Tuesday, 7 March 2017

Dhaatu (Stem) धातु in hindi and sanskrit.

धातु इन हिंदी 

धातु- क्रिया के मूल रूप को धातु कहते हैं।  

जैसे - पढ़ , लिख , आ ,खा , जा , सो , हंस।  

'पढ़' धातु  से अनेक क्रिया रूप बनते हैं।धातु ही संस्कृत शब्दों के निर्माण के लिए मूल तत्त्व (कच्चा माल) है। जैसे -पढ़ा,पढ़ताहै ,पढ़ना,पढ़ाथा ,पढ़िए, गया  गाता है , गाईये आदि  । 
इनमें पढ़ एक ऐसा अंश है , जो सभी रूपों में मिल रहा है।  इस  समान रूप से मिलने वाले अंश को धातुयाक्रिया धातु कहते हैं। 

सामान्य क्रिया- क्रिया के मूल रूप अर्थात धातु के साथ 'ना' जोड़ने से क्रिया का सामान्य रूप बनता है।
जैसे- पढ़ + ना =पढ़ना
लिख + ना =लिखना
जा + ना =जाना
खा + ना =खाना।

धातु के भेद इस प्रकार हैं - 

1. सामान्य ( मूल ) धातु-  सामान्य , मूल या रूढ़ क्रिया धातुएं रूढ़ शब्द के रूप में प्रचलित हैं! यौगिक अथवा व्युत्पन्न न होनेके कारण ही इन्हें सामान्य या सरल धातुएं भी कहते हैं। 

जैसे - सुनना , खेलना , लिखना , जाना , खाना आदि। 

2. व्युत्पन्न धातु-  जो धातुएं किसी मूल धातु में प्रत्यय लगा कर अथवा मूल धातु को किसी अन्य प्रकार से बदलकर बनाई जाती हैं , उन्हें व्युत्पन्न धातुएं कहते हैं। 


जैसे -
मूल रूप      व्युत्पन्न धातु ( प्रेरणार्थक )              व्युत्पन्न ( अकर्मक)
1.  काटना              कटवाना                             कटना 
2.  खाना                 खिलाना                            खिलवाना                        
3.  खोलना             खुलवाना                            खुलना 
4 .  धोना                धुलवाना                             धुलना 

मूल धातुएं अकर्मक होती हैं , या सकर्मक ! मूल अकर्मक धातुओं से प्रेरणार्थक अथवा  सकर्मक धातुएं व्युत्पन्न होती हैं !


3.  नाम धातु-  संज्ञा , सर्वनाम और विशेषण शब्दों के पीछे प्रत्यय लगाकर जो क्रिया धातुएं बनती हैं , उन्हें नाम धातु क्रिया कहते हैं। 

जैसे : संज्ञा शब्दों से-लाज से लजाना,बात से बतियाना।  हिनहिन से हिनहिनाना,  -  विशेषण शब्दों से-  गर्म से गर्माना,मोटा से मुटाना। -  सर्वनाम से-    अपना सेअपनाना  आदि । 


4.  मिश्र धातु-  जिन संज्ञा , विशेषण और क्रिया विशेषण शब्दों के बाद  'करना'  यह होना 

जैसे क्रिया पदों के प्रयोग से जो नई क्रिया धातुएं बनती हैं , उन्हें मिश्र धातुएं कहते हैं।  
1.  होना या करना  - काम करना , काम होना। 
2.  देना-  धन देना , उधार देना। 
3.  खाना  -  मार खाना , हवा खाना। 
4.  मारना-  गोता मारना , डींग मारना। 
5.  लेना-  जान लेना , खा लेना। 
6.  जाना-  पी जाना , सो जाना। 
7.  आना-  याद आना , नजर आना। 

5-  अनुकरणात्मक धातु-  जो धातुएं किसी ध्वनि के अनुकरण पर बनाई जाती हैं , अनुकरणात्मक धातुएं कहते हैं। 

 जैसे - टनटन - टनटनाना , चटकना , पटकना , खटकना धातुएं भी अनुकरणात्मक धातुओं के अंतर्गत आती हैं। 

SHARE THIS

Author:

Etiam at libero iaculis, mollis justo non, blandit augue. Vestibulum sit amet sodales est, a lacinia ex. Suspendisse vel enim sagittis, volutpat sem eget, condimentum sem.

0 comments: