इन इंडिया के शुरुआत की। 
  13. उन्होंने 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के रूम में घोषित किया। 
  14. मोदी जी ने गरीबों के कल्याण के लिए जन-धन एवं उज्ज्वला योजना शुरू की।  
  15. नरेंद्र मोदी जी एक जान नेता और भारत के सच्चे नायक हैं। 


Friday, 11 August 2017

10 lines about mahadevi verma in hindi

10 lines about mahadevi verma in hindi

10 lines about mahadevi verma in hindi

mahadevi verma in hindi
  1. महादेवी वर्मा भारत के सबसे सफल महिला कवियित्रियों में से एक है।
  2. इनका जन्म 26 मार्च, 1907 को उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद जिले में हुआ। 
  3. महादेवी वर्मा जी को आधुनिक काल की मीराबाई भी कहा जाता है। 
  4. महादेवी जी के माता-पिता का नाम हेमरानी देवी  व गोविन्द प्रसाद वर्मा था
  5. इनको बचपन से ही साहित्य के साथ-साथ चित्रकला में भी रूचि थी। 
  6. वे बड़ी ही दयालु स्वभाव की महिला थी पशु-पक्षियों से उनका विशेष लगाव था। 
  7. इन्हे हिंदी साथ-साथ संस्कृत, अंग्रेजी और बृज भाषा का भी अच्छा ज्ञान था। 
  8. इन्हे हिंदी साहित्य की लगभग हर विधा का एक समान ज्ञान था। 
  9. इन्हे हिंदी में योगदान के लिए भारत रत्न व अकादमी पुरस्कार दिए गए । 
  10. 11 सितंबर, 1987 को इलाहाबाद, उत्तर प्रदेश में इनका निधन हो गया।
10 lines on My School in hindi

10 lines on My School in hindi

10 lines on My School in hindi

10 lines on My School in hindi
  1. मेरे स्कूल का नाम रामकृष्ण मिशन इंटर कॉलेज है। 
  2. मेरा स्कूल अंग्रेजी माध्यम का सी.बी.एस.ई स्कूल है। 
  3. मेरे स्कूल में कक्षा एक से बारह तक पढ़ाई होती है।  
  4. मेरा स्कूल शहर के प्रसिद्ध विद्यालयों में से एक है। 
  5. मेरे स्कूल में सभी विद्यार्थी नीले रंग की पोशाक में आते हैं। 
  6. हमारे विद्यालय के स्थापना 2007 में हुयी थी। 
  7. हमारे स्कूल का समय सुबह 8 बजे से दोपहर 2 बजे तक है। 
  8. हमारे स्कूल की इमारत तीन मंजिल की है। 
  9. मेरे विद्यालय में कुल २२ कमरे है, सभी में स्मार्ट बोर्ड लगा है। 
  10. बच्चों के खेलने के लिए मैदान की व्यवस्था की गयी है।
  11. मेरे विद्यालय में प्रार्थना करने के लिए एक वन्दनाकाक्ष है। 
  12. विज्ञान के विद्यार्थियों के लिए प्रयोगशाला की व्यवस्था है।  
  13. मैदान के किनारे एक बड़ी कैंटीन है जहाँ खाने के व्यवस्था है।  
  14. हमारे स्कूल में कुल 30 अध्यापक और अध्यापिकाएं है। 
  15. सभी बच्चों को घर छोड़ने के लिए स्कूल में 2 बस है।
  16. स्कूल के प्रिंसिपल हम सभी का बहुल ख्याल रखते हैं।
  17. मुझे अपने विद्यालय पर गर्व है।   

10 lines on my school in english

  1. The name of my school is Ramkrishna inter college.
  2. It was established in the year 2007.
  3. It is an english medium C.B.S.E based school.
  4. It is also one of the best schools in our city.
  5. The dress code of my school is white shirt with blue pant or skirt.
  6. It is a three story building having 22 rooms.
  7. All the rooms have educomp smart board facility.
  8. It has a library as well as a laboratory for students.
  9. there are 22 teachers for different subjects.
  10. Our principal is also very strict as well as polite.
  11. I feel proud that i study in Ram krishna inter college. 

10 lines on Dussehra festival in hindi

10 lines on Dussehra festival in hindi

10 lines on Dussehra festival in hindi

10 lines on Dussehra festival in hindi
  1. दशहरा हिंदुओं के महत्वपूर्ण त्योहारों में से एक है।
  2. इसे 'विजयादशमी' के नाम से भी जाना जाता है। 
  3. इस दिन भगवान राम ने रावण का वध किया था। 
  4. अश्विन मास के शुक्ल पक्ष के दसवें दिन यह मनाया जाता है। 
  5. दशहरा बुराई के ऊपर अच्छाई की जीत का का पर्व है। 
  6. इस दिन जगह-जगह रामलीला का आयोजन किया जाता है। 
  7. दशहरा के दिन रावण और कुम्भकरण के पुतले जलाये जाते है। 
  8. इस दिन मेलों का आयोजन किया जाता है, बाजार सजे होते हैं। 
  9. दशहरे के दिन स्कूलों व सरकारी दफ्तरों की छुट्टी होती है। 
  10. यह त्यौहार भारत की साथ-साथ अन्य पड़ोसी देशों में भी मनाया जाता है। 
10 lines on Charminar in hindi

10 lines on Charminar in hindi

10 lines on Charminar in hindi

10 lines on Charminar in hindi
  1. चारमीनार भारत की एक विश्वप्रसिद्ध और ऐतिहासिक धरोहर है। 
  2. यह इमारत हैदराबाद के तेलांगना में मुसी नदी के किनारे स्थित है। 
  3. चार मीनार का अर्थ है चार मीनारों वाला। इसीलिए इसमें चार मीनारें हैं। 
  4. करीब 450 वर्ष पहले 1591 में चारमीनार का निर्माण कराया गया। 
  5. चारमीनार की ऊंचाई 49 मी है। इमारत के भीतर ही एक मस्जिद है।  
  6. सुलतान मोहम्मद कुली क़ुतुब शाह से इसका निर्माण करवाया। 
  7. चार मीनार संगमरमर, चूना पत्थर और ग्रेनाइट से बनी संरचना है। 
  8. चार मीनार, ताजमहल की भाँती ही एक वर्गाकार संरचना है। 
  9. इसकी दीवारों पर फूल-पत्तियों की खूबसूरत नक्काशी की गयी है। 
  10. यह भारत आने वाले सैलानियों के लिए आकर्षण का प्रमुख केंद्र है।