Sunday, 12 February 2017

मेरी टीचर My teacher poem in hindi

मेरी टीचर (Meri teacher poem)


सबसे प्यारी, मेरी टीचर
मुझको रोज पढ़ाती हैं।
संग हमारे खेलें-गाएँ,
हर पल वो मुस्कराती हैं।
मुझे बहुत अच्छी लगती हैं,
जब वो पाठ पढ़ाती हैं।
नई-नई वो बात बताती,
अच्छे-से समझाती हैं।
आपस में हमे नहीं झगड़ना,
सच्चे भारतवासी बनना।
सदा बड़ों का आदर करना,
हरदम यही सिखाती हैं।
सबसे प्यारी, मेरी टीचर,
मुझको रोज पढ़ाती हैं।


SHARE THIS

Author:

Etiam at libero iaculis, mollis justo non, blandit augue. Vestibulum sit amet sodales est, a lacinia ex. Suspendisse vel enim sagittis, volutpat sem eget, condimentum sem.

0 comments: